लखनऊ पुलिस के दो दरोगाओं ने की डकैती, लूट लिए 1.85 करोड़ रुपये, मचा हड़कंप, ऐसे बनाया प्लान-

उत्तर प्रदेश की राजधानी में पुलिस एक बार फिर दाग दाग हो गई. इस बार लखनऊ की गोसाईंगंज पुलिस ने खाकी का दामन दागदार कर दिया है. पुलिस ने इतना शर्मनाक काम किया है. जिसको सुन किसी का भी भरोसा पुलिस से उठ सकता है.

filed case of robbery against seven police inspector 3 crore money recovered in lucknow
filed case of robbery against seven police inspector 3 crore money recovered in lucknow

मामला शनिवार सुबह का है जब ओमेक्स अपार्टमेंट में फ्लैट नं 104 में रहने वाले सुल्तानपुर के कोयला कारोबारी अंकित अग्रहरि के फ्लैट पर तीन करोड़ रुपये ब्लैकमनी रखी होने की सूचना मिली. तभी गोसाईगंज थाने के दो दरोगा पवन मिश्रा व आशीष तिवारी अपने मुखबिर मधुकर मिश्रा व अन्य चार लोगों के साथ ओमेक्स सिटी के फ्लैट नंबर 104 में छापा मारने पहुंचे. मगर दोनों दरोगा ने उलटा ही कोयला कारोबारी के एक करोड़ 85 लाख रुपये लूट लिए. और बचे हुए एक करोड़ 53 लाख रुपए वहीँ छोड़कर फ़रार हो गए.

मगर कुछ देर बाद ही ब्लैक मनी की ख़बर इनकम टैक्स अधिकारीयों को पता चली तो इनकम टैक्स की टीम ने भी कोयला कारोबारी अंकित अग्रहरि के फ्लैट पर छापा मारा. इसके साथ ही टीम ने फ्लैट से एक करोड़ 53 लाख रुपए बरामद किए. मगर जब फ्लैट में रहने वाले ट्रेडिंग व्यापारी के रुपए कितने थे ये जानकर इनकम टैक्स अधिकारीयों के होश उड़ गए. उनके मुताबिक, घर में तीन करोड़ 38 लाख रुपए रखे थे.

अब इनकम टैक्स के बाद ये खबर एसएसपी कलानिधि नैथानी को हुई तो उन्होंने तुरंत जांच के आदेश दिए. जिसके बाद क्राइम ब्रांच की टीम को पड़ताल के लिए भेजा गया. जब क्राइम ब्रांच ने दोनों दरोगा के आवास की तलाशी लेनी शुरू की, तो लूटे गए 36 लाख रुपये बरामद हो गए. जांच में मामला सही पाए जाने पर दोनों दरोगाओं समेत सात पर डकैती का केस दर्ज किया गया है. निलंबन के बाद दोनों दारोगाओं को गिरफ्तार कर लिया गया है. अन्य की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है.

कोयला कारोबारी अंकित ने बताया कि वो मूल रूप से सुल्तानपुर धनपतगंज निवासी हैं. शनिवार सुबह वो अपने साथी अश्विनी पांडेय, बल्दीखेड़ा गोसाईगंज निवासी अभिषेक वर्मा, शिवरतनगंज अमेठी के अभिषेक सिंह, रुदौली फैजाबाद के कुलदीप यादव, ग्वालियर निवासी जीतेंद्र सिंह तोमर व सचिन के साथ फ्लैट पर था. तभी करीब सात बजे कुछ लोगों ने उनके फ़्लैट पर दस्तक दी. जैसे ही उसने दरवाजा खोला तो अपार्टमेंट के चौकीदार के साथ सात लोग भीतर घुस आए. इनमें से कुछ पुलिस की वर्दी पहने थे.

कोयला कारोबारी कहा कि उन पुलिसवालों ने हमपर असलहा तान दिया और जान से मारने की धमकी दी. उन्होंने कहा कि तुम्हारे यहां ब्लैकमनी रखी है. और बेड बॉक्स और दीवान के बिस्तर उलट दिए. और उसमें रखे रुपये निकाल कर झोले और बैग में भरने लगे. जब हमने उन्हें रोकने की कोशिश की तो लात-घूंसे और डंडों से हमला बोल दिया. और मारने लगे.