इंडियन आर्मी ने किया सावधान, दिए-मोमबत्ती जलाने से पहले इन बातों का रखें ध्यान, देखें-

देश की जनता कोरोना वायरस के खिलाफ मिलकर जंग लड़ रही है. इस बड़ी महामारी का अंधकार मिटाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 5 अप्रैल की रात नौ बजे नौ मिनट तक लाइट बंद रखने और मोमबत्ती, मोबाइल फ्लैश लाइट या फिर टॉर्चलाइट जलाने की अपील की है.

indian army advisory to candles lighting diyas coronavirus
indian army advisory to candles lighting diyas coronavirus

इसके बाद आज ही रविवार को पूरे देश में दीए जलाए जायेंगे. लेकिन दिया जलाने से पहले आपको कौन सी सावधानी बरतने की जरूरत है. इसकी जानकारी भारतीय सेना ने एक एडवाइजरी जारी कर देशवासियों को दी है. सेना ने देशवासियों को सावधान करते हुए अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा कि 5 अप्रैल को रात नौ बजे जब कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में एकजुटता दिखाने के लिए दीया या मोमबत्तियां जलाएं तो हमें इस दौरान थोड़ी सावधानी बरतनी है.

बालकनी, दरवाजे पर दीप या मोमबत्ती जलाने से पहले अपने हाथों को धोने के लिए साबुन का उपयोग करें. दीप और मोमबत्ती जलाने से पहले सैनिटाइजर का इस्तेमाल न करें, क्योंकि इसमें अल्कोहल की मात्रा होती है. बतादें कि कोरोना वायरस के खतरे से बचने के लिए लगातार सैनिटाइजर का प्रयोग हो रहा है. सैनिटाइजर में अल्कोहल होता है. किसी में अल्कोहल की मात्रा ज्यादा भी होती है. अल्कोहल ज्वलनशील होता है. जिससे आग लगने की संभावना भी ज्यादा होती है.

इसी को देखते हुए इंडियन आर्मी में देश की जनता को पहले ही सावधान कर दिया है. जिससे दीप जलाने से पहले किसी तरह की अनहोनी न हो. मालूम हो की सोशल मीडिया पर भी 2-3 वीडियो वायरल हुए हैं जिसमें सैनिटाइजर से हाँथ जलते हुए दिखाए गए हैं.

बहुत लोग सोच रहे हैं कि दिया जलाने से कुछ नहीं होता क्या इससे कोरोना ख़त्म हो जायेगा ? नहीं इससे कोरोना नहीं ख़त्म होगा. ये सिर्फ देश में एकजुटता दिखाने के लिए किया जा रहा है. लोग टॉर्च और मोबाइल की रोशनी या दिए जला कर अपने पड़ोसियों को और आसपास के लोगों को ये संदेश देते हैं कि वो ठीक हैं. इससे सभी लोगों का मनोबल और बढ़ जाता है. उनके अंदर का डर दूर होता है. और डर इस बीमारी का अंत नहीं है. इसको मिलकर ही ख़त्म किया जा सकता है.

ऐसा करने से लॉकडाउन में एक दूसरे से कट चुके लोगों की समाजिकता का ताना बाना भी बना रहता है. लोगों के मन में एक अलग ही ख़ुशी देखने को मिलती है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *