किसानों ने देशभर में ट्रेनें रोकने का किया ऐलान, 700 ट्रैक्टर ट्रालियों में दिल्ली आ रहे हजारों किसान

देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर डटे किसानों का आंदोलन आज 16वें दिन भी जारी है. सरकार से अब तक की हुई बातचीत और मिले प्रस्तावों को संयुक्त किसान मोर्चा ने खारिज कर दिया है.

Farmers Protest Delhi Chalo March against centre farm laws
Farmers Protest Delhi Chalo March against centre farm laws

किसानों ने आंदोलन तेज कर दिया है. वे अब देशभर में ट्रेनें रोकने का ऐलान कर चुके हैं. उधर, पंजाब के अलग-अलग इलाकों से 30 हजार और किसान दिल्ली आ रहे हैं. किसान नेता बूटा सिंह ने कहा कि कानून रद्द करने को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ, इसलिए जल्द ट्रेनें रोकने की तारीख का ऐलान करेंगे.

वहीं भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार और किसान दोनों को पीछे हटना होगा। सरकार कानून वापस ले तो किसान अपने घरों को चले जाएंगे. वहीं भारतीय जनता पार्टी आज से देशभर के सभी जिलों में प्रेसवार्ता और चौपाल का आयोजन कर लोगों को कृषि बिल के बारे में बताएगी. आने वाले दिनों में 700 प्रेस कॉन्फ्रेंस और 700 चौपालों का आयोजन बीजेपी की ओर से किया जाएगा.

यूपी गेट सीमा पर दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे पर धरना दे रहे किसानों ने अचानक दिल्ली की ओर कूच कर दिया. बैरिकेड पर पहुंचकर नारेबाजी की फिर कुछ देर बाद सभी किसान बैरिकेड से वापस धरनास्थल पर पहुंच कर धरना देने बैठ गए. प्रदर्शनकारी अब दिल्ली-आगरा और दिल्ली-जयपुर हाईवे जाम करेंगे.

उधर जंतर-मंतर पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था होने के चलते कोई भी प्रदर्शनकारी संगठन या व्यक्ति धरना स्थल तक नहीं पहुंच पा रहा है. कई संगठन किसानों के पक्ष में प्रदर्शन करने के लिए पहुंचे थे, लेकिन दिल्ली पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स के जवानों ने किसी को भी अंदर नहीं जाने दिया.

किसान आंदोलन के चलते रेलवे ने भी ट्रेनें कैंसिल करने का फैसला लिया है. आज सियालदह-अमृतसर और डिब्रूगढ़-अमृतसर ट्रेनें रद्द की गई हैं. 13 दिसंबर को अमृतसर-सियालदह और अमृतसर-डिब्रूगढ़ ट्रेनें कैंसिल की गई हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *