बंगाल में चला ममता का जादू, मोदी-शाह की जोड़ी के साथ हो गया खेला

बंगाल चुनाव में ममता दीदी ने हैट्रिक लगाने के साथ ही मोदी शाह की जोड़ी को भी एक बड़ी पटकनी दे दी है. तृणमूल कांग्रेस ने बंगाल में बड़ा खेला कर दिया है.

बीजेपी ने लगाया पूरा दम

बंगाल चुनाव में बीजेपी ने ममता सरकार पर मुस्लिम तुष्टिकरण, घुसपैठ को बढ़ावा देने जैसे कितने ही आरोप लगाए हों. जिसके जरिए बीजेपी ध्रुवीकरण की कोशिश में थी और काफी हद तक बीजेपी इसमें सफल भी दिखी है लेकिन बीजेपी के बड़े बड़े दिग्गज नेता बंगाल में कमल खिलाने को मैदान में उतरे पर ममता को हरा नहीं पाए. ये बीजेपी के लिए एक बड़ी हार है.

रंग लाई ममता की चुनावी रणनीति

ममता दीदी अपनी हर रैली में बंगाली गौरव और संस्कृति की बात बार-बार कर रही थीं. वो अपनी चुनावी रणनीति से बंगाल के लोगों को समझा रही थीं कि अगर वे चुनाव हारीं तो बंगाल के बाहर के लोग राज्य को चलाएंगे. हालांकि हिंदी भाषी बहुल और उत्तर बंगाल में उनकी रणनीति भले ही कम चली हो, लेकिन दक्षिण बंगाल और ग्रामीण इलाकों में ये मुद्दा चला और इसके सहारे ममता ने बढ़त बनाई और जीत हासिल कर ली है.

-----

राष्ट्रीय स्तर पर ऊँचा किया अपना कद

वैसे तो मोदी-शाह की जोड़ी का दीदी शुरू से ही विरोध करती आ रही हैं. लेकिन ये और विपक्षी दलों को दिख नहीं रहा था. मगर बंगाल जीतने के बाद अब ममता दावा कर सकती हैं कि मोदी का राष्ट्रीय स्तर पर मुकाबला वही कर सकती हैं. ममता की इस जीत के बाद ये मांग भी हो सकती है कि राष्ट्रीय स्तर पर बीजेपी के विरोध का नेतृत्व करने के लिए पूरे विपक्ष को साथ आना चाहिए.

-----

अखिलेश यादव ने दी जीत की बधाई

ममता की जीत को देखते हुए और खुशी जताते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उन्हें जीत की बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट किया कि ”पश्चिम बंगाल में भाजपा की नफ़रत की राजनीति को हराने वाली जागरुक जनता, जुझारू नेता ममता बनर्जी व टीएमसी के समर्पित नेताओं व कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई। ये भाजपाइयों के एक महिला पर किए गए अपमानजनक कटाक्ष ‘दीदी ओ दीदी’ का जनता द्वारा दिया गया मुंहतोड़ जवाब है”.

नंदीग्राम सीट से ममता जीतीं

पश्चिम बंगाल में कुल 292 सीटों पर रुझान सामने आ गए हैं. रुझानों के मुताबिक टीएमसी को 207 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है और बीजेपी 81 सीटों पर आगे चल रही है. वहीं सबसे ज्यादा चर्चा में रही नंदीग्राम की सीट से ममता जीत गई हैं. इस सीट से हारने वाले बीजेपी के शुभेंदु अधिकारी हैं. उन्होंने कहा था कि 50 हजार वोटों से जीतूंगा और अगर हार गया तो राजनीति छोड़ दूंगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *