सोनिया के क़रीबी और कांग्रेस के दिग्‍गज नेता ‘टॉम वडक्कन’ बीजेपी में शामिल, खोले कई राज़-

सियासत की परीक्षा में रोज़ाना एक न एक ट्विस्ट देखने को मिल रहा है. सभी नेता, मंत्री और प्रवक्ता लोकसभा का टिकट पाने के लिए एक दूसरे दल का दरवाज़ा खटखटाने में लगे हुए हैं. इसी बीच कांग्रेस नेता और प्रवक्ता टॉम वडक्कन ने भी बीजेपी के दरवाजे पर दस्तक़ दे दी है.

ongress leader tom vadakkan joins bjp
ongress leader tom vadakkan joins bjp

यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी के बेहद करीबी बताए जाने वाले कांग्रेस नेता और प्रवक्ता टॉम वडक्कन आज गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं. लोकसभा चुनाव को देखते हुए इसे कांग्रेस के लिए बड़ा झटका बताया जा रहा है. टॉम वडक्कन के बीजेपी में शामिल होने के बाद अब लोगों का मानना है की बीजेपी से सोनिया गांधी के घर में सेंध लगा दी है.

-----

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने टॉम वडक्कन को बीजेपी की सदस्य्ता ग्रहण करवाई. साथ ही ये भी ख़बर आ रही है कि टॉम वडक्कन के बाद कुछ और कांग्रेसी नेता भी हाथ का साथ छोड़ कर छोड़ कमल पर विराज़मान हो सकते हैं. ऐसे में कांग्रेस की मुश्किलें और बढ़ सकती है.

अब आप ये जरूर जानना चाहेंगे की आखिर टॉम वडक्‍कन जैसे दिग्‍गज नेता ने कांग्रेस पार्टी छोड़ने का फैसला लिया ही क्‍यों ? इसका जवाब वडक्‍कन ने ही खुद जनता को दिया, बीजेपी में शामिल होने के बाद उन्होंने कहा, ‘पाकिस्‍तानी आंतकवादियों ने जब पुलवामा में हमारे देश के वीर जवानों पर हमला किया, तब कांग्रेस पार्टी ने जैसे व्‍यवहार किया, वो मुझे बिल्‍कुल भी पसंद नहीं आया. कांग्रेस के बयान ने मुझे बेहद दुखी किया है. अगर इतने बड़े आतंकी हमले के समय कोई राजनीतिक पार्टी देश के विरुद्ध बयान देती है, तो मेरे पास पार्टी छोड़ने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा था.

वडक्कन ने कहा कि मैंने अपने राजनीति जीवन के कई साल कांग्रेस में बिताये हैं, लेकिन वहां सिर्फ वंशवाद की राजनीति ही हावी है. बतादें वडक्कन रोमन कैथलिक समुदाय से आते हैं और केरल में एक बड़े कांग्रेस नेता भी रहे हैं. कांग्रेस के लिए ये वाकई बुरी ख़बर है. कांग्रेस जैसी राष्ट्रीय पार्टी दिन पर दिन कमज़ोर होती जा रही है. ऐसे में कांग्रेस को अपने मजबूत और दिग्गज नेताओं को साधने की ज़रूरत है.