पाकिस्तान ने 44 आतंकियों को किया गिरफ्तार, मसूद अजहर का बेटा-भाई भी शामिल, देखें लिस्ट-

पाकिस्तान में मंगलवार को आतंकियों पर बड़ी कार्यवाही करते हुए जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर के भाई और बेटे समेत 44 आतंकियों को हिरासत में लिया है. इससे भारत में तो नहीं मगर पाकिस्तान में हड़कंप मच गया है.

jaish e mohammad chief masood azhar brother rauf asghar and 44 terrist detains
jaish e mohammad chief masood azhar brother rauf asghar and 44 terrist detains

पाकिस्तान के गृह मंत्री शहरयार खान आफरीदी ने मीडिया के सामने आ कर इस बात की जानकारी दी है. आफरीदी ने कहा, एक छापामारी के दौरान जैश के 44 सदस्यों को हिरासत में लिया गया है. जिसमें अजहर का भाई मुफ्ती अब्दुर रऊफ और हम्माद अजहर भी शामिल हैं. इसके साथ ही आफरीदी ने ये भी कहा की किसी तरह के दबाव में ये कड़ी कार्रवाई नहीं की गई, बल्कि सभी प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ कार्रवाई के लिए बनाए गए राष्ट्रीय एक्शन प्लान के तहत ये कदम उठाया गया है.

पाक सरकार ने आतंकी निरोध एक्ट-1997 के तहत मुंबई हमले के आरोपी आतंकी हाफिज सईद के संगठनों जमात उद दावा और फलाह-ए-इंसानियत पर प्रतिबंध लगा दिया है. पाकिस्तानी गृह मंत्री शहरयार ने ये भी कहा की हिरासत में लिए गए कथित आतंकियों के खिलाफ उपलब्ध सबूतों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी. अब यहाँ एक बात जरूर ध्यान दीजियेगा, सबूतों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी अगर सबूत नहीं मिले तो पकड़े गए आतंकियों को छोड़ दिया जायेगा. क्युकी ऐसा पहले भी पाकिस्तान कर चुका है.

इस समय पाकिस्तान सरकार पर वैश्विक दबाव है. अगर इमरान सरकार ने आतंकियों पर कोई एक्शन नहीं लिया तो पाकिस्तान विश्व भर में ब्लैक लिस्टेड हो सकता है. और जिसके बाद उसे विदेशों से मिलने वाला फंड बंद हो जायेगा और फिर पाकिस्तान मुश्किल में आ सकता है. इसलिए ये सब महज़ एक दिखावा है. कुछ दिन बाद पाकिस्तान खुद इन सभी आतंकियों को छोड़ देगा.

पाकिस्तान सरकार के राष्ट्रीय आतंकवाद रोधी प्राधिकरण (एनसीटीए) की वेबसाइट के मुताबिक, जेयूडी और एफआईएफ संगठन आतंकवाद रोधी अधिनियम 1997 की दूसरी अनुसूची की धारा 11-डी-(1) के तहत गृह मंत्रालय की निगरानी में हैं. एनसीटीए की साईट पर अब तक 70 संगठन निगरानी में हैं. जिनकी लिस्ट आपके सामने है.