क्रिकेट पर कोरोना का कहर, अब 15 अप्रैल से शुरू होगा IPL, भारत- द. अफ्रीका के बीच 2 वनडे रद्द

कोरोना वायरस की वजह से पूरी दुनिया दहशत में है. भारत में भी इसका बड़ा असर पड़ रहा है. देश भर में होने वाले कई बड़े से लेकर छोटे सभी कार्यक्रम और रैलियां रद्द कर दी गई हैं. इतिहास में पहली बार खेल जगत में भी इस वायरस का असर देखने को मिलेगा.

india vs south africa odi matche and ipl 2020 postponed due to coronavirus
india vs south africa odi matche and ipl 2020 postponed due to coronavirus

आज तक पहले कभी खेल की दुनिया में ऐसे हालत देखने को नहीं मिले थे. जो इस साल 2020 में देखने को मिल रहे हैं. कोरोना वायरस की वजह से भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच होने वाले दूसरे और तीसरे वन-डे मुकाबले को रद्द कर दिया गया है. क्युकी क्रिकेट की दुनिया में शुक्रवार को ऐसे मैच हुए जहां खेलने के लिए खिलाड़ी तो मौजूद थे, लेकिन उनका समर्थन करने वाले दर्शक मौजूद नहीं थे.

वन-डे सीरीज का दूसरा मैच 15 मार्च को लखनऊ, जबकि 18 मार्च को तीसरा मुकाबला कोलकाता में खेला जाना था. बीसीसीआई ने बयान जारी करते हुए कहा- दक्षिण अफ्रीका टीम बाद में 3 वनडे की सीरीज खेलने के लिए भारत आएगी. जल्द ही दोनों बोर्ड बदला हुआ कार्यक्रम जारी करेंगे.

वहीं कोरोना वायरस की वजह से आईपीएल पर भी इसका असर देखने को मिला है. आईपीएल की तारीखों को आगे बढ़ा दिया गया है. अब आईपीएल का आयोजन 29 मार्च की जगह 15 अप्रैल से होगा. बीसीसीआई ने इसकी आधिकारिक पुष्टि करते हुए जानकारी साझा की. सभी फ्रेंचाइजियों को भी इसकी जानकारी दे दी गई है.

इससे पहले बुधवार को भारत सरकार ने एक बड़ा आदेश जारी किया था. इसके मुताबिक, 13 मार्च को शाम 5.30 बजे से अगले 35 दिन यानी 15 अप्रैल तक के लिए दुनिया के किसी भी देश के हर व्यक्ति के वीजा रद्द कर दिए गए हैं. सिर्फ डिप्लोमैटिक और एम्प्लॉयमेंट वीजा को छूट दी गई है. लेकिन भारत में रह रहे सभी विदेशियों के वीजा वैध बने रहेंगे. तो ऐसे में विदेशी खिलाडियों का भी भारत आ पाना मुश्किल था. संभावना जताई जा रही है कि 15 अप्रैल तक कोरोना वायरस का असर कम हो जायेगा.

भारत सरकार ने साफतौर पर कहा है कि अगर जरूरी न हो तो भारतीयों को विदेशों में जाने से बचना चाहिए. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने स्वास्थ्य और शोध विभाग के साथ मिलकर संक्रमण की जांच के लिए देशभर में 52 लैब बनाई हैं. इसके साथ ही हर राज्य ने अपने अलग अलग हेल्पलाइन नंबर भी जारी किये हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *