ममता के थप्पड़ पर बोले मोदी, कहा- आपका थप्पड़ मेरे लिए आशीर्वाद है, खा लूंगा

इस लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी भी कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. मंगलवार को ममता बैनर्जी ने उन्हें थप्पड़ मारने की बात कही थी. उसका जवाब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गुरुवार को पश्चिम बंगाल के बांकुरा और पुरुलिया में जनसभाएं करके दिया है.

pm modi address five vijay sankalp rally in west bengal
pm modi address five vijay sankalp rally in west bengal

पीएम मोदी ने कहा कि दीदी कितनी परेशान हैं, उसका अंदाजा उनकी भाषा से लगाया जा सकता है. मैं तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को दीदी कहकर आदर देता हूं. लेकिन वो मुझे थप्पड़ मारना चाहती हैं तो मैं वो भी खा लूंगा. ये मेरे लिए आशीर्वाद होगा. मुझे तो गालियों की आदत है, लेकिन बौखलाहट में दीदी देश के संविधान का भी अपमान कर रही हैं. 23 मई के बाद दीदी का पतन शुरू होगा. गणतंत्र को गुंडातंत्र में बदलने वालों के दिन गिनती के बचे हैं.

नरेंद्र मोदी ने पहले ‘जय श्री राम’ नारे को लेकर मचे बवाल पर कहा कि दीदी को काली भक्तों, राम भक्तों के गुस्से की चिंता करनी चाहिए. दीदी पर्दे के पीछे से रहकर गुंडों की सरकार चला रही हैं. ममता इस माटी का रंग बदलना चाहती हैं. मुझे दीदी के गुस्से की चिंता नहीं है. दीदी को उन बेटियों के गुस्से की चिंता करनी चाहिए, जिनके साथ आए दिन यहां अत्याचार होते हैं. उन युवा साथियों के गुस्से की चिंता करनी चाहिए, जिनको परीक्षा पास करने के बावजूद नौकरी नहीं मिली. उन कर्मचारियों के गुस्से की चिंता करनी चाहिए, जिनको सैलरी नहीं मिलती, डीए नहीं मिल रहा.

ममता ने एक रैली में पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा था कि वो पहले हाफ पैंट पहनकर घूमते थे, अब लाखों-करोड़ों रुपये हैं. एक हाथ में गदा, एक में तलवार है. गदा से लोगों का सिर फोड़ेंगे और तलवार से गला काटेंगे. मेरे पास पैसा नहीं है, मुझे फर्क नहीं पड़ता. मैं राजनीति में अपना सिर नहीं झुकाऊंगी. जब मोदी ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस सिंडिकेट की पार्टी है. इसकी सरकार को सिंडिकेट चला रहे हैं. और जब बंगाल आते हैं तो मुझे टोलाबाज कहते हैं. इसी बात पर मन करता है कि उन्हें लोकतंत्र का जोरदार थप्पड़ मारूं.