कहीं आपका भी चालान तो नहीं कट गया और आपको पता ही न हो ? ऐसे चेक करें ऑनलाइन चालान

अबतक तो हर किसी को पता होगा की अब ट्रैफिक नियम तोड़े तो उससे बच नहीं सकते हैं. जुर्माना तो देना ही पड़ेगा फिर चाहे आप जैसे भी दें. जी हाँ, राजधानी दिल्ली समेत कई राज्यों में संशोधित मोटर वाहन विधेयक लागू हो चुका है.

new motor vehicle act check e-challan online
new motor vehicle act check e-challan online

1 सितम्बर के बाद से भारी जुर्माने से बचने के लिए कोई ट्रैफिक पुलिसवालों के सामने हाथ जोड़कर छोड़ देने की गुजारिश कर रहा है तो कोई कान पकड़ कर माफी मांगते हुए वादा कर रहा है कि आगे से कभी रूल नहीं तोड़ेंगे. नए नियमों में बदलाव के बाद दिल्ली पुलिस ने 2500 पुलिस के जवानों को सड़कों पर तैनात किया था और शाम 7 बजे तक दिल्ली भर में 3900 चालान काटे गए.

ट्रैफिक नियम तोड़ना कितना भारी पड़ेगा, इसका एक उदाहरण गुरुग्राम में देखने को मिला. दरअसल दिल्ली निवासी द‍िनेश मदान हर‍ियाणा की गुरुग्राम कोर्ट में काम करते हैं. सोमवार को वो अपनी स्कूटी लेकर निकले तो ट्रैफिक पुल‍िस ने चेकिंग के लिए उन्हें रोका. पहले तो उनके पास हेलमेट नहीं था. फिर पुलिस ने द‍िनेश से जब गाड़ी का रज‍िस्ट्रेशन, लाइसेंस, एयर पॉल्यूशन एनओसी, हेलमेट और थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के बारे में पूछा तो उनके पास कागज के नाम पर कुछ भी नहीं था.

बस फिर क्या था ट्रैफिक पुलिस ने उनका 23 हजार रुपये का चालान काट दिया. क्युकी नए ट्रैफिक नियम के अनुसार ब‍िना हेलमेट के एक हजार रुपये, ब‍िना ड्राइव‍िंग लाइसेंस के 5 हजार रुपये, ब‍िना इंश्योरेंस के 2 हजार रुपये, ब‍िना रज‍िस्ट्रेशन के 5 हजार और एयर पॉल्यूशन एनओसी न होने पर 10 हजार रुपये का चालान कटा. इन सारे पैसों को जोड़ने पर बिल बना कुल 23 हजार रुपये का, जो अब दिनेश को देने होंगे.

बतादें कि मोटर व्हीकल एक्ट में हुए संशोधन के बाद अब ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर 10 गुना तक अधिक जुर्माना भरना पड़ेगा. राजस्थान और बंगाल को छोड़कर पूरे भारत में मोटर व्हीकल संशोधन कानून लागू हो गया है.

लेकिन अगर आप सोचते हैं कि एक नागरिक की तरह आप ट्रैफिक नियमों का पूरी तरह से पालन करते हैं, क्योंकि किसी ट्रैफिक पुलिस वाले ने आपको कभी रोका नहीं है, तो आप गलत भी हो सकते हैं. जी हाँ अब किसी को रोकने की जरुरत भी नहीं है. इंडिया डिजिटल हो रहा है. अब सब ऑनलाइन हो रहा है. उसी तरह चालान भी हैं. आपका चालान भी हो जायेगा और आपको पता भी नहीं चलेगा. फिर जब आप घर पहुंचेंगे तब आपके पास एक मैसेज आयेगा कि आपको इतने रुपये का चालान भरना है.

अगर आपने जाने-अनजाने में कोई ट्रैफिक नियम तोड़ा है, तो आप उसका पता भी लगा सकते हैं. हाल ही में कई लोगों को एसएमएस के जरिये पता चला है कि उन्होंने ट्रैफिक नियमों को तोड़ा है. उस एसएमएस में उन्हें एक लिंक भी भेजा गया है, जहां वे चालान के स्टेटस का पता लगा सकते हैं. जिसमें आपकी गाड़ी की फोटो के साथ चालान की राशि और तारीख और समय भी लिखा हुआ होगा. अपना ई-चालान चेक करने के लिए आप लिंक पर https://echallan.parivahan.gov.in/index/accused-challan पर देख सकते हैं.

एक बात और अगर डाटाबेस में आपका नंबर अपडेट नहीं होगा, तो चालान या तो सीधे आपके घर पर आएगा, या ऑनलाइन जारी होगा. अगर आपने तय तिथि या छह महीने तक चालान नहीं भरा, तो आपके मामले को कोर्ट भेज दिया जाएगा.

1,742 total views, 1 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *