UP सरकार ने जारी किया आतंकी ‘अजमल कसाब’ का फर्जी जाति-निवास प्रमाण पत्र

Ulta Chasma Uc  :   योगी राज में उत्तर प्रदेश के औरैया जिले से एक बड़ा ही हैरान करने वाला फर्जीवाड़ा सामने आ रहा है. औरैया से मुंबई हमले में शामिल पाकिस्तानी आतंकी अजमल कसाब का कथित तौर पर निवास और जाति प्रमाण-पत्र जारी हो गया है. इस फर्जीवाड़े ने अधिकारियों के होश उड़ा दिए हैं. और लेखपाल लाखन सिंह को निलंबित कर दिया. ऑनलाइन आवेदक के खिलाफ भी जांच के आदेश दिए गए हैं. मामला बिधूना तहसील के अम्बेडकर नगर गांव का है.

militant ajmal kasab issued caste and domicile certificate in up government
निवास प्रमाण-पत्र

कैसे जारी हुआ प्रमाण पत्र ?

जानकारी से पता चला की तहसील प्रशासन की ओर से 21 अक्तूबर को फर्जी प्रमाणपत्र जारी किये गए थे जिसमें एक प्रमाण-पत्र आतंकी कसाब का भी था. इस प्रमाण-पत्र को लेखपाल की डिजिटली संस्तुति पर एसडीएम ने भी डिजटल हस्ताक्षर करते हुए 30 अक्टूबर को जारी कर दिया था. बाकायदा इस आवेदन में अज़मल कसाब का फोटो भी लगाया गया था. फिर भी प्रमाण पत्र जारी करते समय अफसर व कर्मचारी उसकी पहचान नहीं कर पाए.

militant ajmal kasab issued caste and domicile certificate in up government
जाति प्रमाण-पत्र
-----

अधिकारियों ने प्रमाण पत्र जारी करने से पहले उसकी नागरिकता की पुष्टि भी नहीं की. और आँख बंद कर फर्जी प्रमाण-पत्र जारी कर दिया. आवेदन में कसाब के पिता का नाम मोहम्मद आमिर और मां का नाम मुमताज बेगम लिखा हुआ है. जबकि कसाब की मां का नाम नूर इलाही है.

यूपी सरकार पर लगे आरोप

इस बड़ी घटना के बाद यूपी सरकार की सक्रियता पर सवाल खड़े हो रहे हैं. आरोप लग रहे हैं की यूपी के सरकारी दफ्तरों में चंद रुपये देकर कोई भी किसी का भी फर्जी सर्टिफिकेट बनवा सकता है. मालूम हो की मुंबई में 26 नवंबर 2008 को होटल ताज पर हमला किया गया था. जिसमें कई लोगों ने अपनी जान गवां दी थी. मुठभेड़ में अजमल आमिर कसाब को असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर तुकाराम ने जिंदा पकड़ लिया था. कसाब ने अपने आपको छुड़ाने के लिए इंस्पेक्टर तुकाराम को गोली भी मार दी थी. मामले में दोषी पाए जाने पर उसे 26 नवंबर 2012 को फांसी दी गई थी.

Web Title :  militant ajmal kasab issued caste and domicile certificate in up government

HINDI NEWS से जुड़े अपडेट और व्यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ FACEBOOK और TWITTER हैंडल के अलावा GOOGLE+ पर जुड़ें.