अयोध्या की हनुमान गढ़ी में रोज शाम 4 बजे आते हैं ‘हनुमान’.. इसी गद्दी पर बैठते हैं

Ulta Chasma Uc  :  श्रीराम नगरी अयोध्या के हनुमान गढ़ी में लोगों का मानना है की यहाँ साक्षात् हनुमान जी रहते हैं और रोज़ शाम 4 बजे उनके लिए मंदिर में ही एक विशेष गद्दी लगाई जाती है. जिसपर हनुमान जी आ कर बैठते हैं. हनुमान जी हनुमानगढ़ी मंदिर के राजा माने जाते हैं. कहते हैं की मंदिर में जब हनुमान जी की आरती की जाती है, उस समय वरदान मांगने से सबकी इच्छा पूरी हो जाती है.

Hanuman arrives at 4 pm every evening in Ayodhya Hanumangarhi
हनुमान जी के लिए लगी राजगद्दी

इतिहासकारों का मानना है कि लंका नरेश रावण का वध करके हनुमान जी पुष्पक विमान में श्रीराम, सीता और लक्ष्मण जी के साथ हनुमानगढ़ी आए थे. उसी समय से हनुमान जी यहाँ विराजमान हो गये. या ये कहें की लोगों ने उनको हनुमानगढ़ी का राजा मान लिया. पर हनुमान जी यहाँ हमेशा एक रामभक्त के रूप में ही रहे. और सबकी सेवा करते रहे.

Hanuman arrives at 4 pm every evening in Ayodhya Hanumangarhi
हनुमान गढ़ी
-----

इसके साथ ही भगवान श्री राम जी ने अयोध्या का राज-काज हनुमान जी को ही सौंपा था. और श्री राम जी ने हनुमान जी को एक बड़ा अधिकार भी दे दिया. भगवन राम ने कहा की जो भी अयोध्या में मेरे दर्शन के लिए आएगा वो पहले तुम्हारे ही दर्शन करेगा.

Hanuman arrives at 4 pm every evening in Ayodhya Hanumangarhi
राम दरबार

इसलिए अयोध्या में दूर दूर से रामभक्त दर्शन करने आते हैं, पर श्री राम से पहले लोग हनुमान जी के दर्शन करते हैं. हनुमानगढ़ी एक ऊँचे टीले पर बना हुआ है.

मंदिर के पुजारी रोज़ शाम 4 बजे हनुमान जी के बैठने के लिए सिंहासन लगा देते हैं. ये सिंहासन फूलों से सजाया जाता है. फिर एक छोटी कालीन बिछाने के बाद उसपर सफ़ेद रंग की गद्दियां रखी जाती हैं. यही प्रक्रिया रोज़ होती है साफ सफाई कर उनके लिए गद्दी तैयार कर दी जाती है. कहते हैं की हनुमान जी यहाँ आ कर कुछ देर बैठते हैं.

Hanuman arrives at 4 pm every evening in Ayodhya Hanumangarhi
हनुमान गढ़ी के पीछे का द्वार

आज भी यहाँ छोटी दीपावली को हनुमान जी का जन्मदिन भी बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है. हनुमानगढ़ी को हनुमान जी का घर भी कहा जाता है.

Web Title :  Hanuman arrives at 4 pm every evening in Ayodhya Hanumangarhi

HINDI NEWS से जुड़े अपडेट और व्यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ FACEBOOK और TWITTER हैंडल के अलावा GOOGLE+ पर जुड़ें.