यूपी में शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी का भाई गरीब कोटे से असिस्टेंट प्रोफेसर बन गया : संपादकीय व्यंग्य

जिस विभाग के बड़े भइया मंत्री हैं..उसी शिक्षा विभाग में सिद्धार्थ विश्वविद्यालय में छोटे भाई अरुण द्विवेदी जी एक दो दिन पहले मनोविज्ञान में असिस्टेंट प्रोफेसर लग गये हैं..मंत्री जी भले अमीर हो गए लेकिन उनके भाई को नौकरी गरीबी वाले कोटे से मिली है..ईश्वर की कृपा है कि मंत्री जी की अमीरी छोटे भाई को छू तक नहीं पाई..वर्ना इसी यूपी में मंत्री के ड्राइवर तक लाखों पीट देते हैं..खैर मंत्री जी के विभाग में ही उनकी पत्नी कल्याणी द्विवेदी जी 26 मार्च 2019 को लखनऊ के कालीचरण पीजी कॉलेज में फिजिकल साइंस की असिस्टेंट प्रोफेसर बनाई गईं..हालांकि तब सतीश जी विधायक थे..डॉक्टर सतीश चंद्र द्विवेदी..ये यूपी की सरकार में बेसिक शिक्षा मंत्री हैं..उत्तर प्रदेश विधानसभा की वेबसाइट कहती है कि मंत्री सतीश द्विवेदी जी भी 2001 से कुशीनगर के बुद्ध पीजी कालेज के एसोसिएट प्रोफेसर और हेड भी रहे..

परिवार में सब प्रोफेसर हैं ये पढ़े लिखे होने का फायदा है..या घर के सदस्य का पौव्वेदार होने का फायदा..ये आप तय कीजिए..लेकिन सवाल इसलिए खड़े होते हैं क्योंकि मंत्री सतीश द्विवेदी की पत्नी जब असिस्टेंट प्रोफेसर बनीं तब साल था 2019 यानी पति देव मंत्री नहीं थे लेकिन सरकार में थे..और जब भाई अरुण गरीबी कोटे वाले मनोविज्ञान से असिस्टेंट प्रोफेसर बने तब भईया थे शिक्षा विभाग के मंत्री..शिक्षा विभाग में नौकरियों का कोई बूम तो आया नहीं था..तो क्या केवल सतीश द्विवेदी के मंत्री बनते ही..छोटे भाई प्रोफेसर बन गए..ये सवाल है जो सब पूछ रहे हैं..मंत्री जी को इसका जवाब देना चाहिए..जो कि आगे दिया है..कहते हैं काजल की कोठरी में छोटा भाई कोयला मुक्त था. चाहे जांच करा लो..

शिक्षा विभाग के मंत्री जी के भाई को भरे कोरोना काल में गरीब कोटे से मतलब EWS कोटे से असिस्टेंट प्रोफेसर बनाया गया है. मंत्री सतीश द्विवेदी जी ने अपनी जो कमाई इलेक्शन कमीशन को बताई है.उसके मुताबिक वो खुद भी गरीब नहीं हैं..बताते हैं मंत्री जी के भाई इससे पहले बनस्थली विद्यापीठ, राजस्थान में मनोविज्ञान विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर थे..तो EWS कोटे से उनका गुरूजी बनना लोगों के गले से नीचे नहीं उतर रहा है. देखिए बड़ा भाई अमीर है तो इसका मतलब ये बिल्कुल नहीं है कि छोटा भाई गरीब नहीं हो सकता. हो सकता है.

-----

लखनऊ के जगरूक किस्म के जबरन रिटायर कर दिए गए पूर्व IAS अमिताभ ठाकुर और नूतन ठाकुर ने..मंत्री जी के भाई अरुण द्विवेदी की नौकरी में लगे EWS सर्टिफिकेट की जांच की मांग की है..राज्यपाल और यूनिवर्सिटी की कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल सहित कई लोगों को शिकायती पत्र भेजा है..उसमें कहा है कि कि अरुण कुमार शिक्षा मंत्री के भाई होने के साथ ही बनस्थली विद्यापीठ, राजस्थान में मनोविज्ञान विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर थे. ऐसे में डॉ अरुण कुमार के EWS सर्टिफिकेट की जांच की जानी चाहिए.

-----

कपिलवस्तु वाले सिद्धार्थ यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ सुरेन्द्र दूबे ने कहा है कि अगर EWS सर्टिफिकेट फर्जी होगा तो उनको सजा मिलेगी..सजा देगा कौन..सरकार या कानून इस सवाल का जवाब घर पर लॉकडाउन में आराम से सोचिएगा..अरुण के बड़े भाई बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा है कि उनके भाई की नौकरी नियम कानून के दायरे में लगी है..उन्होंने नहीं लगवाई है..

एक उदाहरण भी दिया है कहा है कि “इसमें मेरा कोई हस्तक्षेप नहीं है, अगर किसी को आपत्ति हो तो जांच करवा सकता है. अगर आपको लगता है कि मंत्री का भाई EWS कोटे से नौकरी कैसे पा गया तो आप में से कोई भी अगर किसी चैनल का यूपी हेड या नेशनल हेड हो तो उसका पैकेज करोड़ो में होता है..तो क्या उस आय का अधिकारी उनका भाई माना जाता है..

यूपी के पत्रकारों का करोड़ों का पैकेज सुनकर अच्छा लगा..कि कटौती और चैनल बंदी के इस दौर में करोड़ों मिलते हैं क्या..ये सवाल मंत्री के भाई की नौकरी से ज्यादा बड़ा है..मंत्री जी ने अपनी पार्टी की ही तरह बहुत सामाजिक प्रश्न किया है..जिसका उत्तर पूरे उत्तर प्रदेश में किसी के पास नहीं है..लेकिन बेरोजगारी के दौर में सुनकर अच्छा लगता है कि मंत्री जी का पूरा परिवार प्रोफेसर है..भगवान की इतनी मेहरबानी उनके मंत्री बनने के बाद ही क्यों हुई ये भी बताते तो और अच्छा होता…चलते हैं राम राम दुआ सलाम जय हिंद..

QUESTION- सवाल- सिद्धार्थ यूनिवर्सिटी कब बनाई गई When was Siddharth University formed

-----

ANSWER- उत्तर – सिद्धार्थ यूनिवर्सिटी 17 जून 2015 में समाजवादी सरकार में बनाई गई Siddharth University formed in the Samajwadi Government on 17 June 2015

QUESTION- सवाल सिद्धार्थ यूनिवर्सिटी कपिलवस्तु किस जिले है Which district is Siddharth University Kapilvastu

ANSWER- उत्तर – सिद्धार्थनगर जिले में है Siddharthnagar is in the district

QUESTION- सवाल सिद्धार्थनगर भारत के किस राज्य का जिला है Which district is Siddharth University Kapilavastu

ANSWER- उत्तर – सिद्धार्थनगर उत्तर प्रदेश का एक जिला है Siddharthnagar is a district of Uttar Pradesh

डिस्क्लेमर : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति Ulta Chasma Uc.Com उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार Ulta Chasma Uc.Com के नहीं हैं, तथा Ulta Chasma Uc.Com उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

5 thoughts on “यूपी में शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी का भाई गरीब कोटे से असिस्टेंट प्रोफेसर बन गया : संपादकीय व्यंग्य

  • May 23, 2021 at 6:35 pm
    Permalink

    Kaas Koi Aisa aadmi paida hua ho jo in jaise koode kabaad ko court mein Kheech K khada Kar de, Aur wahi se ise jail ki rotiya pisni pade. ..jaise Ashram webseries mein BC dhongi baba K sath kiya gaya….dil ko bahut tasalli milegi, Hmre jaise padhe likhe Lakhon ladke bechare 4-5 saal se naukari K bhatak rhe hain, but dhongi ne ek nuakari tak na Di. ..ek nariyal Jarur fadege Bajarang Bali bhagwan K Mandir mein…Jai Shree ram
    …dhongi ka Farji Ramrajya

    Reply
    • May 24, 2021 at 12:10 am
      Permalink

      लेख पर आपकी बेशकीमती राय के लिए शुक्रिया..बेशकीमती इसलिए क्योंकि अपना ईमेल भरकर नाम भरकर..अगर आपने अपनी राय रखी है तो आप हमारे अमूल्य और सीरियस पाठक हैं. भविष्य में भी हमें आपकी राय आपके विचारों का इंतजार रहेगा..धन्यवाद..

      Reply
  • May 28, 2021 at 1:52 pm
    Permalink

    Ma’am Ham sabhi Students ke hit ke liye koi kadam nahi uthaye jaa rahe hai Sarkar ko to apani hi padi hai ham students ko ye gumrah kar rahe hai ye log na ham logo ko board ka preparation karne de rahe hai na to competition ka preparation karne de rahe hai Ma’am Ab aap hi ham logo ke Bhavishya ke bare me Jara dhyan dijiye Ham log kis aadhar ko lekar preparation kare Agar ham board ko dhyan me rakh kar preparation karte hai to competition Ki preparation nahi kar payenge kyo ki competition me 11th & 12th Dono ko dhyan me rakhkar preparation karna padega is mahasankat me ham students fas gaye hai agar Pahale se hi ham logo ka Fix timetable de diye hote to aaj esa nahi hota.
    Please Ma’am ham Students ka support kijiye 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
    Durgesh Kumar Class 12th

    Reply
    • May 28, 2021 at 2:28 pm
      Permalink

      मैं और उल्टाचश्मा यूसी की टीम हमेशा आपके साथ हैं..कटिंग चाय में मैं कई बार आप लोगों का मुद्दा उठा चुकी हूं आगे भी उठाती रहूंगी..

      Reply
  • June 1, 2021 at 8:25 pm
    Permalink

    Yhi to reason h Ki hmari country education k matter m itni peeche h Ku Ki yaha sirf source chlta h .yaha ek padhe likhe insan ko 100000 rishwat dene padte h government job k lia aur in logo ko itni easily mil jati. tbhi itne kharab halat h Ki baccho k lia online classes bhi thik se chalna mushkil h.modi jii Ki maherbani hai

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *