इंदिरा गांधी का ‘तीसरा बेटा’ बनेगा ‘मध्यप्रदेश’ का मुख्यमंत्री, राहुल ने लगाई मुहर

पांच राज्यों के चुनावी नतीजे आने के बाद सीएम बनने की खींच तान में दो दिन के बाद कांग्रेस ने आखिरकार मध्य प्रदेश में अपना मुख्यमंत्री चुनने में कामयाब हो गई. राहुल गाँधी ने मैराथन की कई बैठकों के बाद मध्यप्रदेश में कमलनाथ पर मुहर लगा दी है. इस बात की औपचारिक घोषणा भोपाल में देर रात को हुई.

कमलनाथ को मुख्यमंत्री चुनने में सोनिया गाँधी और प्रियंका गाँधी की अहम् भूमिका रही है. कमलनाथ मुख्यमंत्री पद की शपथ 17 दिसंबर को लेंगे. लाल परेड ग्राउंड में शपथ समारोह का आयोजन किया जाएगा. शपथ समारोह में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी भी मौजूद रहेंगे.

कमलनाथ ने किया धन्यवाद
-----

मुख्यमंत्री चुने जाने पर कमलनाथ ने कहा, ‘ये पद मेरे लिए मील का पत्थर है. 13 दिसंबर को इंदिराजी छिंदवाड़ा आई थीं. और मुझे जनता को सौंप दिया था. मैं ज्योतिरादित्य का धन्यवाद करता हूँ जो उन्होंने मेरा समर्थन किया. मुझे कुर्सी की जरा भी भूख नहीं है. मैंने संजयजी, इंदिराजी, राजीवजी के साथ काम किया है और अब राहुल गांधी के साथ काम कर रहा हूं.

kamalnath is next chief minister of madhya pradesh
kamalnath is next chief minister of madhya pradesh

कमलनाथ संजय गांधी के स्कूली दोस्त बताए जाते हैं. कमलनाथ को 1980 में पहली बार छिंदवाड़ा से सांसद बनाया गया था. तब चुनाव में प्रचार के दौरान इंदिरा गांधी ने उन्हें अपना तीसरा बेटा भी बताया था. कमलनाथ मप्र की छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से 9 बार से सांसद हैं कमलनाथ का जन्म 18 नवम्बर 1946 में कानपुर में हुआ. वे एक भारतीय राजनीतिज्ञ और पूर्व शहरी विकास मंत्री भी हैं.

राहुल गाँधी ने अपने ट्विटर पर कमलनाथ और ज्योतिरादित्य के साथ अपनी फ़ोटो शेयर की है. इसमें वे खुद दोनों की बांहें थामे एक रेफरी के रूप में दिख रहे हैं.

पांच राज्यों में हुए चुनाव में बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा. कांग्रेस ने बीजेपी के तीनों राज्य मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ उससे छीन लिए हैं. अब पूरे भारत में बीजेपी सिर्फ 16 राज्यों में ही है.