BJP सांसद कौशल किशोर के बड़े भाई की कोरोना से मौत, ऑक्सीजन की कमी पर दी थी चेतावनी

उत्तर प्रदेश की हालत दिन पर दिन और विकराल होती जा रही है. कोरोना के एक्टिव मरीजों की बात करें तो यूपी देश के दूसरे नंबर पर पहुँच गया है. कुल मरीजों की संख्या में यूपी देश के चौथे नंबर पर है.

कौशल किशोर के बड़े भाई का निधन

ऑक्सीजन की कमी की आवाज़ उठाने वाले मोहनलालगंज सीट से BJP सांसद कौशल किशोर के बड़े भाई महावीर प्रसाद की एक प्राइवेट अस्पताल में कोरोना से मौत हो गई है. भाई की मौत से दुखी कौशल किशोर ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘मेरे बड़े भाई महावीर प्रसाद को करोना महामारी ने लील लिया. आज मेरे संरक्षक दुनिया में नहीं रहे. हे प्रभु आप सर्व शक्तिमान हो. लोगों की जान बक्श दीजिए उसके बदले मेरी जान ले लीजिए.

-----

सांसद कौशल किशोर ने बताया कि उनके बड़े भाई महावीर प्रसाद दुबग्गा के बिगरिया में उनके पड़ोस में ही रहते थे. करीब एक सप्ताह से केजीएमयू के कोविड अस्पताल में भर्ती थे. जहां दो-तीन दिन से उनकी हालत और बिगड़ गई. शनिवार देर रात उनका निधन हो गया. उनके परिवार में बेटे राकेश, अरविंद और चार बेटियां हैं.

-----

सांसद कौशल किशोर ने बताई थी प्रशासन की नाकामी

शनिवार को ही लखनऊ के हालात पर सांसद कौशल किशोर ने कहा था कि मैं धरने पर नहीं बैठना चाहता क्योंकि मैं नहीं चाहता हूं कि अफरा-तफरी का कोई माहौल पैदा हो. होम आइसोलेशन में मरीजों को ऑक्सीजन की सख्त जरूरत है. लोगों को ऑक्सीजन मिलेगी तो अस्पतालों पर दबाव कम होगा. लेकिन सैकड़ों लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही है.

लखनऊ प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा था कि कोरोना काल में मरीजों की मदद करने के लिए जिन अधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है, उनमें से ज्यादातर अधिकारियों का फोन बंद बता रहा है. प्रशासन से मेरा आग्रह है कि कृपया सभी जिम्मेदार अधिकारी अपना-अपना मोबाइल बंद न करें. पीड़ित लोगों की बात सुने और उनको सुविधा मुहैया कराए एडमिट कराएं.