भारत में कोरोनावायरस के 29 मामले, मास्क-सैनिटाइजर की मांग बढ़ी, आप भी रहें सतर्क

चीन में फैला कोरोनावायरस पूरी दुनिया के लिए मुसीबत बनता जा रहा है. भारत में इसका बड़ा असर देखने को मिल रहा है. भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 29 हो गई है.

health minister harsh vardhan confirmation of 29 infected coronavirus
health minister harsh vardhan confirmation of 29 infected coronavirus

ताजा मामला साइबर सिटी के पेटीएम कार्यालय का है जहाँ कार्यरत दिल्ली के जनकपुरी निवासी अभिषेक कुमार में कोरोना वायरस की पुष्टि हो गई है. वे हाल ही में इटली से लौटे हैं. बाकी के 28 संक्रमित लोगों में 12 भारतीय और 16 विदेशी शामिल हैं. 12 भारतीयों में से तीन को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है. बाकी 9 मरीजों में दिल्ली, तेलंगाना और जयपुर में एक-एक शामिल हैं. सभी को आईटीबीपी के छावला कैंप में रखा गया है.

गुरुग्राम के सीएमओ डॉ. जसवंत सिंह पूनिया ने पेटीएम के कर्मचारी में कोरोना वायरस की पुष्टि की है. वहीं अब जिस इलाके में पेटीएम का कार्यालय है उस इलाके के सभी लोगों के स्वास्थ्य की जांच बृहस्पतिवार को की जाएगी. कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग हर स्तर पर तैयार है. उधर पेटीएम के प्रवक्ता ने बताया कि कर्मचारियों की सुरक्षा को देखते हुए सभी को अपने घर से ही काम करने की सलाह दी गई है. इससे कंपनी के काम के ऊपर कोई असर नहीं पड़ेगा. इस दौरान पूरे दफ्तर को सैनिटाइज किया जाएगा

देश में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार 19 नई लैबोरेटरी शुरू करने जा रही है. ईरान में फंसे जो भारतीय देश लौटना चाहते हैं, उनकी जांच के बाद सरकार वहीं लैब बनाएगी. इसके लिए चार वैज्ञानिक तेहरान भेजे जा रहे हैं. वहीं सरकार ने अब सभी देशों से आने वाली उड़ानों और उनमें सवार यात्रियों की एयरपोर्ट पर ही स्क्रीनिंग करने का फैसला किया है.

कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐलान किया है कि वे इस बार होली के कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे. इस वायरस से बचने के लिए आम लोगों में भी इसे लेकर सतर्कता बढ़ती जा रही है. देश में स्कूल से लेकर बाजार तक में हर कोई मास्क पहनकर घूम रहा है. लोग सार्वजनिक स्थलों पर जाने के दौरान काफी सतर्कता बरत रहे हैं.

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से कहा कि वे अपने यहां के स्कूलों में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए कारगर कदम उठाएं और संबंधित दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन कराएं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *