अपने ‘नागनाथ’ को दूध पिलाने को मायावती तैयार

Ulta Chasma Uc  :  2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल माने जा रहे 5 राज्यों के चुनावी परिणामों में कांग्रेस ने अपना पंजा मार दिया है. हालाँकि कांग्रेस अपना राज्य मिजोरम हार गई. लेकिन वहीँ उसने सत्ताधारी बीजेपी से उसके तीन बड़े राज्य छीन लिए हैं.

mayawati agreed to support congress in madhya pradesh and rajasthan
mayawati agreed to support congress in madhya pradesh
कांग्रेस को माया का साथ

कांग्रेस की राह में फंसे बहुमत के कांटे को बीएसपी सुप्रीमों मायावती ने निकालने का ऐलान कर दिया है. मतलब की माया में अपना पूरा समर्थन कांग्रेस को दे दिया है. मायावती का कहना है कि वह भारतीय जनता पार्टी को रोकने के लिए कांग्रेस का समर्थन करने जा रही हैं. और जरूरत पड़ी तो राजस्थान में भी कांग्रेस को समर्थन देंगे.

पहले कांग्रेस को बताया सांपनाथ और नागनाथ की जोड़ी

इससे पहले इन्हीं दोनों राज्यों में माया ने कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन नहीं करने का फैसला लिया था. माया ने कहा था की कांग्रेस पार्टी में बहुत घमंड है. कांग्रेस बीएसपी को ख़त्म करना चाहती है. हमारी पार्टी कांग्रेस की मोहताज नहीं है. मायावती ने तो बीजेपी और कांग्रेस को सांपनाथ और नागनाथ की जोड़ी तक कह डाला था.

-----
mayawati agreed to support congress in madhya pradesh and rajasthan
mayawati

एक तरफ माया कांग्रेस को गरिया रहीं थीं और वहीँ दूसरी तरफ जैसे ही कांग्रेस ने अपनी बाजी मारी तो माया भी कांग्रेस के पैरों में गिर पड़ी. इससे तो आप अंदाज़ा लगा सकते हैं की राजनीति में किसी की बात के कोई मायने नहीं हैं. सिर्फ जुमलेबाजी ही होती है. माया ने अपनी ही कही बात को खोखला साबित कर दिया.

-----
कांग्रेस को है बहुमत की ज़रूरत

5 में से 3 राज्य कांग्रेस ने जीत कर सेमीफाइनल में अपना झंडा गाड़ दिया है. सभी पांचों राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के नतीजे अब साफ हो गए हैं. किसको कहाँ से कितनी सीटें मिलीं है ये भी एक दम साफ़ है. लेकिन कांगेस को दो जगहों पर मध्यप्रदेश और राजस्थान में अपनी सरकार बनाने के लिए दूसरी पार्टी का साथ लेना पड़ेगा. क्युकी कांग्रेस बड़ी पार्टी तो बन गई है लेकिन बहुमत नहीं ला पाई है.

मध्यप्रदेश कुल सीटें: 230, बहुमत: 116

भाजपा 109, कांग्रेस 114, बसपा 2, अन्य 5 सीटें जीत चुके हैं. यहाँ कांग्रेस एक बड़ी पार्टी बनी हैं लेकिन सरकार बनाने के लिए अभी भी उसे बहुमत के लिए 2 सीट चाहिए.

छत्तीसगढ़ कुल सीटें: 90, बहुमत: 46

भाजपा 15, कांग्रेस 68, जकांछ+ 7, सीटें जीत चुके हैं. यहाँ पर भी कांग्रेस ने अपना झंडा गाड़ दिया है. यहाँ कांग्रेस बड़ी पार्टी होने के साथ साथ पूर्ण बहुमत की हासिल कर चुकी है. छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार तय है.

-----

राजस्थान कुल सीटें: 200, बहुमत: 101

भाजपा 73, कांग्रेस 99, बसपा 6, अन्य 20, सीटें जीत चुके हैं. यहाँ पर भी कांग्रेस को बहुमत के लिए 2 सीटों की ही ज़रूरत है.

मिजोरम कुल सीटें: 40, बहुमत: 21

कांग्रेस 5, एमएनएफ 26, भाजपा 1, अन्य 8, सीटें जीत चुके हैं. यहाँ पर एमएनएफ पार्टी बहुमत में है. इससे पहले यहाँ कांग्रेस की सरकार थी पर कांग्रेस ने अपना ये राज्य गवां दिया है.

तेलंगाना कुल सीटें: 119, बहुमत: 60

टीआरएस 88, कांग्रेस 21, भाजपा 1, अन्य 9, सीटें जीत चुके हैं. यहाँ टीआरएस पूर्ण बहुमत से अपनी सरकार बनाएगी. इससे पहले भी यहाँ टीआरएस की ही सरकार थी. उसका कब्ज़ा बरकरार है.

किसके पास थीं कितनी सीट ?

मिजोरम में कुल सीटें 40 हैं यहाँ कांग्रेस की सरकार थी, जिसमें कांग्रेस के पास 34, एमएनएफ 5, एमपीपी 1, भाजपा 0 सीटें थीं.

तेलंगाना में कुल सीटें 119 हैं यहाँ टीआरएस की सरकार थी. जिसमें टीआरएस के पास 63, कांग्रेस 21, टीडीपी 15, एआईएमआईएम 7, भाजपा 5, निर्दलीय 1 सीटें थीं.

मध्यप्रदेश में कुल सीटें 230 हैं यहाँ बीजेपी की सरकार थी. जिसमें बीजेपी के पास 165, कांग्रेस 58, बसपा 4, अन्य 3 सीटें थीं.

छत्तीसगढ़ में कुल सीटें 90 हैं यहाँ बीजेपी की सरकार थी. जिसमें बीजेपी के पास 49, कांग्रेस 39, बसपा 1, अन्य 1 सीटें थीं.

राजस्थान में कुल सीटें 200 हैं यहाँ बीजेपी की सरकार थी. जिसमें बीजेपी के पास 163, कांग्रेस 21, बसपा 13, अन्य 13 सीटें थीं.

 

Web Title :  mayawati agreed to support congress in madhya pradesh and rajasthan

HINDI NEWS से जुड़े अपडेट और व्यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ FACEBOOK और TWITTER हैंडल के अलावा GOOGLE+ पर जुड़ें.