निर्भया के दोषियों की फांसी टली, निर्भया की मां ने दोषियों के वकील पर लगाए आरोप

निर्भया के दोषियों की फांसी दिन पर दिन टलती ही जा रही है. दोषियों की फांसी टलने से निर्भया की मां एक बार फिर मायूस दिखीं. अब कोर्ट फिर से तीसरी बार तारीख जारी करेगा.

nirbhaya mother says lawyer of convicts challenged me
nirbhaya mother says lawyer of convicts challenged me

निर्भया के दोषियों के वकील ने एक फरवरी के लिए जारी डेथ वारंट पर रोक लगाने के लिए पटियाला हाउस अदालत में याचिका दायर की थी. जिसमें कहा गया था कि फांसी पर अनिश्चितकाल के लिए रोक लगा देनी चाहिए. क्योंकि अभी दोषियों के लिए कानूनी उपाय बाकी हैं. विनय की दया याचिका राष्ट्रपति के पास विचाराधीन है. जबकि अक्षय और पवन के कानूनी उपाय भी बाकी हैं. अक्षय की दया याचिका बाकी है. पवन ने अभी तक उपचारात्मक याचिका दायर नहीं की है.

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने दोषियों के डेथ वारंट पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है. अदालत ने फांसी की कोई तारीख निश्चित नहीं की है. गुरुवार को अदालत ने तिहाड़ जेल को नोटिस जारी कर शुक्रवार सुबह अपना पक्ष पेश करने के लिए कहा था. सुनवाई के दौरान मुकेश की वकील वृंदा ग्रोवर के पेश होने पर निर्भया के माता पिता के वकील ने आपत्ति जताई.

फांसी टलने के बाद निर्भया की मां रोते हुए बोलीं कि 7 साल पहले उनकी बेटी के साथ अपराध हुआ और सरकार बार-बार दोषियों के सामने झुक रही है. चारों दोषियों के वकील एपी सिंह ने मुझे कोर्ट में चुनौती देते हुए कहा है कि ये फांसी टलती रहेगी. कोर्ट, दिल्ली और केंद्र सरकार सुन ले कि वकील ने ये बात कही है. मैं सुबह 10 बजे से कोर्ट में आकर बैठी हूं. अगर फांसी ही टालना थी, तो दिनभर क्यों बैठाकर रखा. मैं लड़ूंगी सरकार को उन्हें फांसी देनी होगी, नहीं तो पूरे समाज को सुप्रीम कोर्ट से लेकर लोअर कोर्ट तक को सरेंडर करना होगा कि फांसी की सजा सिर्फ गुमराह करने के लिए दी गई थी.

16 दिसंबर 2012 को दिल्ली में निर्भया के साथ दुष्कर्म हुआ था. 23 साल की पैरामेडिकल छात्रा के साथ चलती बस में गैंगरेप हुआ था और आरोपियों ने उसके साथ बहुत ही दर्दनाक और शर्मनाक सुलूक किया था. छात्रा ने 29 दिसंबर 2012 को दम तोड़ दिया था. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में मुकेश, पवन, विनय और अक्षय को फांसी की सजा सुनाई थी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *