विदेशी जमातियों से क्वारंटाइन केंद्र में ही पूछे जायेंगे ये 40 सवाल, क्राइम ब्रांच ने शुरू की पूछताछ

देश में दिल्ली के तब्लीगी मरकज से निकले कोरोना मरीजों ने पूरे देश की स्थिति गंभीर कर दी है. सभी देशी और विदेशी जमाती क्वारंटाइन हैं. अब क्राइम ब्रांच की टीम ने अपनी कार्यवाही शुरू कर दी है.

delhi crime branch interrogation of foreign jamati in quarantine center
delhi crime branch interrogation of foreign jamati in quarantine center

जमात में शामिल 2400 विदेशी नागरिकों की अब तक दिल्ली पुलिस पहचान कर चुकी है. दिल्ली पुलिस पहले ही साफ कर चुकी है कि मरकज में शामिल सभी विदेशी नागरिकों को आरोपित बनाया जाएगा. इसलिए तब्लीगी मरकज मामले में जिन विदेशी नागरिकों की क्वारंटाइन की अवधि खत्म हो गई है. उनसे क्राइम ब्रांच ने वहीं पर पूछताछ शुरू कर दी है.

जैसे-जैसे क्राइम ब्रांच को विदेशी नागरिकों के बारे में जानकारी मिलती जा रही है, उनके खिलाफ लुक आउट सकरुलर (एलओसी) जारी किया जा रहा है. क्राइम ब्रांच ने 1890 विदेशी नागिरकों के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया है. जमात में शामिल करीब 900 विदेशियों के बारे में पुलिस को अभी जानकारी नहीं मिल सकी है.

ऐसा बताया जा रहा है कि आयोजन के बाद मौलाना मुहम्मद साद और प्रबंधन से जुड़े 6 अन्य मौलानाओं ने उन्हें इस्लाम की शिक्षा देने के लिए भारत के विभिन्न राज्यों में भेज दिया है. देशभर में मस्जिदों व मदरसों में इन लोगों की तलाश की जा रही है, ताकि इन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की जा सके.

विदेशी जमातियों से पूछताछ के लिए क्राइम ब्रांच ने करीब 40 सवालों की सूची तैयार की है, इसमें-

  • वे किस देश के रहने वाले हैं.
  • दिल्ली कब आए थे.
  • किसके कहने पर आए थे.
  • क्या साद ने उन्हें निमंत्रण भेजा था.
  • मरकज में पैसे की मांग की गई थी.
  • उन्होंने खुद चंदा दिया था.
  • कितने पैसे दिए.
  • क्या उसकी रसीद दी गई.
  • दिल्ली में उन्हें कहां ठहराया गया.
  • विश्व में कोरोना फैलने की जानकारी उन्हें थी या नहीं.
  • अगर थी तो वे क्यों मरकज में इतनी बड़ी भीड़ में शामिल हुए. ऐसे ही कुल 40 सवाल शामिल हैं.

उधर तब्लीगी जमात के प्रमुख मौलाना साद पर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. अभी तक मौलाना कहाँ है इसका कोई सुराग नही मिल सका है. मौलाना साद को गिरफ्तार करने के लिए दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम ने पूरी तैयारी कर ली है. सूत्रों के मुताबिक, पुलिस ने साद और एफआईआर में नामजद सभी लोगों के खिलाफ सबूत भी जुटा लिए हैं, अब सिर्फ साद का लोकेशन मिलने की देरी है. क्राइम बांच ने अपनी टीम में डॉक्टरों को भी शामिल किया है जिससे मौलाना मेडिकल जांच की वजहों से कोई बहानेबाजी न कर सके.