लखनऊ में कोरोना पीक अब हो रहा डाउन, 14 दि‍न और बरतनी होगी सावधानी, पढ़ें-

कोरोना की दूसरी और खतरनाक लहर से हर कोई दुआ और प्रार्थना कर रहा है. विशेषज्ञ इसके पीक के डाउन होने का भी इंतज़ार कर रहे हैं क्युकी तभी कुछ राहत मिल सकती है. ऐसे में संजय गांधी पीजीआई के न्यूरोलॉजी विभाग के प्रमुख प्रो नारायण प्रसाद ने एक बड़ी जानकारी दी है और सावधानी बरतने को भी कहा है.

लखनऊ में कोरोना का पीक अब खत्म

प्रो नारायण प्रसाद ने कहा है कि राजधानी लखनऊ में कोरोना का पीक अब खत्म होने वाला है. अब कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या में कमी आ रही है. संख्या घटकर आधी हो गई है और ठीक होने वालों की संख्या बढ़ रही है. इधर हफ्ते भर पहले का देखें तो लखनऊ में छह हजार से ऊपर केस आ रहे थे जो अब तीन हजार के आस पास हो गए है. मतलब आधे हो गए हैं. देखा जाए तो लखनऊ में लगभग 40 हज़ार ही ऐसे मरीज हैं जिनका इलाज चल रहा है बाकी ठीक हो कर घर जा चुके हैं.

अच्छी स्थिति का कारण है जागरूरकता

इसके पीछे सबसे बड़ा कारण है जागरूरकता. लखनऊ में तमाम व्यापारियों ने खुद बंदी का फैसला किया ताकि लोग अपने घरों से निकलना बंद करें. नतीजा ये रहा है कि बिना लॉक डाउन के भी बाजार में लोगों की संख्या कम दिख रही है. इसके साथ ही लोग खुद मास्क, आपस में दूरी का पालन कर रहे हैं. लेकिन आगे भी इस ट्रेंड को बरकरार रखने के लिए सभी को मिलकर प्रयास करना होगा. तभी इस वायरस से निजात पा सकते हैं.

-----

14 दि‍न और एहतियात बरते

प्रो नारायण प्रसाद ने बताया कि अगले 2 सप्ताह बहुत ही महत्वपूर्ण है. बस 14 दि‍न और एहतियात बरते. इसका रिज़ल्ट खुद आप देखेंगे. वैक्सीन लेने में कोई कोताही न बरतें. सभी लोग वैक्सीन लगवाएं. संक्रमित हो गए है तो दवा के साथ योग पर ध्यान दें. अगर किसी मे लक्षण दिखे तो वो आइसोलेट हो जाए इससे परिवार के लोग बच सकते है. दो हफ्ते कड़ाई से एहतियात का पालन करना होगा.

-----

संपूर्ण लॉकडाउन की चर्चा तेज

उधर एक बार फिर से देश में संपूर्ण लॉकडाउन की चर्चा तेज हो गई है. कोरोना की बेकाबू रफ्तार पर काबू पाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों से लॉकडाउन पर विचार करने की बात कही है. कोर्ट ने कहा कि हम गंभीर रूप से केंद्र और राज्य सरकारों से सामूहिक समारोहों और सुपर स्प्रेडर घटनाओं पर प्रतिबंध लगाने पर विचार करने का आग्रह करेंगे. वे वायरस को रोकने के लिए लॉकडाउन लगाने पर भी विचार कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें-

वेंटिलेटर क्या होता है, क्यों होती है इसकी ज़रूरत, ये कैसे काम करता है ?

आपको रोज कितनी ऑक्सीजन की जरूरत होती है ? साँस कैसे लेनी चाहिए ? आक्सीजन लेवल कैसे बढ़ाएं ? जानें सबकुछ-

मेडिकल ऑक्सीजन क्या है ? कैसे बनती है ? हमारे वातावरण में कितनी ऑक्सीजन है ? जानें सब कुछ-

-----

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *