बाबा जगतगुरु परमहंस (Jagadguru Paramhans) पर हिंदुस्तान शर्मिंदा है,जल समाधि लेने निकल पड़ा..

बाबा जगतगुरु परमहंस (Jagadguru Paramhans) दो अक्टूबर को तुम डूब मरना..और तुम्हारे जैसे समाज को तोड़ने वाले बाबाओं को सरयू में नहीं सड़क किनारे वाले नाले में डूब मरना चाहिए..तुम जैसे बाबाओं को जल समाधि नहीं…चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए..इस बाबा का नाम जगत गुरू परमहंस है..मानवता का बंटवारा करने वाला आदमी जगद गुरू हो ही नहीं सकता..फिर से सुनिए बाबा को फिर इस बगुला भगत के बारे में आगे बात करेंगे..

इस बाबा जगतगुरु परमहंस (Jagadguru Paramhans) का कहना है कि भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाया जाए.. अगर 2 अक्टूबूर तक ऐसा नहीं होता है तो ये जल समाधि ले लेंगे..बाबा के इस मंद बुद्धि वाले बयाने के बाद लोगों ने क्या कहा वो भी सुनते चलिए..उत्तर प्रदेश की तेज तर्रार पत्रकार प्रज्ञा मिश्रा ने बाबा की समाधि के बारे में कहा कि बाबा लेकिन समाधि ध्यान से ले जरूर लेना..
किनारे में उतारने से आपका संकल्प पूरा न हो पाएगा..पत्रकार विनोद कापड़ी ने लिखा..जल समाधि की प्रतीक्षा रहेगी , टीवी वाले ध्यान दें …पौने दो आंख वाले एक यूजर ने लिखा कि जल समाधी की ढेरों शुभकामनाएं, समय व्यर्थ ना करें… इसी तरह से हजारों लाखों लोगों ने परमहंस (Jagadguru Paramhans) के इस मूर्खतापूर्ण बयान पर परमहंस को लताड़ लगाई है..

पत्रकार अजीत अंजुम ने लिखा.. प्राण जाए पर वचन न जाए..बस वाटर लेवल चेक कर लीजिएगा महाराज जी..घाट से 20/25 फिट आगे बढ़ जाइएगा ताकि सटाक से समाधि हो पाए ..

कुछ महीने पहले संत परमहंस (Jagadguru Paramhans) ने हिन्दू राष्ट्र को लेकर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को पत्र भी भेजा था उसके बाद आत्मदाह का एलान किया था लेकिन, चिता वाली नौटंकी से पहले ही पुलिस पहुंच गई थी..इस बार भी बाबा को मालूम है कि पुलिस ने नौटंकी करने करने नहीं देगी..इसलिए मीडिया में चाहे जैसे ऊल जलूल बयान देते रहो..सुर्खियों में बने रहे..बाबा लोग आचार्य लोग ऐसी नफरती सोच के कट्टर नहीं होते..सम्पूर्ण मानव कल्याण की कामना करते हैं..भारत के संविधान को सम्मान देते हैं..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *