कुछ पार्टियों के नेता मांग रहे हैं ‘एयरस्ट्राइक’ के सुबूत, उधर पाकिस्तान में बज रहीं हैं तालियां-

एक तरफ भारत ने पाकिस्तान पर एयरस्ट्राइक किया तो वहीं दूसरी तरफ भारत में रह रहे कुछ देश-द्रोही इसका सुबूत मांगने में तुले हुए हैं. एयरस्ट्राइक के सुबूत मांगना भारतीय सेना का अपमान और उन पर सवाल खड़े करने के बराबर है. मगर राजनीति के लिए ये नेता क्या न कर दें.

government should provide evidence of air strikes in balakot
government should provide evidence of air strikes in balakot

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने शनिवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की काफी तारीफ की. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भारत सरकार को पाकिस्तान के बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक (हवाई हमले) के सबूत देने चाहिए.

-----

वहीँ गोंडा से समाजवादी पार्टी के नेता ने एक सभा को सम्बोधित करते हुए भारतीय जवानों द्वारा की गई एयरस्ट्राइक को ही फ़र्जी बता दिया. उन्होंने कहा की बीजेपी वाले सबसे बड़े झूठे हैं और ये 10 दिन पहले से ही तैयारी कर रहे थे की पाकिस्तान से बात करके कोई मकान खाली करा कर के उसमें दो-चार बम गिरा कर कह देंगे की मैंने सबको मार दिया है और लोगों के दिलों में भ्रम फैला कर वोट लेकर जीत जायेंगे. ये सब झूठ है. बीजेपी वाले ही आतंकवाद को बढ़ावा देते हैं.

दिग्विजय सिंह के बयान के बाद मध्य प्रदेश में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा, ‘कांग्रेस नेता हवाई हमले के बारे में सबूत मांगकर सशस्त्र बलों का अपमान कर रहे हैं। पाकिस्तान ने अभिनंदन को रिहा करके भारत के ऊपर कोई एहसान नहीं किया है. वह जिनेवा कनवेंशन के तहत ऐसा करने के लिए बाध्य था.

वहीं जैश सरगना मसूद अजहर के छोटे भाई मौलाना अम्मार ने ये कुबूल कर लिया है कि पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने को भारत के हवाई हमले से भारी नुकसान पहुंचा है. इससे साफ हो जाता है कि पाकिस्तान जो दावा कर रहा है वह गलत है.

आज पटना के गांधी मैदान में एनडीए की विशाल रैली हुई. जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने करीब नौ साल बाद किसी चुनावी रैली में एक साथ मंच साझा किया है. पीएम मोदी ने कहा, देश के चौकीदार को गाली देने की होड़ मची हुई है. मोदी को गाली देने के अलावा उनको कोई काम नहीं है. वे सब मिलकर कहते हैं कि मोदी को खत्म करें, मैं कहता हूं आओ मिलकर एक होकर आतंकवाद को खत्म करें.

मोदी ने कहा- कुछ लोग सेना के शौर्य पर सवाल उठा रहे है. विपक्षी दलों के नेता हमारे जवानों के पराक्रम पर संदेह कर रहे हैं. जैसे इन लोगों ने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाये थे, वैसे ही वे अब आतंकी ठिकानों पर हुए हवाई हमलों का सबूत मांगने लगे हैं. इनके सवालों से उधर पाकिस्तान में तालियां बज रही हैं. पाकिस्तानी हम पर खुश हो रहे हैं, मज़ाक बना रहे हैं.