मेरठ पुलिस ने एनकाउंटर में पूरा किया अर्धशतक, योगी सरकार में ढेर किये 51 बदमाश

जब से योगी सरकार बनी है तब से ही मेरठ जोन की पुलिस सख़्त हो गई है और लगातार बदमाशों को ढूंढ कर मार रही है. आज मेरठ पुलिस ने एनकाउंटर की अपनी हाफ सेंचुरी पूरी कर ली है.

meerut police killed 51 badmash in encounters uttar pradesh
meerut police killed 51 badmash in encounters uttar pradesh

मतलब मेरठ पुलिस ने अब तक 51 बदमाशों को ढेर कर दिया है. वहीं बदमाशों के पैरों में गोली लगने का आंकड़ा एक हजार के करीब है. इस बड़ी कार्यवाही पर मुख्यमंत्री मेरठ जोन पुलिस की पीठ भी थपथपा चुके हैं. उत्तर प्रदेश में 2017 में बीजेपी सरकार बनी थी. तब से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महिला अपराध और कैराना पलायन को लेकर नाराजगी जता चुके थे.

-----

इसके बाद से ही अपराधियों पर शिकंजा कसना शुरू हो गया. और मेरठ, मुजफ्फरनगर, शामली, सहारनपुर, बागपत, हापुड़, बुलंदशहर, नोएडा और गाजियाबाद की पुलिस बदमाशों से सीधी मुठभेड़ करने लगी. कई बदमाश पकडे गए और कई पुलिस मुठभेड़ में मारे गए. मेरी मेरठ जोन में ये सिलसिला काफी तेजी से चलता रहा और आज सिर्फ मेरठ में ही 51 बदमाशों का एनकाउंटर हो गया है.

प्रदेश में अन्य सात जोन लखनऊ, बरेली, आगरा, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी और गोरखपुर एनकाउंटर के मामले में काफी पीछे हैं. मंगलवार को हुई मुठभेड़ में चार बदमाश पुलिस ने मार गिराए उसी को मिला कर 51 तक ये आंकड़ा पहुँच गया है. इससे पहले 11 जुलाई को पल्लवपुरम में एक लाख के इनामी शकील और 25 हजार के इनामी भूरा की मुठभेड़ में मौत हो गई थी.

बतादें की सीएम योगी पुलिस प्रशासन से साफ़ साफ़ कह चुके हैं की भ्रष्टाचार और महिलाओं-बच्चियों पर हो रहे आपराधिक मामलों पर सख्त कार्यवाही करें. अगर इसमें किसी भी तरह की लापरवाही हुई तो उसका परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे. तभी से यूपी के हर जिले की पुलिस सख्ती के साथ कार्यवाही करने में लगी हुई है.