ऑक्सीजन की कमी से थम रहीं सांसें, हाईकोर्ट ने कहा- सप्लाई में रुकावट डालने वाले को चढ़ा देंगे फांसी

कोरोना वायरस के कारण हो रही ऑक्सीजन की कमी से उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों की हालत खराब हो गई है. दिल्ली में ऑक्सीजन न होने का आज पांचवा दिन है. स्थिति इतनी बिगड़ गई है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों से मदद की गुहार लगाई है.

कोरोना से पंजाब का हाल

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रदेश की लोहा और स्टील इंडस्ट्री में काम रोकने के आदेश दिए. ताकि ऑक्सीजन का मेडिकल तौर पर इस्तेमाल किया जा सके. इसके अलावा उन्होंने राज्य और जिला स्तर पर ऑक्सीजन कंट्रोल रूम बनाने के भी आदेश दिए. यहाँ ऑक्सीजन की कमी से अमृतसर के फतेहगढ़ चूड़ियां बाईपास रोड स्थित नीलकंठ अस्पताल में छह लोगों ने दम तोड़ दिया था. नीलकंठ अस्पताल के एमडी का कहना है कि हम पिछले 48 घंटे से ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं. पंजाब में कोरोना के कारण हालात बिगड़ते जा रहे हैं.

-----

कोरोना से दिल्ली का हाल

-----

दिल्ली में एम्स अस्पताल में इमरजेंसी सेवाएं सामान्य हैं. इसे सिर्फ एक घंटे के लिए बंद किया गया था क्योंकि गंभीर मरीजों की संख्या बढ़ने के चलते ऑक्सीजन की पाइपलाइन की सेटिंग करनी थी ताकि नए मरीजों को भी अबाध रूप से ऑक्सीजन की आपूर्ति होती रहे. जीटीबी अस्पताल में नए मरीजों की भर्ती बंद कर दी गई है. बेड की संख्या भी घटाकर 700 कर दी गई है. अस्पताल लगातार ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों से मदद की गुहार लगाई है. उन्होंने कहा कि हम सभी मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिख रहे हैं और उनसे अनुरोध कर रहे हैं कि अगर उनके पास अतिरिक्त ऑक्सीजन है तो वे दिल्ली को प्रदान करें. कोरोना से स्थिति बेहद खराब हो गई है और सभी उपलब्ध संसाधन अपर्याप्त साबित हो रहे हैं.

कोरोना से यूपी का हाल

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी निर्देश दिया है कि प्रदेश के ऐसे सभी हॉस्पिटल जहां कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है सभी दिन में दो बार अस्पताल में रिक्त बेड का विवरण सार्वजनिक करें. ये विवरण जिले के इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर के पोर्टल पर भी अपलोड कराया जाए. बेड का आवंटन पूरी पारदर्शिता के साथ किया जाना चाहिए. सभी जिला प्रशासन इस व्यवस्था को तत्काल  प्रभाव से लागू कराएं.

सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति कराई जा रही है. बोकारो से भारतीय रेल की विशेष ‘ऑक्सीजन रेल’ उत्तर प्रदेश पहुंच चुकी है. मोदीनगर, काशीपुर, पानीपत और रुड़की प्लांट से भी प्रदेश को ऑक्सीजन आपूर्ति हो रही है. इस ऑक्सीजन का पारदर्शिता के साथ सुचारू वितरण कराया जाए.

-----

हाईकोर्ट ने लगाई फटकार

ऑक्सीजन की कमी पर दिल्ली हाईकोर्ट नाराज है. हाईकोर्ट ने कहा कि अगर कोई केंद्र सरकार, राज्य सरकार या फिर स्थानीय प्रशासन के किसी अधिकारी ने ऑक्सीजन सप्लाई में रुकावट डाली तो उसे फांसी पर चढ़ा देंगे. हम किसी को बख्शेंगे नहीं. हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा, दिल्ली को हर दिन 480 मीट्रिक टन ऑक्सीजन अलॉट करने की बात हकीकत कब बनेगी ? जबकि आपने 21 अप्रैल को ये भरोसा दिया था. कोर्ट ने कहा कि हम ये बात समझते हैं कि किसी करीबी को खोने पर लोग कैसे रिएक्ट करते हैं. इसे कानून व्यवस्था का मसला न बनने दें.