तीन चरणों में अनलॉक होगा पूरा देश, नाइट कर्फ्यू रहेगा जारी, जानें कब क्या खुलेगा-

केंद्र सरकार ने देश को लॉकडाउन से अनलॉक करने के लिए तीन चरणों की योजना बनाई है. पहला चरण 8 जून से लागू होगा और दूसरा चरण जुलाई से, तीसरे अनलॉक फेज के बारे में अभी कुछ नहीं बताया गया है.

home ministry extends lockdown for one month new guidelines
home ministry extends lockdown for one month new guidelines

केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी गाइडलाइन के मुमताबिक 8 जून के बाद से धार्मिक स्थल/इबादत की जगहें, होटल, रेस्टोरेंट और हॉस्पिटैलिटी से जुड़ी सर्विसेस, शॉपिंग मॉल्स ये जगहें कुछ नियमों के साथ खुल सकेंगी. इसके लिए शारीरिक दूरी और मास्क पहननना जरूरी होगा.

दूसरे फेज में स्कूल, कॉलेज, एजुकेशन, ट्रेनिंग और कोचिंग इंस्टिट्यूट खुल सकेंगे लेकिन इनके बारे में राज्य सरकारें स्कूलों और बच्चों के माता-पिता से बात करने के बाद ही कोई फैसला लेंगी. हालांकि जुलाई में ही तय होगा कि स्कूल खोले जानें हैं या नहीं.

तीसरे फेज में इंटरनेशनल फ्लाइटों, मेट्रो रेल सेवाओं, सिनेमा हॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल और इनके जैसी बाकी जगहों को आम लोगों के लिए खोने जाने की बात कही गई है. इसी चरण में सामाजिक, राजनीतिक रैलियां, स्पोर्ट्स इवेंट, अकादमिक और सांस्‍कृतिक कार्यक्रम, धार्मिक समारोह और बाकी बड़े जमावड़े शुरू किए जाने की बात है. हालाँकि तीसरे अनलॉक फेज के बारे में अभी कुछ नहीं बताया गया है की कब से खोला जायेगा.

इन बातों का रखना होगा विशेष ध्यान-

यात्रा के दौरान या किसी पब्लिक प्लेस पर मास्क लगाना जरूरी होगा, पब्लिक प्लेस पर दो लोगों के बीच छह फीट (दो गज) की दूरी जरूरी होगी. बड़ी संख्या में भीड़ इकट्‌ठा होने पर मनाही रहेगी, शादी समारोह में 50 और अंतिम संस्कार में 20 लोग ही जुट सकेंगे, पब्लिक प्लेस पर थूकने पर जुर्माना लगेगा, जितना ज्यादा संभव हो सके, वर्क फ्रॉम होम को तरजीह दी जाए, कॉमन एरिया में सभी एंट्री और एग्जिट प्वांइट पर थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था करनी होगी, ह्यूमन टच में आने वाली सभी जगहों जैसे दरवाजों के हैंडल को लगातार सैनिटाइज करते रहना होगा, वर्क प्लेस पर सभी इम्प्लॉइज को सोशल डिस्टेंसिंग रखनी होगी.

1 जून से बड़ी राहत यह मिलने जा रही है कि अब लोग एक राज्य से दूसरे राज्य में जा सकेंगे. अपने राज्य के अंदर भी आवाजाही कर सकेंगे. गाइडलाइंस में साफ कहा गया है कि आवाजाही के लिए अलग से किसी मंजूरी या परमिट की जरूरत नहीं होगी.

वहीं रात 9 बजे से सुबह 5 बजे के बीच जरूरी सेवाओं को छोड़कर किसी भी तरह के मूवमेंट की इजाजत नहीं होगी. इस पर सख्ती से पाबंदी रहेगी. 65 साल से ज्यादा उम्र के लोगों, किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे लोगों, गर्भवती महिलाओं और 10 साल से कम उम्र के बच्चों को जरूरी और मेडिकल जरूरतों को छोड़कर घर पर रहने की सलाह दी जाती है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *