जो जीतने के लिए देश को मरता छोड़ दें..जितिन प्रसाद वहां जीतना सीख सकते हैं : संपादकीय व्यंग्य

Pragya Ka Panna Editorial
Pragya Ka Panna Editorial

जितिन प्रसाद बड़के वाले ब्राह्ममण हैं इसलिए बीजेपी में लाए गए हैं..जितिन प्रसाद के कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में जाने की एकलौती क्वालिफिकेशन उनका ब्राह्ममण होना ही है..बाताया जा रहा है..जितिन प्रसाद के बीजेपी में आने के बाद यूपी में ठोकरें खा रहे ब्राह्मण फिर से पूजनीय बना दिए जाएंगे..विजय बहादुर पाठक..ब्रजेश पाठक..दिनेश शर्मा..महेश शर्मा..रीता बहुगुणा जोशी..ह्रदया नारायण दीक्षित, शिव प्रताप शुक्ला जैसे ब्राह्मण बीजेपी में पहले से हैं..लेकिन अब तक ब्राह्मणों का उत्थान नहीं हो पाया है..

विकास दुबे कांड में 4 दिन पहले ब्याहकर आई नई नवेली दुल्हन जेल में बंद है..किसी मर्द ब्राह्मण की आवाज नहीं निकल रही है..वो भी तब जब खुद कानून मंत्री ब्राह्मण हैं..खुद डिप्टी सीएम ब्राह्मण हैं..वो भी तब जब पुलिस ने विकास दुबे कांड के समय ये माना था कि खुशी दुबे निर्दोष है..उसे बहुत जल्द पूछताछ के बाद छोड़ दिया जाएगा…

सारे पॉलिटिकल पंडित बता रहे हैं कि जितिन प्रसाद ब्राह्मणों को तारने के लिए बीजेपी में आएं हैं..मैं बहुत बड़ी पॉलिटिकल पंडित नहीं हूं लेकिन सीधी बात करती हूं..अगर जितिन प्रसाद ब्राह्मण स्पेलिस्ट के तौर पर ही बीजेपी में आए हैं तो सबसे पहले बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी का भी उत्ताथ करें..क्योंकि प्रदेश अध्यक्ष लेवल के ब्राह्मण नेता को खुद बीजेपी ने बर्फ में लगा रखा है…

-----

कांग्रेस के ब्राह्मण नेता जितिन प्रसाद को अगर यूपी में काम करना है तो ज्वाइनिंग लखनऊ में भी कराई जा सकती थी..योगी और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह उनको गुलदस्ता देकर और एक शॉल उढ़ाकर गले में बीजेपी का पट्टा डाल सकते थे..जितिन जी ने दिल्ली में ज्वाइन किया है..वही दिल्ली जिससे लखनऊ में बैठी सरकार का युद्ध चल रहा है..कहीं ऐसा ना हो जाए कि जितिन का हाल यूपी बीजेपी में एके शर्मा जैसा ना हो जाए..क्योंकि दिल्ली से आई हुई चिट्ठी और दिल्ली से आए हुए नेता को यूपी की सरकार पसंद थोड़ा कम करती है..बाकी आप बड़के वाले ब्राह्मण हैं..

-----

जितिन प्रसाद जी का मैं बहुत सम्मान करती हूं..वो अभी बीजेपी में शामिल हुए हैं..उनके बीजेपी में शामिल होने के बाद कांग्रेस के लोग और बीजेपी विरोधी बहुत गालियां बक रहे हैं..कोई कहता है बड़े वाले हरंटे हैं..इनको बीजेपी ने क्यों ले लिया..इनके बस का कुछ नहीं था..2014 हारे..2017 हारे..2019 हारे..पंचायत चुनाव में अपने घरी की महिला को नहीं जिता पाए..यही जितिन प्रसाद बंगाल में कांग्रेस प्रभारी थे..कौन सा प्रभार संभाला था भगवान जानें..

कांग्रेसी कहते हैं..अच्छा हुआ कांग्रेस से चले गए..जितने मुंह उतनी बातें..देखिए जितिन जी का नाम जितिन इसीलिए रखा गया होगा कि जितिन जी जीतते रहें..लेकिन वो हमेशा हारते रहे हैं..बीजेपी में जीतने के लिए ही गए हैं..कांग्रेसी समझ ही नहीं पा रहे हैं..मैं तो कहती हूं…जितिन जैसा नाम रखने के बाद अगर आप नहीं जीत पा रहे थे तो अच्छा किया कांग्रेस छोड़कर..बीजेपी में जाकर जीतना सीखिए..क्योंकि जीत के लिए देश को मरता छोड़ने की ट्रेनिंग उनको वहीं दी जा सकती है..

सवाल- जितिन प्रसाद कौन हैं ? Question- Who is Jitin Prasad?

जवाब- जितिन प्रसाद भारतीय राजनीतिज्ञ हैं जितिन प्रसाद ने कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ले ली है..जितिन प्रसाद पूर्व में भारत सरकार के अनेकों विभाग के मंत्री रह चुके हैं. 09 जून 2021 को जितिन प्रसाद ने भारत के रेल मंत्री तथा भाजपा के वरिष्ठ नेता पीयूष गोयल के समक्ष भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का दामन छोड़कर भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. Answer- Jitin Prasad is an Indian politician Jitin Prasada has left the Congress and has taken membership of the Bharatiya Janata Party. Jitin Prasada has been a minister in many departments of the Government of India in the past. On 09 June 2021, Jitin Prasada joined the Bharatiya Janata Party, leaving the Indian National Congress in front of the Railway Minister of India and senior BJP leader Piyush Goyal.

सवाल- जितिन प्रसाद के पिता का क्या नाम है ?
Question- What is the name of Jitin Prasad’s father?

-----

जवाब- जितिन प्रसाद के पिता का नाम जितेंद्र प्रसाद था. जितेंद्र प्रसाद सोनिया के खिलाफ चुनाव लड़े थे. जितेंद्र प्रसाद की राजनीतिक विरासत जितिन प्रसाद संभाल रहे हैं. Answer- Jitin Prasad’s father’s name was Jitendra Prasad. Jitendra Prasad had contested against Sonia. Jitin Prasad is handling the political legacy of Jitendra Prasad.

सवाल- जितिन प्रसाद की पत्ती का क्या नाम है ? Question- What is the name of Jitin Prasad’s wife?

जवाब- जितिन प्रसाद की पत्नी का नाम श्रीमती नेहा सेठ है. Answer- Jitin Prasad’s wife’s name is Mrs. Neha Seth.

सवाल- जितिन प्रसाद का धर्म क्या है और वो कहां के रहने वाले हैं. Question- What is Jitin Prasad’s religion and where is he from?

जवाब- जितिन प्रसाद का धर्म हिंदू है. वो ब्राह्मण हैं. जितिन प्रसाद मूल रूप से शाहजहां पुर के रहने वाले हैं..Answer- Jitin Prasad’s religion is Hindu. They are brahmins. Jitin Prasad is originally from Shahjahanpur.

डिस्क्लेमर- लेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. भाषा में व्यंग्य है. लेखक का मक्सद किसी पार्टी किसी व्यक्ति किसी सरकार किसी धर्म जाति किसी मानव किसी जीव या फिर किसी संवैधानिक पद का अपमान करना या उनके सम्मान को छति पहुंचाने का नहीं है.. इसलिए व्य्ग्य को व्यंग्य की तरह लें..लेख में सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. भाषा में स्थानीय या यूपी की रीजनल भाषा को सरल करके प्रस्तुत किया गया है. समझाने के लिए बात घुमाकर कही गई है.

34 thoughts on “जो जीतने के लिए देश को मरता छोड़ दें..जितिन प्रसाद वहां जीतना सीख सकते हैं : संपादकीय व्यंग्य

  • June 10, 2021 at 4:49 pm
    Permalink

    Ye bataie pandit log hi BJP ka virodh kyu kar rahe h khulle me ….jaise example – RAVISH KUMAR , PRGYA MISHRA , POONYA PRSOON BAJPEYI , BRIJESH MISHRA , ABHISHAR SHARMA ,
    kyu koi thakur maurya banie nahi h virodh me kya srf pandito ki vjha se jeet gayi bjp ??

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:33 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर अपने महान विचारों से हमें अवगत कराया इसके लिए हम आपका आभार व्यक्त करते हैं..और हर तरह के विचारों का स्वागत करते हैं..

      Reply
  • June 10, 2021 at 5:21 pm
    Permalink

    जितिन प्रसाद को देश सेवा करने आए योग्यता क्या है इनकी

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:33 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर अपने महान विचारों से हमें अवगत कराया इसके लिए हम आपका आभार व्यक्त करते हैं..और हर तरह के विचारों का स्वागत करते हैं..

      Reply
  • June 10, 2021 at 7:19 pm
    Permalink

    I want to talk to you. It’s urgent. Please reply me please 🙏

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:32 pm
      Permalink

      मेल कीजिए सर

      Reply
  • June 10, 2021 at 8:00 pm
    Permalink

    ये जो बीजेपी वाले ब्राह्मण चेहरा जितिन प्रसाद को लाए है ये कोई बहुत बड़े तीस मार खा नहीं है इन्होंने कभी चुनाव में शायद जनता की सेवा की ही नहीं नहीं तो ये अपना घर नहीं हार जाते बाकी बीजेपी में जाने से इनका वजूद भी खतम हो जायेगा।
    हमने तो आजतक जितिन प्रसाद का नेम ही नहीं सुना है
    ये मीडिया वाले इतना प्रोपेगेंडा रचे हुए है।

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:32 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर अपने महान विचारों से हमें अवगत कराया इसके लिए हम आपका आभार व्यक्त करते हैं..और हर तरह के विचारों का स्वागत करते हैं..

      Reply
  • June 10, 2021 at 8:40 pm
    Permalink

    PRYGYA JI…APKI PATRKARITA TO DIL SE SALAM…AAP JAISE NIDAR PATRKAR KAM HI BACHE HAI DESH ME…KEEP IT UP.

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:32 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर अपने महान विचारों से हमें अवगत कराया इसके लिए हम आपका आभार व्यक्त करते हैं..और हर तरह के विचारों का स्वागत करते हैं..

      Reply
  • June 10, 2021 at 10:34 pm
    Permalink

    Ham iti ke student hai ham log Ka 2020 June me hi session khatam hua abhi tak ham log Ka exam nahi karaya gaya. Ham log tweet bhi kiye dgt ko koi kuch Jawab nahi deta hai. Aap ham log ke liye bhi boliye.

    Thanks

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:29 pm
      Permalink

      जरूर मैंने आप लोगों की आवाज कई बार उठाई है..आगे भी उठाऊंगी

      Reply
  • June 10, 2021 at 10:41 pm
    Permalink

    Medam aapka YouTube pr post sabse pehale mai dekhata hu par aap se anurodh hai ki UP tak aap nhi rahiye hamare jharkhand ke khabar dikhane ki kirpa kare
    Apka bahut bahut dhanvad

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:29 pm
      Permalink

      आपका बहुत बहुत आभार संतोष जी

      Reply
  • June 11, 2021 at 12:08 am
    Permalink

    Your presentation of facts have always been very super timely and accurate which is need of hour. Seems on motivation of you voices Goddess of Justice have stepped up to save The nation because power galleries are busy as usual to empower their throne. We salute your wisdom.

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:27 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर अपने महान विचारों से हमें अवगत कराया इसके लिए हम आपका आभार व्यक्त करते हैं..और हर तरह के विचारों का स्वागत करते हैं..

      Reply
  • June 11, 2021 at 6:40 am
    Permalink

    Aisa lgta h y log kuch or time tk ager satta m rhe to rajtantra phir se havey ho jayga
    Or rha saval kisi k favour ka to abhi 2022 ka up election ane do phir deko y log kaise apna vote bnk pane k lia hindu muslim krvate h
    Do char molanao ko bitha denge TV pr debet m hindu ko gali dene k lia bssss phir ho gya kam nasmjh log phir se modi yogi k andhbkat bn jaye
    BJP is failed

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:26 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर अपने महान विचारों से हमें अवगत कराया इसके लिए हम आपका आभार व्यक्त करते हैं..और हर तरह के विचारों का स्वागत करते हैं..

      Reply
  • June 11, 2021 at 8:03 am
    Permalink

    you are true media
    god bless mam

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:26 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर अपने महान विचारों से हमें अवगत कराया इसके लिए हम आपका आभार व्यक्त करते हैं..और हर तरह के विचारों का स्वागत करते हैं..

      Reply
  • June 11, 2021 at 10:08 am
    Permalink

    Your website unsafe bata rahe hai.

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:26 pm
      Permalink

      हां जानते हैं सर..

      Reply
  • June 11, 2021 at 11:25 am
    Permalink

    प्रज्ञा जी आप का मेरा प्रणाम मैं बिहार से आते है। यहां जेडीयू एवं बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना है 2020 के चुनाव में अपने मेनोफ्टो में बिहार युवा को बीस लाख नौकरियां देने का वायदा किया था। आज तक कुछ एनडीए सरकार फैसले नहीं लिया।2015 में हमसब 21000 हजार ग्रामीण चिकित्सकों के बिहार सरकार ने एनआईओएस एवं बिहार राज्य स्वास्थय समिति के तत्वावधान में पीएचसी अस्पताल में एक साल का सीसीएच कोर्स का प्रशिक्षण करवाया गया जिसमें 15000 हजार सफल हुए और नितीश कुमार जी बोले कि आप लोगो को स्वास्थ्यकर्मी दर्जा देकर नियुक्त किया जाएगा। सरकार ने अभी तक हमलोगो का नियुक्त किया। मेरा सवाल है कि इस मुद्दे को मिडिया में उठाये। आप सच्चे, ईमानदार एवं निर्भिक पत्रकार हैं।

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:23 pm
      Permalink

      जरूर

      Reply
  • June 11, 2021 at 2:22 pm
    Permalink

    didi aap humesha sahi khabre hum tak pahuchate hai…salut hai aap par
    didi aap padhe likhe hai. meri ek request hai. bahot se log muslimo ko badnaam karna chahte hai jo bilkul galat hai… aapse ek guzarish hai aap humare nabi hazrat muhammad sallallahu alaihi wasallam ki zindagi ki study kare or sab ko bataye islam kya kehta hai…🙏🙏 upper wala humesha har muskil musibat se apki hifazat kare

    Reply
    • June 11, 2021 at 3:22 pm
      Permalink

      धन्यवाद

      Reply
      • June 15, 2021 at 1:32 pm
        Permalink

        बीजेपी विपक्ष को हराकर नहीं तोड़कर सरकार बनाती है। 2 सीटों से 300 सीटों तक ये ऐसे ही पहुंचे हैं। इतिहास गवाह है कि बीजेपी ने अबतक बहुत पार्टियों से गठबंधन किया और बहुत को तो निगल ही लिया। जितिन प्रसाद से कांग्रेस को सीधे तौर पर शायद ही कोई फर्क पड़े लेकिन जनता को एक संदेश जरूर देने की कोशिश हुई है कि कोई कांग्रेस में रहना नही चाहता। बाकी इनके लिए देश नहीं जेब जरूरी है।

        Reply
  • June 11, 2021 at 4:09 pm
    Permalink

    Madam
    We appeal you to raise our voice against pwd deptt here is too much corruption so we want the contracts should be given to the contractors of other states. Contractors should not be of home state and the work should be superwised under any retired army officers.

    Reply
  • June 12, 2021 at 6:24 pm
    Permalink

    आप बोल रही है कि तीसरी लहर‌ आने वाली है आप ्। को मालूम है यह कोरोना का बहाना बनाकर सरकार आम आदमी के साथ धोखा करती है आने वाला कल किसी को‌ मालुम है
    सरकार यह फालतू बात करती है आप सब को ऐसा नहीं बोलना चाहिए
    इसका‌ जवाब जरूर देना
    9519581688‌ call
    7618906178 WhatsApp

    Reply
  • June 13, 2021 at 5:40 pm
    Permalink

    First of all I want to say superb blog!
    I had a quick question which I’d like
    to ask if you don’t mind. I was curious to
    find
    out how you center yourself and clear your thoughts
    prior to writing. I have had difficulty clearing my mind in getting my thoughts out.

    I truly do take pleasure in writing however it just seems like the first 10
    to 15 minutes are generally lost just trying to
    figure out how to begin. Any suggestions or hints?
    Cheers!

    Reply
    • June 14, 2021 at 9:51 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर कमेट किया है..हम आपके समय और सार्थक विचारों की सराहना करते हैं..

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *