उद्योगों को खोलने के लिए गृह मंत्रालय ने जारी की नई गाइडलाइन, रखना होगा विशेष ध्यान

लॉकडाउन खत्म होने के बाद बंद पड़े उद्योगों के शुरू होने को लेकर सरकार ने नई गाइडलाइन जारी कर दी है. देश में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सम्पूर्ण लॉकडाउन लागू किया गया है. इस कारण विनिर्माण उद्योगों पर भी रोक लगी हुई है.

home ministry issues guidelines on restarting manufacturing industries after lockdown
home ministry issues guidelines on restarting manufacturing industries after lockdown

लॉकडाउन के दौरान और बाद में मैन्यूफैक्चरिंग कंपनियों में उत्पादन फिर से शुरू करने के लिए विशाखापत्तनम घटना के मद्देनजर दिशा-निर्देश जारी किए हैं. राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के सदस्य सचिव जीवीवी सरमा ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को दिशा-निर्देशों का विवरण देते हुए एक पत्र लिखा है.

नई गाइडलाइन-
  • किसी भी यूनिट में काम शुरू होने के पहले हफ्ते को ट्रायल या टेस्ट रन माना जाए.
  • कारखानों में सुरक्षा उपायों को सुनिश्चित किया जाए.
  • किसी भी रूप में ज्यादा उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित न करें.
  • कोई कर्मचारी जिस भी मशीन/उपकरण पर काम कर रहा हो, उसका सैनिटाइजेशन किया जाए.
  • सुनिश्चित करें कि मशीन/उपकरण में कहीं कोई तार खुला न हो, लीकेज न हो और खतरे के संकेत न मिलें.
  • सभी प्रकार के सुरक्षा और प्रोटोकॉल का पालन किया जाए.
  • कंपनियों को लॉकडाउन के बाद पहले ही हफ्ते से ज्यादा उत्पादन के लक्ष्यों को हासिल करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए.
  • कारखानों को हर दो-तीन घंटे में साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी.
  • श्रमिकों के आवास और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए साफ-सफाई की जानी चाहिए, जिससे वायरस से प्रसार पर रोक लगाई जा सके.
  • फैक्ट्री में दोबारा काम शुरू करने के पहले सभी उपकरणों को जांच लें, सुरक्षा प्रोटोकॉल का ध्यान रखें.
  • सभी कर्मचारियों का दिन में दो बार हेल्थ चेकअप होना चाहिए, वर्कर्स को अगर लक्षण हैं तो उन्हें काम पर नहीं आना चाहिए.
  • सभी फैक्ट्रीज और मैन्युफैक्चरिंग यूनिट में ग्लब्स, मास्क और हैंड सैनिटाइजर उपलब्ध कराया जाए.
  • फैक्ट्री परिसर में आने वाले सभी बॉक्स और अन्य सामानों सैनिटाइजेशन जरूरी है.
  • काम के दौरान टूल्स और वर्कस्टेशन कोई साझा न करे। जरूरत पड़ने पर अतिरिक्त टूल्स मुहैया कराएं जाएं.