106 पुलिसवालों के खिलाफ़ दर्ज हुई FIR, सब पर एक ही आरोप, मचा हड़कंप

Ulta Chasma Uc  :  जनता अपनी समस्याओं को लेकर पुलिस के पास जाती है और एफआईआर कराती है मगर बरेली में इसका उल्टा ही हो गया. जनता की रक्षा करने वाले 106 पुलिस वालों पर ही एफआईआर दर्ज का दी गई. ये एफआईआर जिले के सात थानों में दर्ज की गई हैं. इसके साथ ही इन सभी पुलिसकर्मियों पर आरोप भी लगाए गए हैं.

fir against 106 policeman govt house
fir against 106 policeman govt house

दरअसल ये 106 पुलिसकर्मी सरकारी आवास पर कब्जा किये हुए थे. जबकि इन सबका ट्रांसफर कहीं दूसरी जगह हो चुका है. लेकिन ये अपना पुराना आवास खाली नहीं कर रहे हैं. जिसके बाद एसपी सिटी के आदेश पर इन सभी 106 पुलिस वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गईं हैं. बरेली के सात थानों किला, सुभासनगर, प्रेमनगर, इज़्ज़तनगर, कोतवाली, बारादरी और कैंट थाने में इतनी बड़ी संख्या में एफआईआर दर्ज होने से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है.

कई बार दिया गया नोटिस

एसपी सिटी अभिनन्दन सिंह ने बताया कि इन सभी 106 पुलिस वालों पर सरकारी आवास न खाली करने पर मुकदमा दर्ज हुआ है. आवास खाली करने के लिए सभी को पहले कई बार नोटिस भेज कर चेतावनी दी गई थी. लेकिन इन पुलिस वालों पर जैसे कोई असर ही नहीं पड़ा. उन लोगों ने ना तो नोटिस का जबाब दिया और न ही सरकारी आवास खाली किये. जिसके बाद सख़्त कदम उठाते हुए इन सभी के ख़िलाफ आईपीसी की धारा 447 और 29 पुलिस एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की गई है. संभावना है की ये आकड़ा 106 से और बढ़ सकता है.

fir against 106 policeman govt house
fir against 106 policeman

इन 106 पुलिसवालों की वजह से दूसरे पुलिसवालों को परेशानी हो रही है. क्युकि सरकारी आवासों पर ट्रांसफर के बावजूद इन सभी ने अपना कब्ज़ा कर रखा है. अब ऐसे में इनकी जगह पर जिनकी पोस्टिंग हुई है उनको रहने के लिए आवास नहीं मिल पा रहा है और पुलिस वालों को रहने की समस्या हो रही है. एक तरफ लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी जैसे अफसर हैं जो पुलिस की वर्दी पर लगे दाग मिटाने में लगे हुए हैं. और दूसरी तरफ ये पुलिसवाले हैं जो दाग मिटने नहीं देना चाहते.

web title- fir against 106 policeman govt house

HINDI NEWS से जुड़े अपडेट और व्यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ FACEBOOK और TWITTER हैंडल के अलावा GOOGLE+ पर जुड़ें.