अखिलेश ने भी छोड़ा राहुल का साथ, कहा- बहुत इंतजार कराया, नहीं होगा कोई गठबंधन

चार राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के चलते सियासी घमासान तेज हो गया है. कांग्रेस के लिए एक बुरी खबर सामने आ रही है. मायावती ने तो राहुल का साथ छोड़कर मध्यप्रदेश से अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान तो कर ही दिया था, वहीं अब उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी राहुल गाँधी से किनारा कर लिया है. अब मध्य प्रदेश में अखिलेश यादव अकेले या फिर गोंडवाना पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे.

राहुल गाँधी का छोड़ा साथ

अखिलेश ने भी छोड़ा राहुल का साथ
अखिलेश ने छोड़ा राहुल का साथ

 

अखिलेश यादव भी कांग्रेस से नाराज हो गए हैं. उन्होंने ये साफ शब्दों में कह दिया है की विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से गठबंधन नहीं होगा. अखिलेश यादव ने कहा कि कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में हमें बहुत इंतजार कराया। हम बीएसपी पार्टी के साथ मिलकर भी चुनाव लडऩे के इच्छुक हैं. इसके लिए बीएसपी से बात करेंगे. बतादें जब बसपा के साथ कांग्रेस का गठबंधन टूटा था तो अखिलेश यादव ने कांग्रेस को समझाते हुए कहा था कि कांग्रेस को समान विचारधारा वाले दलों को साथ लेकर चलना चाहिए. साथ ही कांग्रेस की तारीफ करते हुए कहा था की कांग्रेस एक अच्छी पार्टी है. उसे दिल बड़ा करना चाहिए. मालूम हो कि 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सपा और कांग्रेस ने साथ चुनाव लड़ा था.

-----

योगी सरकार पर निशाना

लखनऊ में समाजवादी पार्टी कार्यालय में वरिष्ठ शिक्षकों का सम्मेलन आयोजित कराया गया, इस अवसर पर अखिलेश ने कहा वरिष्ठ शिक्षकों के आशीर्वाद से समाजवादी लोग हर मुश्किलों का सामना कर लेंगे. इसके साथ ही अखिलेश ने बीजेपी पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार से भरोसा उठ चुका है. कोई भी ऐसा दिन नहीं होता है जब दर्जनों हत्याएं, हिंसा, बवाल व महिलाओं के प्रति दर्जनों अपराध न हो रहे हों. पुलिसकर्मियों के काला दिवस मनाने पर उन्होंने कहा सिपाहियों के आक्रोश के लिए पुलिस के अधिकारी ही जिम्मेदार हैं.

-----