कोविसेल्फ से घर बैठे करें कोरोना जांच, जानें- कितने की मिलेगी किट ? कैसे काम करती है ?

कोरोना की जाँच कराने के लिए लोगों को लाइन में लगना पड़ता है और ये शिकायत भी आती है कि जाँच में देरी हो रही है या रिपोर्ट देर में आ रही है. लेकिन अगर ऐसा हो जाए की आप घर बैठे ही जाँच कर ले तो कैसा रहेगा ? जी हाँ ऐसा ही है. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने इस पर बड़ा फैसला लिया है.

कोविसेल्फ’ किट को मिली मंजूरी

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने घर में ही कोविड जांच के लिए ‘कोविसेल्फ’ ‘CoviSelf’ किट को मंजूरी दे दी है. इस जांच किट के जरिये अब कोई भी घर बैठे ही कोरोना संक्रमण की जांच कर सकता है. ICMR ने घर में कोरोना का टेस्ट करने के लिए एक रैपिड एंटीजन टेस्ट किट Rapid Antigen Test kit को मंजूरी दे दी. ये टेस्टिंग किट पुणे की मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशन कंपनी बना रही है.

कितने की मिलेगी कोविसेल्फ ‘CoviSelf’ किट ?

कोविसेल्फ ‘CoviSelf’ नाम की ये टेस्ट किट एक रैपिड एंटीजेन टेस्ट Rapid Antigen Test kit (आरएटी) किट है. ICMR ने कोविसेल्फ को लेकर एक एडवाईजरी भी जारी की है. इसमें किट को इस्तेमाल करने से लेकर तमाम दिशानिर्देश मौजूद हैं, जिसे आपको जानना बेहद जरूरी भी है. इस कोविसेल्फ किट की कीमत महज 250 रुपये रखी गई है. इसे मंगा कर आप घर पर ही कोविड टेस्ट कर सकते हैं.

-----

इन लोगों को इस्तेमाल करना चाहिए ?

इस किट के जरिए लोग सिर्फ 2 मिनट में खुद टेस्टिंग कर 15 मिनट में रिजल्ट प्राप्त कर सकते हैं. इस सेल्फ टेस्ट किट का रिजल्ट पॉजिटिव आने पर आरटी-पीसीआर जांच कराने की जरूरत नहीं है. कोविसेल्फ ‘CoviSelf’ किट का इस्तेमाल उन्हीं लोगों को करना चाहिए, जिनमें कोविड-19 के लक्षण हैं या फिर वे किसी लैब द्वारा कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आए हों.

-----

मेडिकल स्टोर पर मिलेगी कोविसेल्फ किट

किट में दी गई गाइडलाइंस को ध्यानपूर्वक और आवश्यक रूप से पढ़ें, उसके बाद ही जांच करें. COVISELF नाम से ये टेस्ट किट मार्केट में लांच होने जा रही है. अगले हफ्ते तक कोविसेल्फ किट देश की 7 लाख से ज्यादा दवा दुकानों पर मिलने लगेगा. इसके अलावा ये किट कंपनी के आनलाइन फार्मेसी पार्टनर के जरिए भी वितरित की जाएगी.

पॉजिटिव पाए जाने पर क्या करें ?

अगर कोविसेल्फ टेस्ट किट की जांच में लोग पॉजिटिव पाए जाते हैं, तो उन्हें वास्तव में कोरोना पॉजिटिव ही समझा जाए. ऐसे में उन्हें दोबारा टेस्ट करवाने की जरूरत नहीं है. पॉजिटिव आने वाले सभी लोगों को होम आइसोलेशन में रहने और आईसीएमआर एवं स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइंस के तहत जारी कोरोना नियमों का पालन करने की सलाह दी जाती है.

कैसे इस्तेमाल करें कोवीसेल्फ ‘CoviSelf’ किट ?

इस किट को इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले मायलैब कोवीसेल्फ ऐप गूगल प्ले से डाउनलोड करना है. फिर ऐप खोलने के बाद इसमें एक फॉर्म आएगा और उसे भरने के बाद ये टेस्टिंग के लिए तैयार हो जाएगा. अब टेस्टिंग किट का प्रयोग करने से पहले हाथ अच्छे से धोएं और सैनिटाइज करें फिर किट से निकले उपकरणों को साफ जगह पर रखें.

सबसे पहले आपको बफर ट्यूब को खोलना है. फिर किट के साथ मिलने वाली नेजल स्वॉब स्टिक को संबंधित व्यक्ति के नाक में दो से तीन सेंटीमीटर अंदर तक डाल कर अच्छी तरह से घुमा कर नमूने को कलेक्ट करना है. इसके बाद नेजल सैम्पल को बफर ट्यूब में डालना है और दबाते हुए उसे 10 बार हिलाना है और फिर नेजल स्वॉब स्टिक को तोड़ देना है. इसके बाद ट्यूब को सील कर देना है.

अब टेस्टिंग कैसेट पर दो बूंद डालनी है. इसके बाद टेस्ट की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. सबसे पहले C लाइन आएगी. जो ये बताता है कि हमारा टेस्ट सही ढंग से हुआ है. इसके बाद T लाइन आती है. अगर ये दोनों लाइन आती हैं तो ये माना जाता है कि संबंधित व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव है. और 15 मिनट तक अगर T लाइन नहीं आती है तो हम ये मान कर चलें कि संबंधित व्यक्ति निगेटिव है.

-----

इतना होने के बाद टेस्टिंग किट के साथ इसकी इमेज क्लिक कर उसे ICMR की वेबसाइट पर अपलोड करना है और उनकी ओर से एक रिपोर्ट भी मिल जाएगी. हालांकि इस टेस्टिंग किट के साथ एक इंस्ट्रक्शन मैनुअल भी दिया जा रहा है, जिससे आसानी से इसके इस्तेमाल के तरीके को समझा जा सकता है.

लक्षण होने के बाद भी निगेटिव आने पर क्या करें ?

वहीं ऐसे लोग भी होते हैं जिनमें कोरोना के लक्षण हैं और वे कोविशसेल्फ ‘CoviSelf’ किट की जांच में निगेटिव आए हैं, उन्हें आरटी-पीसीआर कराना चाहिए. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि वायरस के कम लोड के कारण रैपिड एंटीजेन टेस्टिंग के जरिए कुछ मामलों में इसकी पुष्टि नहीं हो पाती है.

2 thoughts on “कोविसेल्फ से घर बैठे करें कोरोना जांच, जानें- कितने की मिलेगी किट ? कैसे काम करती है ?

  • June 5, 2021 at 11:26 am
    Permalink

    Di,civil hospitals mein logo ko corona positive (even they are not affected) bta kr ,unki deadbodies bechne k liye dr. Ko kaha ja rha hai .app iss pr koi news or legal verification k baare mein janti hai?aur isi vja se log hospital nhi jaana chahte ,nahi vaccine krvaana chahte hai(plz keep private this comment).

    Reply
    • June 5, 2021 at 6:17 pm
      Permalink

      noted आपने समय निकालकर अपने विचार रखे..इसके लिए धन्यवाद..हम चाहते हैं आप हमारे नियमित पाठक बने..हमारे आर्टिकल पढ़ें और शेयर करें.

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *