अब महंगाई पर मुंह से थूक नहीं निकलता…डीजल 100 के पार : संपादकीय व्यंग्य

Pragya Ka Panna Editorial
Pragya Ka Panna Editorial

डीजल 100 रूपए के पार पहुंच गया है..पेट्रोल नहीं डीजल..हां…डीजल..और बेशर्मी देख रहे हैं आप..हिंदुस्तान के पेट्रोलियम मंत्री कह रहे हैं कि सरकार की आमदनी कम है इसलिए अभी तेल के दाम नहीं घटा सकते..भईया तुम लोग अपनी नाकामियों का गट्ठार जनता के सिर पर काहे लाद रहे हो..सरकार की आमदनी कम है तो लोगों के घरों में डकैती डाल दोगे क्या..महंगाई के खिलाफ ही आपने सरकार बनाई थी ना…बनाई थी ना..आप लोग बड़ी बड़ी डींगें हांकते थे..कि मनमोहन सिंह से महंगाई कम नहीं हो रही..आपके महिला पुरुष सारे नेता सड़कों पर सिलेंडर लेकर घूमते थे..अब कह रहे हो..सरकार की आमदनी कम है इसलिए तेल के दाम नहीं कम हो सकते..खाने वाले तेल का उपयोगी कुछ चाटुकार नेताओं और मंत्रियों को लगाने में करने लगे हैं..तो वो महंगा है..इसलिए उसके बढ़े हुए दाम समझ में आते हैं..लेकिन गाड़ी में डालने वाला तेल क्यों महंगा होता जा रहा है साहेब..कहां तो रामदेव तो 35 रूपए प्रति लीटर में बिकवाने वाले थे..कहां तो डीजल भी..100 के पार पहुंच गया है..

अरे भईया सरकार की आमदनी कम है तो क्या कट्टा सटाकर लूटना शुरू कर दोगे..रोज रोज पैसे क्यों बढ़ा रहे हो..सरकार की आमदनी कम है तो सीधा आम आदमी की किडनी निकालकर बेच दो..सरकार की आमदनी सेंट्रल विस्टा बनवाते वक्त कम नहीं हुई..सरकार की आमदनी रैलियां करने

डिजिटल रैलियां करने में तो कभी कम नहीं होती..सरकारी महंगाई में आग आम आदमी की जरूरत की चीजों में ही लग जाती है..जनता के खाने पीने और चलने की चीजों से ही सरकारी खजाना भर लोगे क्या..पहले तो महंगाई पर बड़ा ज्ञान झाड़ते थे..अब महंगाई पर किसी का मुंह नहीं खुलता..इनको पहचान लीजिए ये हमारे प्रधानमंत्री हैं..पिछले वाले प्रधानमंत्री को ज्ञान देते थे..अब मंहगाई पर नहीं बोलते..

खैर प्रधानमंत्री बहुत पॉजिटिव हैं किसी निगेटिव चीज पर नहीं बोलते..कोरोना से जब तक लोग मर रहे थे..तब तक बोलने नहीं आए..40-45 दिन बाद जब लोग मरना कम हुए तो फौरन बताने आए कि अगर वो नहीं होते तो जगत नहीं चलता..पेट्रोल पर आपकी सरकार 1सौ 68 फीसदी टैक्स वसूल रही है.. 32 रूपए के पेट्रोल पर 54 रूपए टैक्स है..43 रूपए डीजल पर टैक्स लेते हैं..यानी जितने का माल खरीदकर लाते हैं उससे ज्यादा माल अपने ही देश के लोगों को लूटकर बनाते हैं..सीधी बात कहती हूं..बुरा लगे तो लगे..महंगाई पर बड़ी बड़ी डींगे हांकने वाले नेताओं ने मुंह से अब थूक नहीं निकलता..अब गर्व से बताते हैं..सरकार का खजाना खाली है इसलिए तेल के दाम कम नहीं कर सकते..

अरे पिछला वाला प्रधानमंत्री गूंगा होने के बावजूद कम से कम कहता तो था कि 100 दिन में महंगाई कम कर देंगे.ये वाले तो बहुत बोलते हैं..लेकिन एक बार भी नहीं करते कि महंगाई ज्यादा हो गई है जल्दी ही महंगाई कम कर देंगे..दोस्तों मुझे ट्विटर पर फॉलो करना बिल्कुल मत भूलिए..@pragyalive नाम से खोजकर फॉलो करिए..खोज ना पा रहे हों..तो लिंक यूट्यूब के डिस्क्रिप्शन में है..आज के लिए इतना ही चलते हैं राम राम दुआ सलाम..जय हिंद..

सवाल- भारत का पेट्रोलियम मंत्री कौन है ? Question- Who is the Petroleum Minister of India?

उत्तर- भारत का पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान हैं. Answer- Dharmendra Pradhan is the Petroleum Minister of India.

सवाल- क्या बीजीपी सरकार ने भारत में महंगाई नियंत्रित की है ? Question- Has the BGP government controlled inflation in India?

जवाब- भारत में बीजेपी सरकार बनने के बाद महंगाई कम नहीं हुई बल्कि और तेजी से बढ़ी है. Answer- After the formation of BJP government in India, inflation has not decreased but has increased rapidly

सवाल- भारत में पेट्रोल डीजल के दाम क्या हैं ? Question- What is the price of petrol diesel in India?

जवाब- भारत के कई राज्यों में पेट्रोल के दाम 100 के पार हैं कई में 100 के आसपास हैं..डीजल के दाम भी 100 रूपए प्रति लीटर के ऊपर जा चुके हैं. ये महंगाई का चरम हैAnswer- In many states of India, the price of petrol is beyond 100, in many it is around 100. Diesel prices have also gone above Rs 100 per liter. This is the peak of inflation

डिस्क्लेमर- लेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. भाषा में व्यंग्य है. लेखक का मक्सद किसी पार्टी किसी व्यक्ति किसी सरकार किसी धर्म जाति किसी मानव किसी जीव या फिर किसी संवैधानिक पद का अपमान करना या उनके सम्मान को छति पहुंचाने का नहीं है.. इसलिए व्य्ग्य को व्यंग्य की तरह लें..लेख में सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. भाषा में स्थानीय या यूपी की रीजनल भाषा को सरल करके प्रस्तुत किया गया है. समझाने के लिए बात घुमाकर कही गई है.

20 thoughts on “अब महंगाई पर मुंह से थूक नहीं निकलता…डीजल 100 के पार : संपादकीय व्यंग्य

  • June 12, 2021 at 7:41 pm
    Permalink

    मै जूनैद ज़िला देवरिया का रहने वाला हुँ अभी मुंबई में हुँ
    आपके कटिंग चाय हो या उल्टा चश्मा या फिर Pragya का पन्ना हर video को सुनता हूँ आपकी हर खबर में सच्चाई होती है मै आशा करता हुँ के आप ऐसे ही पत्रकारिता करते रहें हमेशा सच दुनिया को दिखायें।

    Reply
    • June 12, 2021 at 7:59 pm
      Permalink

      जरूर जुनैद जी

      Reply
      • June 13, 2021 at 9:03 am
        Permalink

        Apke jese patrakarita koi nahi kr sakta mam really ap sabse hat k hai, me apka har ek news dekta hu mam pehle to me apko nhi janta tha na hi apke news dekhta tha, apka ek video bhot viral hua tha jo sarkar k khilaf awaz uthaye wo video h jisme apne sabke bolte band kr diye the. Really ap bhot great ho mam i like your attitude.

        Reply
        • June 14, 2021 at 9:54 pm
          Permalink

          आपने समय निकालकर कमेट किया है..हम आपके समय और सार्थक विचारों की सराहना करते हैं..

          Reply
    • June 13, 2021 at 2:47 pm
      Permalink

      महँगाई तो अवसरवादी राजनीति का एक जुमला भर था। सत्ता में आने के लिए जो मुद्दे भुनाए जा सकते थे, खूब भुनाए। इसका यह मतलब कतई नहीं कि सत्ता में आने के बाद उन मुद्दों को याद रखा जाएगा। हालांकि अब सत्ता में बने रहने के लिए धार्मिक ध्रुवीकरण के सामने यह मुद्दा महत्वहीन हो चुका है।

      Reply
  • June 12, 2021 at 9:28 pm
    Permalink

    aap modiji se itna khisiyai kyu rhti hai..??
    .aap kuch nai topic ko cover krke apna mun shaaat kriye….aapko lambi umar tk hum patrakarita me dekhna chahte hai

    Reply
    • June 14, 2021 at 9:57 pm
      Permalink

      हम अपना काम करते हैं..सर..मोदी जी हमारे प्रधानमंत्री हैं हमारे बड़े हैं बस उनतक आप लोगों की बातें पहुंचाते हैं..आपने समय निकालकर कमेट किया है..हम आपके समय और सार्थक विचारों की सराहना करते हैं..

      Reply
    • June 15, 2021 at 9:04 pm
      Permalink

      mem aapse ek bar milna cahta ho aapki har news jarur dekhta ho jab gujarat me tha
      ya aaj lko aa gya ho fer bhi bas cahta ho aapko live dekhne ko mil jaye aapka news sunne ko mil jaye usme hme bhi kuch bolne ko mil jaye….????

      Reply
  • June 12, 2021 at 9:49 pm
    Permalink

    पेट्रोल 105 रन बना कर खेल रहे हैं तो दुसरी ओर से डीजल भी शतक लगाने से मात्र 8 रन दुर है।और इसी के साथ सरसों तेल ने दोहरा शतक मारते हुए 200 रन पुरे किए😄
    वही 2014 के पहेले तक मात्र 65 रन पर खेलने वाला सोयाबीन तेल 170 रन बना कर दोहरे शतक की तरफ तेजी से बढ़ रहा है💐
    पेट्रोल, सरसों तेल और सोयाबीन तेल ने अपने कैरियर का पहला शतक लगा कर अपनी इस पारी को यादगार पारी बताया और इसका श्रेय मोदी को दिया
    😄🏏
    अंधभक्तों में खुशी की लहर

    Reply
    • June 14, 2021 at 9:56 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर कमेट किया है..हम आपके समय और सार्थक विचारों की सराहना करते हैं..

      Reply
  • June 12, 2021 at 10:04 pm
    Permalink

    Mam! Aapki site pe ssl certificate nhi hai, jo security ke liye jaruri hota hai aapki site ki url http: se shuru hoti hai or ssl lagne ke baad https: se shuru hogi this ‘s’ included stands for security and will be added once you put ssl certificate on your site. Ye aap apne hosting provider se contact karke le sakte ho.

    Reply
    • June 14, 2021 at 9:56 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर कमेट किया है..हम आपके समय और सार्थक विचारों की सराहना करते हैं..

      Reply
  • June 12, 2021 at 10:29 pm
    Permalink

    सरकार एक ड्रेगन का काम करने लगी है जब भी सवाल जवाब ज्यदा होते तो महगाई की आग लगा कर अलग हो जाते उस पर आग बुझने वाले न्यूज चैनल सफाई देंगे । जनता के बीच जायेंगे नही कभी । आपकी कटिंग चाय में ही जनता सवांद देखा है । बाकि चैनलो पर तो अब रजिस्टर्ड लोग बुला लिए जाते है प्रवक्ताओं के तौर पर । मंगर तंज की बात ये है की अब नए प्रवक्ताओं की भर्ती ही निकल दे सरकार तो कम से कम कुछ बेरोज़गारी तो कम होगी 😂😂😂

    Reply
  • June 13, 2021 at 2:46 pm
    Permalink

    महँगाई तो अवसरवादी राजनीति का एक जुमला भर था। सत्ता में आने के लिए जो मुद्दे भुनाए जा सकते थे, खूब भुनाए। इसका यह मतलब कतई नहीं कि सत्ता में आने के बाद उन मुद्दों को याद रखा जाएगा। हालांकि अब सत्ता में बने रहने के लिए धार्मिक ध्रुवीकरण के सामने यह मुद्दा महत्वहीन हो चुका है।

    Reply
  • June 13, 2021 at 4:25 pm
    Permalink

    सरकार की गलत नीतियों को चुनौती देना एक सच्चे पत्रकार का काम है, आप ये काम बहुत हिम्मत और ईमानदारी से कर रहे हो। आपको और आपकी पूरी टीम को शुभ कामनाएं। और उम्मीद रहेगी के सरकार बदलने पर भी आपकी पत्रकारिता पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

    Reply
    • June 14, 2021 at 9:54 pm
      Permalink

      हमारा काम ही सरकार से सवाल करना..घोड़ा घास से दोस्ती कर लेगा तो खाएगा क्या..हरमनदीप जी

      Reply
  • June 13, 2021 at 6:30 pm
    Permalink

    मैं मोहम्मद मुक्तदीर आप सच्ची बातें जनता के बीच लाते हैं बहन आप को तहे दिल से सलाम, मैं बिहार का रहने वाला हूँ
    आप का cutting चाय सौक से देखता हूँ
    हमलोगों की सुभ कामना आप के साथ है

    Reply
    • June 14, 2021 at 9:51 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर कमेट किया है..हम आपके समय और सार्थक विचारों की सराहना करते हैं..

      Reply
  • June 14, 2021 at 12:12 pm
    Permalink

    ये सरकार चाटुकारिता के शिवाय कुछ नहीं कर रही है !

    Reply
  • June 14, 2021 at 12:39 pm
    Permalink

    कभी इन मंत्री और नेता सबो का सैलरी और पेन्सन के बारे में भी बीडीओ बनाइये और बताइये । तभी तो जनता को भी पता चलेगा कि नेता गिरी में कितना इनकम है । और सब सब्सिडी पब्लिक ही छोड़े, सभी टेक्स जनता ही दे और तो ऐ नेता मंत्री क्या क्या देते है देश को ।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *