23 मार्च तक लखनऊ के ये इलाके हुए ‘लॉकडाउन’, आप नहीं कर सकते ये काम, पढ़ें- इसके नियम

लखनऊ के कुछ इलाकों को शुक्रवार शाम से ही ‘लॉकडाउन’ कर दिया गया है. महानगर में बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद जिलाधिकारी ने ‘लॉकडाउन’ का आदेश जारी कर दिया.

dm order lucknow almost lockdown till 23th march
dm order lucknow almost lockdown till 23th march

जारी आदेश में कहा गया कि 23 मार्च तक लखनऊ के खुर्रम नगर, विकास नगर, अलीगंज, महानगर, गुडंबा और इंदिरा नगर में सभी दफ्तर और अन्य प्रतिष्ठान बंद रहेंगे. अगले आदेश तक ये सभी प्रतिष्ठान बंद रहेंगे. वहीं लखनऊ के सभी बार, कैफे/लाउंज, हेयर सैलून और ब्यूटी पार्लर 31 मार्च तक बंद कर दिए गए हैं. लेकिन इस लॉकडाउन के बावजूद आम लोगों को ज्यादा समस्या नहीं होगी क्योंकि अस्पताल, मेडिकल स्टोर, रसोई गैस, दूध और राशन की दुकानें खुली रहेंगी.

बतादें कि महानगर चौराहे से कुकरैल वन्य क्षेत्र गेट तक, कंचना बिहारी मार्ग, कल्याणपुर, शिवानी विहार, अबरार नगर, कमला नेहरू नगर, विकास नगर, टेढ़ी पुलिया से गुलाचीन मंदिर से कपूरथला चौराहे तक, कपूरथला चौराहे से महानगर पीएसी गेट तक, महानगर पीएसी गेट से वायरलेस चौराहे से रहीम नगर चौराहा होते हुए खुर्रम नगर दोनों तरफ का क्षेत्र कुकरैल नाले और टेढ़ी पुलिया/कुर्सी रोड के बीच का समस्त क्षेत्र इस आदेश की सीमा में आएगा.

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी शॉपिंग मॉल को बंद करने के साथ ही लखनऊ, कानपुर और नोएडा को सैनिटाइज करने का आदेश दिया है. सीएम योगी ने कहा कि कोरोना वायरस को रोकने के लिए पूरी सावधानी बरतना आवश्यक है. इसको ध्यान में रखते हुए केंद्र और राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे प्रबंधों के क्रियान्वयन में जन सहयोग की बड़ी भूमिका है. सभी धर्माचार्यों एवं धर्मगुरुओं से अपील है कि कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिए समाज में जागरुकता फैलाएं.

राजधानी में कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़कर 9 हो गई है. यूपी में 23 और पूरे भारत में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 251 हो गई है. पीड़ितों में 32 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं.

लॉकडाउन क्या होता है, ये कब किया जाता है क्या आप जानते हैं ? तो आइये हम आपको बताते हैं. दरअसल लॉकडाउन किसी तरह के खतरे से इंसान और किसी इलाके को बचाने के लिए किया जाता है. लॉकडाउन एक इमर्जेंसी की तरह होती है. किसी क्षेत्र में लॉकडाउन हो जाता है तो उस क्षेत्र के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती है. वे सिर्फ आवश्यक चीजों के लिए ही बाहर निकल सकते है. अगर किसी को दवा या अनाज की जरूरत है तो बाहर जा सकता है या फिर अस्पताल और बैंक के काम के लिए अनुमति मिल सकती है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *