राजस्थान में BSP का सफाया, सभी 6 विधायक कांग्रेस में शामिल, भड़कीं मायावती

बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमों मायावती को राजस्थान में बड़ा झटका लगा है. बसपा के सभी छह विधायक सोमवार को कांग्रेस में शामिल हो गए हैं. जिसके बाद से बसपा मुखिया मायावती बेहद भड़की हुई हैं.

mayawati big shock rajasthan all six bsp mlas join congress
mayawati big shock rajasthan all six bsp mlas join congress

रात 10:30 बजे सभी विधायक विधानसभा पहुंचे और कांग्रेस में शामिल हुए. इन विधायकों में राजेन्द्र गुढा (विधायक, उदयपुरवाटी), जोगेंद्र सिंह अवाना (विधायक, नदबई), वाजिब अली (विधायक, नगर), लाखन सिंह मीणा (विधायक, करोली), संदीप यादव (विधायक, तिजारा) और बसपा विधायक दीपचंद खेरिया शामिल हैं. जिससे मायावती काफी तिलमिला गई हैं और उन्होंने कांग्रेस को धोखेबाज पार्टी की संज्ञा दे डाली है.

मायावती ने कहा कि बसपा के विधायकों को शामिल कर कांग्रेस ने एक बार फिर गैर भरोसेमंद के साथ धोखेबाज पार्टी होने का प्रमाण दिया है. ये बीएसपी मूवमेन्ट के साथ विश्वासघात है जो दोबारा तब किया गया है जब बीएसपी वहाँ कांग्रेस सरकार को बाहर से बिना शर्त समर्थन दे रही थी. कांग्रेस अपनी कटु विरोधी पार्टी/संगठनों से लड़ने के बजाए हर जगह उन पार्टियों को ही सदा आघात पहुंचाने का काम करती है जो उन्हें सहयोग/समर्थन देते हैं.

मायावती ने कहा कि कांग्रेस इस प्रकार एससी, एसटी,ओबीसी विरोधी पार्टी है और इन वर्गों के आरक्षण के हक के प्रति कभी गंभीर और ईमानदार नहीं रही है. कांग्रेस हमेशा ही बाबा साहेब डा भीमराव अम्बेडकर और उनकी मानवतावादी विचारधारा की विरोधी रही. इसलिए डा अम्बेडकर को देश के पहले कानून मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था. कांग्रेस ने उन्हें न तो कभी लोकसभा में चुनकर जाने दिया और न ही भारतरत्न से सम्मानित किया. जो अति-दुःखद और शर्मनाक है.

कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि ‘बसपा के सभी छह विधायक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निरंतर संपर्क में थे और सोमवार को वह कांग्रेस में शामिल हो गए हैं.

बतादें कि 2018 के राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को कुल 99 सीटें मिली थी. लेकिन भाजपा को 73 सीटों से ही संतोष करना पड़ा था. चुनाव में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी मगर पूर्ण बहुमत से एक सीट कम थी. जिसके बाद कांग्रेस ने बसपा और निर्दलीय विधायकों की मदद से अपनी सरकार बनाई थी. अब बसपा के सभी 6 विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने के बाद गहलोत सरकार अपने दम पर पूर्ण बहुमत वाली सरकार हो गई है.

1,502 total views, 1 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *