वैक्सीन पर बोले PM मोदी, हम आपदा के गहरे समुद्र से बाहर आए हैं, किनारे पर कश्ती नहीं डूबने देनी है

कोरोना के दोबारा बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को हिदायतें दी हैं. PM मोदी ने आठ राज्‍यों के मुख्यमंत्रियों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रतिनिधियों के साथ डिजिटल माध्यम से बैठक की. बैठक में गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे.

pm Modi Coronavirus Situation Meeting with states cm
pm Modi Coronavirus Situation Meeting with states cm

कोविड-19 संक्रमण से स्‍वस्‍थ होने वालों और इसके कारण होने वाली मौत के आंकड़ों का जिक्र करते हुए PM मोदी ने संक्रमण के आने वाले नए मामलों की दर को कम करने की आवश्‍यकता पर जोर दिया है. मीटिंग के बाद PM मोदी बोले- ‘अभी ये तय नहीं है कि कोरोना वैक्सीन की एक डोज देनी होगी या दो, उसकी कीमत क्या होगी ये भी तय नहीं है. अभी ऐसे किसी भी सवाल का जवाब हमारे पास नहीं हैं.

-----

उन्होंने कहा कि वैक्सीन के बारे में तो वैज्ञानिक ही बताएंगे, लेकिन हमें वैक्सीन आने के बाद की तैयारी अभी से करनी होगी. यानी उसका स्टोरेज और डिस्ट्रीब्यूशन. देश में अभी कोरोना की वैक्सीन आने में वक्त है. और जब तक वैक्सीन न आ जाए, हिदायतें ही काम आएंगी. हम आपदा के गहरे समुद्र से बाहर आए हैं. दुनिया का मानना था कि भारत महामारी से नहीं बच पाएगा लेकिन हम आपदा के गहरे समुद्र से निकलकर किनारे की ओर बढ़ रहे हैं.

PM मोदी ने कहा कि हमारे साथ पुरानी शायरी कहीं सटीक न हो जाए कि हमारी कश्ती भी वहां डूबी जहां पानी कम था. ये स्थिति हमें नहीं आने देना है. जिन देशों में कोरोना कम हो रहा था, वहां तेजी से संक्रमण फैल रहा है. हमारे देश के कई राज्यों में भी यही ट्रेंड है इसलिए हमें पहले से ज्यादा जागरूक होना होगा.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत कोरोना मृत्यु दर और रिकवरी रेट के मामले में दुनियाभर में बेहतर स्थिति में है. कोरोना टीकों का विकास अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर अंतिम चरण में है. कोरोना वैक्सीन से जुड़ा भारत का अभियान अपने हर देशवासी के लिए एक तरह से नेशनल कमिटमेंट की तरह है. देश में इतना बड़ा टीकाकरण अभियान स्मूद हो, सिस्टमैटिक और सही प्रकार से चलने वाला हो, ये केंद्र और राज्य सरकार सभी की जिम्मेदारी है. भारत जो भी वैक्सीन अपने नागरिकों को देगा, वो हर वैज्ञानिक कसौटी पर खरी होगी. भारत सरकार हर डेवलपमेंट पर बारीकी से नजर रख रही है.