भारत सरकार ने इन चीनी उपकरणों पर लगाई रोक, देशभर में चीन के खिलाफ ज़ोरदार प्रदर्शन

गलवन घाटी के घटनाक्रम ने भारत-चीन के रिश्तों में चल रहे गहरे तनाव के बाद भारत सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है. केंद्र सरकार ने देश में 4जी के क्रियान्वयन के लिए इस्तेमाल होने वाले चीनी उपकरणों पर रोक लगा दी है.

indian government decision prohibited use of chinese equipment
indian government decision prohibited use of chinese equipment

रोक के लिए सरकार ने संचार विभाग और सरकारी टेलीकॉम कंपनियों बीएसएनएल और एमटीएनएल को भी निर्देश दे दिए हैं. वहीं सरकार निजी कंपनियों के ऑपरेटरों को भी ये निर्देश देने के लिए कदम उठा रही है, ताकि चीन के उपकरणों पर उनकी निर्भरता को कम किया जा सके. दरअसल चीनी कंपनियों द्वारा बनाए गए उपकरणों की नेटवर्क सुरक्षा चिंता का विषय है. चीन की कंपनियों को रोकने के लिए नए टेंडर निकाले जाएंगे.

देश में चीन के सामान के बहिष्कार को लेकर विरोध और तेज हो गए हैं. सोशल मीडिया में चीनी ब्रांडों के खिलाफ पोस्ट की जाने लगी है. सोशल मीडिया पर #BoycottChineseProducts ट्रेंड करने लगा है. दिल्ली, अहमदाबाद, कश्मीर, वाराणसी में चीन के खिलाफ प्रदर्शन किए गए हैं. दिल्ली में चीनी दूतावास के बाहर स्वदेशी जागरण मंच के सदस्यों और कुछ पूर्व सैनिकों ने विरोध प्रदर्शन किया. लोगों ने चीन के खिलाफ कार्रवाई किए जाने और चीनी उत्पादों के बहिष्कार की मांग की.

भारत में भारी विरोध प्रदर्शन देखते हुए प्रमुख चीनी कंपनियों ने भारत में काम करने वाले अपने कर्मचारियों लिए एडवाइजरी जारी की है. एडवाइजरी के मुताबिक, कर्मचारी सार्वजनिक स्थानों पर ना जाएं और सीमा पर तनाव कम होने तक सावधान रहें. एक कंपनी के एग्जिक्यूटिव ने कहा कि कर्मचारियों को सोशल मीडिया पोस्ट से भी बचने को कहा गया है.

वहीं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अमेरिका, ब्रिटेन समेत कई देशों ने इस मामले पर शांति की अपील की है. और चीन के कट्टर दुश्मन ताइवान में वहां की एक न्यूज वेबसाइट ने फोटो ऑफ द डे में ऐसी तस्वीर को चुना है जिसमें भगवान राम द्वारा चीनी ड्रैगन को मारते हुए दिखाया गया है. बतादें कि हांगकांग में चीन के खिलाफ इस वक्त जबरदस्त प्रदर्शन हो रहा है वहीं ताइवान और चीन के रिश्तों में भी कड़वाहट बढ़ती जा रही है.