शिवपाल के दफ्तर पहुंचे मुलायम, हुआ भव्य स्वागत, सपा में मची खलबली

समाजवादी पार्टी में चाचा शिवपाल (shivpal) को लेकर तो बवाल ही मचा हुआ है. सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (akhilesh yadav) अपनी पार्टी को मजबूत करने के लिए अपने हर कार्यक्रम में पिता मुलायम सिंह यादव (mulayam singh yadav) को शामिल कर रहे हैं. लेकिन अखिलेश की इन्ही कोशिशों पर चाचा शिवपाल (shivpal) पानी फेर देते है. अभी राम मनोहर लोहिया जयंती पर मुलायम शिवपाल के मंच पर पहुंचे थे. वहीँ आज फिर मुलायम शिवपाल के साथ खड़े दिखाई दिए.

mulayam singh yadav in shivpal-singh yadav party office lucknow
मंच पर बोलते मुलायम सिंह यादव

शिवपाल (shivpal) ने अपने नए कार्यालय में कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया है. जिसका निमंत्रण अपने बड़े भाई शिवपाल (shivpal) को भी दिया था. मुलायम को जैसे ही शिवपाल का संदेसा मिला बस मुलायम खुद को रोक ही नहीं पाए और मुलायम सिंह यादव मंगलवार को शिवपाल सिंह यादव (shivpal singh yadav) की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के कार्यालय पहुंच गए, छह लाल बहादुर शास्त्री मार्ग स्थित पार्टी कार्यालय में मुलायम का भव्य स्वागत किया गया साथ ही पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनके कार्यकाल की प्रशंसा की.

mulayam singh yadav in shivpal-singh yadav party office lucknow
अपना झंडा लेकर मुलायम के साथ खड़े शिवपाल

कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान मुलायम ने शिवपाल (shivpal) के सभी साथी नेताओं से मुलाकात की. नेताओं ने मुलायम को माला पहनाया. इस मौके पर शिवपाल यादव ने मुलायम सिंह यादव को अपनी पार्टी का झंडा सौंपा. मुलायम ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया को स्वीकार किया. मंच पर मुलायम सिंह यादव व शिवपाल यादव के साथ प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के कई कार्यकर्ता मौजूद रहे.

-----
mulayam singh yadav in shivpal-singh yadav party office lucknow
शिवपाल ने मुलायम को थमाया अपना झंडा

मुलायम सिंह यादव जैसे ही शिवपाल के दफ्तर पहुंचे, वहां मौजूद शिवपाल के कार्यकर्ता मुलायम सिंह यादव जिंदाबाद और शिवपाल सिंह यादव जिंदाबाद के नारे लगाने लगे. उधर मुलायम और शिवपाल के साथ खड़े होने से तमाम राजनीतिक अर्थ निकाले जाने शुरू हो चुके हैं.

-----
mulayam singh yadav in shivpal-singh yadav party office lucknow
मुलायम ने सेकुलर मोर्चे के झंडे को किया स्वीकार

शिवपाल का दफ्तर वही है जो पहले बीएसपी सुप्रीमों मायावती का था. हालही में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने शिवपाल को मायावती का बंगला आवंटित किया था. जिसमे शिवपाल ने अपनी पार्टी का ऑफिस बनाया है.