जामिया हिंसा: पुलिस ने दाखिल की चार्जशीट, पीएफआई और शरजील इमाम का नाम भी शामिल

15 दिसंबर को जामिया न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में हुई हिंसा के दो वीडियो सामने आये थे. पहले में पुलिस छात्रों को पीट रही है और दूसरी वीडियो में कई छात्र हाँथ में पत्थर लिए आगे बढ़ रहे हैं. इन वीडियो को लेकर पुलिस और छात्रों में खींचतान जारी है.

delhi police crime branch files charge sheet in jamia violence case
delhi police crime branch files charge sheet in jamia violence case

वहीँ दिल्ली पुलिस ने हिंसा के मामले में साकेत कोर्ट में मंगलवार को चार्जशीट दाखिल कर दी है. चार्जशीट में पुलिस ने हिंसा के इस मामले में 17 लोगों को आरोपी बनाया है. जिसमें से 9 न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी इलाके के हैं और 8 जामिया के हैं. ये सभी के सभी लोकल लोग हैं. हिंसा में PFI की भूमिका का भी जिक्र किया है. चार्जशीट के मुताबिक जहां हिंसा हुई थी वहां से पुलिस को 3.2 एमएम पिस्टल का खाली कारतूस बरामद हुई था.

पुलिस अभी भी इस मामले में सीसीटीवी फुटेज की गहनता से जांच कर रही है. मामले को लेकर अब तक 100 गवाहों के बयान भी दर्ज करवाए जा चुके है. चार्जशीट में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के पूर्व छात्र शरजील इमाम का नाम दंगों को भड़काने के लिए शामिल किया गया है. पुलिस इस मामले में अब और भी लोगों की तस्वीरें जारी करेगी. इस हिंसा में 95 लोग घायल हुए थे. जिनमें से 47 पुलिसकर्मी है. हिंसा में 6 बसें और 3 निजी वाहनों को नुकसान पहुंचाया गया था.

वहीं पुलिस की SIT टीम मंगलवार को जामिया पहुंची थी. करीब एक घंटे तक जामिया में घटनास्थल का मुआयना करने के बाद क्राइम ब्रांच की एसआईटी टीम यूनिवर्सिटी से निकल गई. क्राइम ब्रांच की टीम जामिया की उस लाइब्रेरी में भी गई जहां हिंसा के बाद पुलिस ने घुसकर छात्रों की पिटाई की थी. यूनिवर्सिटी में कहां-कहां सीसीटीवी लगे हैं इसकी भी जानकारी ली. इन सभी चीजों की वीडियोग्राफी भी कराई गई है.

जामिया के किसी भी छात्र का नाम दिल्ली पुलिस की इस चार्जशीट में शामिल नहीं हुआ है. शरजील इमाम को अब 3 मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. दाखिल चार्जशीट में आरोपियों पर धारा 307, 147, 148,149, 186, 353, 332, 427 जैसी कई धाराएं लगाई गई हैं. क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने बताया कि जांच अभी जारी है.

उधर जामिया मिलिया इस्लामिया के पूर्व छात्रों के संगठन ने दिल्ली पुलिस के कर्मचारियों के खिलाफ जामिया नगर पुलिस स्टेशन में हाल में 15 दिसंबर 2019 को हुई हिंसा पर जारी किए गए नए फुटेज के आधार पर शिकायत दर्ज कराई गई है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *