पाकिस्तानी खिलाड़ी को गाली देने वालों की बोलती बंद : संपादकीय व्यंग्य (Neeeraj Chopra And Arshad Nadeeem Olympics Javelin Issu)

Neeeraj Chopra And Arshad Nadeeem Olympics Javelin Issu – : अफगानिस्तान में तालिबान कब्जा कर ले तो सीख देते हैं..देख लो..भारत में यही होना बचा है बस..अब मांगोगे सस्ता तेल..तालिबान बना देंगे वो लो..नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) ने देश के लिए गोल्ड जीता तो बोले देखा पाकिस्तानियों को हम कहीं भी हम धूल चटा देते हैं..हम महाराणा प्रताप के वंशज हैं..दादा परदादा के पीछे की पीढ़ी के बारे में पूछ लो तो दाएं बाएं देखने लगेंगे..

PRAGYA KA PANNA
Neeeraj Chopra And Arshad Nadeeem Olympics Javelin Issu PRAGYA KA PANNA

नीरज (Neeraj Chopra) ने अपनी मेहनत से देश के लिए गोल्ड जीता तो भाला देखते ही फूल गए कि हम महाराणा प्रताप के वंशज हैं..भईया ऐसी कोई फील्ड नहीं है..ऐसा कोई काम नहीं है जिसमें ये लोग हिंदू मुसलमान का एंगल ना डाल दें..हिदू मुसलमान इनके लिए कायम चूरन है..

PRAGYA KA PANNA
PRAGYA KA PANNA

जब तक हल्का सा लेते नहीं है तब तक पेट में मरोड़ें उठती रहती हैं..तो दोस्तों हम आज बात करने जा रहे हैं..कि किस तरह से ओलंपिक में गोल्ड जीतने वाले नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) ने हिंदू मुसलमान करने वालों की खटिया खड़ी कर दी है..दोस्तों हुआ ये था कि और 25 अगस्त को नीरज का एक इंटरव्यू अखबार में अंग्रेजी में छपा..उन्होंने उसमें बताया कि टोक्यो ओलंपिक में..जब वो अपना पहला भाला फेकने वाले थे तो वो थोड़ा परेशान हो गए थे. क्योंकि उन्हें अपना भाला नहीं मिल रहा था…..

http://ultachasmauc.com/what-is-taliban-afganistan-issue/

नीरज (Neeraj Chopra) ने बताया कि बाद में उन्होंने देखा कि पाकिस्तानी जैवलिन थ्रोअर अरशद नदीम उनके भाले से प्रैक्टिस कर रहे हैं. फिर नीरज ने जैवलिन लिया और बाद में उसी भाले से गोल्ड जीता…

-----

नीरज (Neeraj Chopra) ने इतना कहा नहीं कि भारत के देश प्रेमी..लोग ट्वविटर से ही पाकिस्तान पर भाला फेकने लगे..पाकिस्तानी खिलाड़ी अरशद को ट्विटर से ही भाला कोच दिए…कोई उनको भाला चोर कहने लगा..कोई आतंकवादी करार देने लगा…कोई इस भाला प्रैक्टिस की बात को साजिश बताने लगा..

नीरज (Neeraj Chopra) ने देखा कि उनके अच्छे पाकिस्तानी दोस्त अरशद को भारत के एजेंडेबाज लोग फर्जी गरियाए धरे दे रहे हैं…लिहाजा नीरज तुरंत सामने आए नीरज ने कहा..मैं बताना चाहूंगा कि मेरे एक इंटरव्यू से एक मुद्दा उठ रहा है. इस इंटरव्यू में मैंने कहा था कि टोक्यो के फाइनल में पहले थ्रो से पहले मैंने पाकिस्तानी जैवलिन थ्रोअर अरशद नदीम से अपना जैवलिन मांगा था….

इसका काफी बड़ा मुद्दा बना दिया है. जबकि बहुत सिंपल सी बात है कि हम अपने पर्सनल जैवलिन एक जगह रखते हैं और सभी थ्रोअर उसको यूज कर सकते हैं. यही नियम है. और इसमें कुछ गलत नहीं है कि अरशद मेरा जैवलिन लेकर तैयारी कर रहा था. और मैंने अपने थ्रो के लिए उसे मांगा. ये इतनी बड़ी बात नहीं है. मुझे काफी दुख है कि मेरा सहारा लेकर इस बात को इतना बड़ा मुद्दा बनाया जा रहा है.

मैं आप सभी से यही विनती करता हूं कि ऐसा ना करें. स्पोर्ट्स सभी को मिलकर चलना सिखाता है. हम सभी जैवलिन थ्रोअर आपस में प्यार से रहते हैं. सभी आपस में अच्छे से बात करते हैं. इसलिए आप कोई ऐसी बात ना कहें जिससे हमें ठेंस पहुंचे.’

नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) का नाम लेकर भारत के हिंदू मुस्लिम एक्सपर्ट लोग अपना भाला वोट बैक के एंगल से फेंक पाते उससे पहले ही नीरज चोपड़ा ने साफ कह दिया कि मेरा सहारा लेकर इस बात को इतना बड़ा मुद्दा ना बनाएं..

दोस्तों एक खिलाड़ी ने दूसरे खिलाड़ी का सामान यूज किया है..सीमा में घुसपैठ नहीं की है..लेकिन भाले के नाम पर केवल महाराणा प्रताप और चेतक याद रखने वाले लोग..खेल युद्ध और नफरत की राजनीति में अंतर ही नहीं कर पा रहे हैं..दोस्तों इस वीडियो में इतना ही राम राम दुआ सलाम जय हिंद और मुजे ट्विटर पर फॉलो जरूर करिए मुझे @pragyalive नाम से खोजिए..

Disclamer- उपर्योक्त लेक लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार द्वारा लिखा गया है. लेख में सुचनाओं के साथ उनके निजी विचारों का भी मिश्रण है. सूचना वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गई है. जिसको ज्यों का त्यों प्रस्तुत किया गया है. लेक में विचार और विचारधारा लेखक की अपनी है. लेख का मक्सद किसी व्यक्ति धर्म जाति संप्रदाय या दल को ठेस पहुंचाने का नहीं है. लेख में प्रस्तुत राय और नजरिया लेखक का अपना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *