कंगना की पहले बुद्धि सस्पेंड हुई फिर अकाउंट : संपादकीय

दोस्तों हिंदुस्तान की अभिनेत्री हैं कंगना रनौत (KANGANA RANAUT TWITTER ACCOUNT SUSPEND) ..इन्होंने मोदी जी से साल 2000 के शुरुआती दशक वाला गुजराती विराट रूप बंगाल में दिखाने के लिए कहा..और उसके बाद कंगना के ट्विटर अकाउंट को सस्पेंड कर दिया गया है..कंगना रनौत ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से ट्विटर पर मांग की थी कि वो बंगाल में ममता बनर्जी को सबक सिखाने के लिए..साल 2000 के शुरुआती दशक वाला विराट रूप दिखाएं..ममता की गुंडई को खत्म करने के लिए सुपर गुंडई करें…कंगना ने लिखा था कि..वो मतलब ममता एक राक्षस की तरह की तरह है..उसी तरह मोदी जी आप भी अपना साल 2000 के शुरुआती दशक वाला विराट रूप दिखाईये..

अब मोदी जी का साल 2000 के दशक वाला विराट रूप कौन सा है..इसकी जानकारी में मोदी जी के जीवन में 20 साल पीछे साल 2002 में चलते हैं तो हमें मिलता है साल 2002 का गुजरात दंगा..जहां सैकेड़ों लोगों की जान चली गई थी..जिसके बाद बहुत सारे राजनीतिक समीकरण बदल गए थे..मोदी जी की छवि बदल गई थी..अटल बिहारी वाजपेयी तक को मोदी जी से राजधर्म का पालन करने के बारे में कहना पड़ गया था..खैर वक्त इतना डीप जाने का नहीं है..लेकिन कंगना की मूर्खता ने मोदी जी को भी असहज कर दिया होगा..बेवकूफी में कंगना ने मोदी जी से 2002 वाला गुजरात दंगों वाला समय रिपीट करने को कह रही थीं..इसे ट्विटर ने अपनी गाइडलाइन का उल्लंघन माना और कंगना का अकाउंट सस्पेंड कर दिया..

बंगाल में टीएमसी की जीत के बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमले की खबरें आने लगी थीं. कई वीडियो वायरल हो रहे थे..ममता बनर्जी और देश के गृह मंत्रालय को ऐसा होने से रोकना चाहिए था. देश में हार या जीत के बाद हिंसा किसी भी प्रकार उचित नहीं है.. बंगाल की इसी हिंसा को लेकर कंगना ने ममता बनर्जी को सबक सिखाने के लिए चापलूसी में ट्वीट किया..लेकिन ये चापलूसी भरा ट्विट भारत के प्रधानमंत्री के लिए भी अपमानजनक था…जिस समय के बारे में जिक्र करते हुए कंगना ने मोदी जी से विराट रूप दिखाने की मांग की उस समय यानी 2002 में गुजरात दंगों के दौरान नरेंद्र मोदी वहां के मुख्यमंत्री थे. और कंगना के ट्वीट का मतलब ये निकल रहा है कि 2002 में प्रधानमंत्री ने कोई विराट रूप लेकर दंगा करवाया था..कंगना ने लिखा..

https://www.instagram.com/tv/COcO8vyhlbG/?utm_source=ig_embed (इंस्टाग्राम लास्ट वीडियो लिंक)

‘ये भयानक है, इस गुंडई को खत्म करने के लिए हमें इससे भी बड़े लेवल पर गुंडई दिखाने की ज़रूरत है. वो (ममता) एक दानव की तरह हैं जिसे खुला छोड़ दिया गया है. मोदी जी, उन्हें काबू करने के लिए कृपया अपना 2000 के दशक की शुरुआत वाला विराट रूप दिखाइए’..

ये इंग्लिश में किए गए ट्विट का हिंदी रूपांतरण है..हिंदुस्तान के समाज की प्रतिष्ठित महिला अदाकारा कंगना को ऐसे आक्रामक और भड़काऊ संदेशों से बचना चाहिए..समाज में हिंसा का जवाब हिंसा नहीं हो सकता..बंगाल की मुस्लिम आबादी को गुजरात की मुस्लिम आबादी से कनेक्ट करके..प्रधानमंत्री को दंगों से कनेक्ट करके वैसी ही कर्रवाई बंगाल में कराने की अपील सरासर गलत थी..कंगना रनाउत बॉलीवुड की वो एक्ट्रेस हैं जिन्हें बीजपी सरकार ने वाई प्लस सिक्योटी दी है..कंगना वही एक्ट्रेस हैं..जिनका घर मुंबई में ठाकरे सरकार ने गिरा दिया था तो देशभर ने कंगना का सपोर्ट किया था..लेकिन समाज में दंगे जैसी अपील गलत है..हिंदुस्तान में किसी भी तरह के क्राइम के लिए कानून है..अमित शाह जी का गृह मंत्रालय है. पुलिस है..चलते हैं राम राम दुआ सलाम..जय हिंद…

DISCLAMER- लेख में प्रस्तुत तथ्य/विचार लेखक के अपने हैं. किसी तथ्य के लिए ULTA CHASMA UC उत्तरदायी नहीं है. लेखक एक रिपोर्टर हैं. लेख में अपने समाजिक अनुभव से सीखे गए व्यहवार और लोक भाषा का इस्तेमाल किया है. लेखक का मक्सद किसी व्यक्ति समाज धर्म या सरकार की धवि को धूमिल करना नहीं है. लेख के माध्यम से समाज में सुधार और पारदर्शिता लाना है.

2 thoughts on “कंगना की पहले बुद्धि सस्पेंड हुई फिर अकाउंट : संपादकीय

  • May 29, 2021 at 11:11 pm
    Permalink

    Mam Waseem rizwi ki video bnao Jo new quran shareef pm ko bheja hai

    Reply
    • May 30, 2021 at 4:15 pm
      Permalink

      आर्टिकल है साइट पर पढ़िए जरूर सलीम जी

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *