हैदराबाद कांड: पुलिस एनकाउंटर में मारे गए चारो आरोपी, पिता ने कहा- अब बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी

हैदराबाद में पशु चिकित्सक के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपियों का पुलिस ने किया एनकाउंटर. जहां जली थी प्रियंका वहीँ मिला उसे इंसाफ.

four accused killed in police encounter

-----

एनकाउंटर होने के बाद शमशाबाद के डीसीपी प्रकाश रेड्डी ने कहा- आरोपियों को राष्ट्रीय राजमार्ग-44 पर क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट करने के लिए ले जाया गया था. इस दौरान आरोपियों ने हिरासत से भागने की कोशिश की. तभी पुलिस ने उनपर गोलियां चला दीं. और चारों आरोपियों की मौके पर ही मौत हो गई.

चारों आरोपी मोहम्मद आरिफ, नवीन, शिवा और चेन्नाकेशावुलू की मौत सुबह तीन बजे से छह बजे के बीच हुई.

एनकाउंटर की खबर सुनते ही पशु चिकित्सक के पिता ने कहा- बेटी की मौत को दस दिन हुए हैं. मैं इसके लिए पुलिस और सरकार के प्रति आभार व्यक्त करता हूं. अब मेरी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी.

निर्भया की मां ने कहा- हैदराबाद पुलिस ने एनकाउंटर कर नजीर पेश की है. पीड़ित परिवार को अब रोज-रोज आरोपियों का चेहरा नहीं देखना पड़ेगा. सरकार से अपील की है कि पुलिस के खिलाफ कोई कार्रवाई न करें पुलिस ने बहुत अच्छा काम किया है.

एनकाउंटर होने के बाद आस पास के लोगो में दिखी ख़ुशी की लहर. लोगों ने पुलिस के साथ जश्न मनाया है. पुलिसकर्मियों पर फूल भी बरसाए हैं. पीड़िता के पड़ोसियों ने पुलिस कर्मियों को राखी बांधी. लोगों ने डीसीपी जिंदाबाद एसीपी जिंदाबाद के नारे लगाए. घटनास्थल पर भारी पुलिसबल तैनात कर दिया गया है.

हैदराबाद में 27 नवंबर की रात में युवा महिला पशुचिकित्सक (27) के साथ दुष्कर्म किया गया था और फिर उसे जिंदा ही जला दिया था. इसके बाद उसकी अधजली लाश को पुल से नीचे फेंक दिया गया था. जिस तरह निर्भया को मदद का भरोसा देकर बस में बैठा लिया गया था, उसी तरह मदद का झांसा यहां भी देकर इंसानियत को शर्मसार कर दिया गया था.

इस घटना के बाद से ही पूरे देश में आक्रोश था और सभी लोग आरोपियों को फांसी देने की मांग कर रहे थे. आज 6 नवंबर को तड़के सुबह ही पुलिस ने चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया.