मोदी सरकार को उखाड़ फेंके, बीजेपी नहीं तो कोई और बनाएगा राम मंदिर

2019 में लोकसभा चुनाव होने हैं. उसी को देखते हुए अयोध्या में राम मंदिर का मुद्दा फिर गरमाने लगा है. बीजेपी ने राम मंदिर के नाम पर उत्तर प्रदेश का चुनाव तो जीत लिया था पर अब लोकसभा चुनाव में बीजेपी को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण भाई तोगड़िया और श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास ने बातों ही बातों में बीजेपी को एक बड़ी चेतावनी दे दी है.

प्रवीण भाई तोगड़िया ने जताया विरोध

प्रवीण भाई तोगड़िया ने विरोध जताते हुए कहा कि देश के संत केंद्र की मोदी सरकार को राम मंदिर निर्माण पर कानून बनाने का आदेश दें. इसके बावजूद अगर सरकार मंदिर निर्माण का कानून नहीं बनाती है तो वे उसे जड़ से उखाड़ फेंके. देश के संत किसी से कोई मांग नहीं करते हैं, बल्कि वे आदेश देते हैं और संतों को आज ऐसा ही आदेश केंद्र सरकार को देना चाहिए. तोगड़िया ने कहा यही सरकार है जो तीन तलाक पर कानून बनाने में देरी नहीं करती. आरक्षण के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटने के लिए कानून पास कर देती है लेकिन जब राम मंदिर निर्माण पर कानून बनाने की बात आती है तो वह चुप-चाप पीछे हट जाती है.

महंत नृत्यगोपाल दास ने दी चेतावनी

श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास ने कहा है की अब समय आ गया है राम मंदिर बनने के लिए ज्यादा इंतज़ार नहीं कर सकते हैं. अगर राम मंदिर भाजपा और विश्व हिंदू परिषद नहीं बनवाएगी तो कोई और बनाएगा. वहीं विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष आलोक कुमार ने भी विरोध जताते हुए कहा है कि मुझे उच्चतम न्यायलय पर पूरा भरोसा था लेकिन उन्होंने अपना कर्तव्य नहीं निभाया और कब से राम मंदिर के मामले को लटका कर रखा हुआ है. आलोक कुमार ने कहा की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मिल कर हमने राम मंदिर बनवाने में मदद मांगी है.

-----