अड़ियल प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने माफी क्यों मांगी पीछे की पूरी कहानी आसान भाषा में..

PRAGYA KA PANNA
PRAGYA KA PANNA

एक शासक की जिद के आगे 700 किसानों की मौत हो गई..700 किसानों की मौत के बाद शासक ने माफी से काम चला लिया..किसान 700 मौतों के बाद भी माफी से खुश हैं..इसीलिए कहती हूं मेरा देश महान है..वर्ना इतनी मौतों के बाद भगवान भी माफ नहीं करता है..समय आने पर गधे को भी बाप बनाना पड़ता है..मोदी जी (PM Modi) का पूरा माफी कांड मैं आपको सिर्फ इस एक लाइन की कहावत पर आपको समझाने वाली हूं..तो कुर्सी की पेटी की बांधकर अगले 4 मिनट तक मेरी बात सुनिए..जो नरेंद्र मोदी पिछले एक साल से किसानों के बीच नहीं गए..उल्टा उनको चिढ़ाते रहे..अपने नेताओं से गालियां दिलवाते रहे.

इस क्षमा के पीछे हार का डर है…मोदी जी (PM Modi) को समझ आ गया कि सरकार ही नहीं रहेगी तो कानून का क्या अचार डालेंगे..मोदी जी की पार्टी के भीतर ही मोदी जी का विरोध होने लगा था..सबसे पहले मोदी के तीन कनूनों के विरोध में खड़े हुए हिंदुत्व के फायरब्रांड नेता..वरुण गांधी..वरुण गांधी ने खुलकर मोदी के तीन किसाने कानूनों का विरोध किया..यहां तक कि मोदी जी के मंत्री अजय मिश्रा टेनी के खिलाफ कार्रवाइ करने के लिए भी आवाज उठा दी..बीजेपी के ही गवर्नर सतपाल मलिक ने बीजेपी के खिलाफ तलवार लेकर खड़े हो गए ये तक कह दिया अगर किसान कानून वापस नहीं हुआ तो बीजेपी की हार निश्चित हैं..

पश्चिमी यूपी की पूरी जाट बेल्ट में बीजेपी के नेता भगाए जा रहे थे…हिमाचल प्रदेश और राजस्थान में हुए उपचुनाव में बीजेपी की हालत खस्ता हो गई..लखीमपुर कांड में मोदी जी (PM Modi) के मंत्री अजय मिश्रा के बेटे ने किसानों पर गोलियां चलाई..इस बात की पुष्ठि हो गई..मंत्री का लड़का वहीं मौजूद था ये बात भी खुल गई..आंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी किसान आंदोनलन से मोदी सरकार और मोदी की बहुत बदनामी हुई..बंगाल में बीजेपी की हार में किसान फैक्टर भी था..यूपी में टिकैत ने बीजेपी को हराने का ऐलान कर दिया था..

वर्ना मोदी (PM Modi) और माफी ..राम कहो..इसीलिए मैंने शुरू में ही कहा था..ये पूरा माफी कांड एक कहावत से ही समझा जा सकता है..कि समय आने पर गधे को बाप बनाना पड़ता है..गधा कौन और बाप कौन ये आप खुद तय करिए…मोदी जी एंड कंपनी जिन राहुल गांधी को पप्पू कहती है उन्हीं राहुल गांधी ने उद्योग पतियों को फायदा पहुंचाने वाले महान किसान बिल के बारे में पहले ही कह दिया था कि मोदी जी को ये बिल वापल लेने होगा..

इस तरह से राहुल गांधी की भविष्यवाणी सच साबित हुई..मोदी जी (PM Modi) को माफी समेत बिल वापसी की घोषणा करनी पड़ी..भारत देश में कमिटमेंट वाली सरकार में माफी कांड जुड़ गया है..एक महान शासक माफी भी मांग सकता है..ये इतिहास में लिखा जाएगा..भक्त गड़ इसे काले दिन के तौर पर देखेंगे..भारत देश की 130 करोड़ की आबादी में 58 प्रतिशत किसान हैं..मोदी सरकार को लगा था कि साल के 6 हाजार रूपए से किसान आंदोलन की भरपाई हो जाएगी..लेकिन ऐसा हुआ नहीं..इसीलिए क्षमा वाला अध्याय मोदी जी को अपनी जर्नी में जोड़ना पड़ा..लेकिन मोदी जी के भक्तों को ये क्षमा बहुत खली है..इसीलिए बीजेपी नेताओं को लगता है..कि चुनाव के बाद ये बिल फिर से वापस आ जाएगा..मुझसे मेरे शो में ये बात एक बीजेपी नेता ने कही..

भक्तों में मायूसी है..मोदी जी वाचक से क्षमा याचक बन गए हैं..ये सब कुछ हुआ है सिर्फ और सिर्फ चुनाव चुनाव के लिए..2022 में चुनाव का परिणाम बताएगा कि किसान कानून का भविष्य में क्या होगा..

Disclamer- उपर्योक्त लेख लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार द्वारा लिखा गया है. लेख में सुचनाओं के साथ उनके निजी विचारों का भी मिश्रण है. सूचना वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गई है. जिसको ज्यों का त्यों प्रस्तुत किया गया है. लेक में विचार और विचारधारा लेखक की अपनी है. लेख का मक्सद किसी व्यक्ति धर्म जाति संप्रदाय या दल को ठेस पहुंचाने का नहीं है. लेख में प्रस्तुत राय और नजरिया लेखक का अपना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *