UP में मरीजों को डिस्चार्ज करने का नया प्रोटोकॉल, होम आइसोलेशन में भेजे जाएंगे ऐसे मरीज, पढ़ें-

उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बना रहा नया कोविड प्रोटोकाल. अब कोविड के लक्षण खत्म होते ही कर सकेंगे मरीजों को डिस्चार्ज. होंम आईसोलेशन में भेजे जाएंगे मरीज. सप्ताहभर के अंदर इसे जारी कर दिया जाएगा.

Patients Will Be Discharged Sent To Home Isolation

मरीजों को होम आइसोलेशन में भेजने की तैयारी

मरीजों को बेड उपलब्ध कराने के लिए लगातार नई रणनीति अपनाई जा रही है. सरकारी अस्पतालों  में बेड बढ़ाने, निजी अस्पतालों को टेकओवर करने बाद अब लक्षण खत्म होते ही मरीजों को होम आइसोलेशन में भेजने की तैयारी है. इससे कम मैनपावर में ज्यादा मरीजों को इलाज मिल सकेगा. लखनऊ के विभिन्न चिकित्सा संस्थानों में 2500 गंभीर मरीज भर्ती हैं। अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों को डिस्चार्ज करने लिए प्रोटोकॉल बना है.

-----

इन मरीजों को किया जायेगा डिस्चार्ज

-----

जो लोग कई गंभीर बीमारियों की चपेट में हैं उन्हें अस्पताल में भर्ती कर जांच किया जाएगा. वही आक्सीजन लेवल सहित अन्य मानक में सुधार मिलने पर दूसरे दिन ही मरीज को डिस्चार्ज किया जा सकेगा. इसी के साथ जिन लोगों को लक्षण है उनको भर्ती करने के बाद तीन से चार दिन में लक्षण खत्म हो जाता है तो उन्हें भी डिस्चार्ज कर दिया जाएगा.

पहले ये था प्रोटोकॉल

बतादें कि अबतक अस्पताल में भर्ती बिना कोविड लक्षण वाले मरीजो को 7 से 10 दिन बाद डिस्चार्ज किया जाता है. कोविड से संक्रमित मरीजो को लक्षण खत्म होने ने 7 दिन बाद और आरटीपीसीआर रिपोर्ट नेगेटिव आनें के बाद डिस्चार्ज किया जाता रहा है. नए प्रोटोकॉल में मरीजों के लिए होम आइसोलेशन 14 दिन से बढ़ाकर 21 दिनों के लिये किया जा सकता है.

केजीएमयू कोविड हॉस्पिटल के चिकित्सा अधीक्षक ने बताये फायदे

केजीएमयू कोविड हॉस्पिटल के चिकित्सा अधीक्षक डा. जेडी रावत ने बताया कि हम लोगों ने ठीक होने के बाद बिना लक्षण वाले मरीजों को कम समय में डिस्चार्ज करना शुरू कर दिया है. इससे ज्यादा से ज्यादा मरीजों को भर्ती करने में सफलता मिल रही है. जो मरीज गंभीर हैं, उन्हें जरूरत के हिसाब से रोका जा रहा है. UP में मंगलवार को 18021 नए मरीज मिले हैं. इसमें अकेले लखनऊ में 5382 मरीज मिले है. एक्टिव केस की संख्या 95980 हो गई है.

-----