अयोध्या भगवान राम की नगरी है, उनकी मर्यादा हमें विजयश्री की ओर बढ़ाती है: CM योगी

राम नगरी अयोध्या में बड़े ही उत्साह के साथ शनिवार को दीपोत्सव मनाया गया. जिसमें सीएम योगी आदित्यनाथ ने रामकथा पार्क में प्रभु श्रीराम और माता सीता का राज्याभिषेक किया और 236 करोड़ की परियोजनाओ का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया.

deepotsav in ayodhya ramnagari CM yogi adityanath lord rama darshan
deepotsav in ayodhya ramnagari CM yogi adityanath lord rama darshan

इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि सभी को दीपावली की शुभकामनाएं देता हूं. राम की परंपरा पर हमें गौरव की अनुभूति होती है. प्रधानमंत्री मोदी ने देश की संस्कृति को पूरी दुनिया में फैलाने का काम किया है. अयोध्या की जब भी बात होती है, तो रामराज्य पहले हमारे दिमाग में आता है. जहां दुख के लिए कोई जगह न हो, ऐसा राज्य ही रामराज्य कहलाता है. मोदीजी ने ऐसा ही रामराज्य स्थापित किया है.

सरकार बिना किसी भेदभाव के विकास कर रामराज्य की परिकल्पना साकार कर रही है. पहले की सरकारें अयोध्या आने से डरती थीं, पर हम भगवान राम की अवधपुरी का पुराना गौरव लौटाने का पुरजोर प्रयास कर रहे हैं. मैं स्वयं अपने ढाई वर्ष के शासन काल में डेढ़ दर्जन बार अयोध्या आया हूं और जब भी आता हूं मोदी जी की अनुकंपा से सैकड़ों करोड़ की योजना लेकर आता हूं. अयोध्या भगवान राम की नगरी है. मर्यादा पुरुषोत्तम की नगरी है. श्रीराम की मर्यादा हमें विजयश्री की ओर बढ़ाती है, इसलिए उनकी मर्यादाओं का हम कभी उल्लंघन नहीं करेंगे.

उन्होंने कहा कि ऐसा राज्य जहां भेदभाव न हो और सबको न्याय मिले. हमारी सरकार में तीन करोड़ आवास, 10 करोड़ इज्जतघर, चार करोड़ बिजली कनेक्शन, आठ करोड़ गैस कनेक्शन, 12 करोड़ किसान निधि सम्मान और 50 करोड़ आयुष्मान लाभार्थी भी इसी तरह बिना जाति-धर्म के भेदभाव के न्याय पा रहे हैं, जिससे पांच साल में रामराज्य की अवधारणा साकार हुई है.

पाकिस्तान पर बोलते हुए सीएम योगी ने कहा कि भारत किसी को छेड़ता नहीं है लेकिन छेडऩे वाले को छोड़ता भी नहीं है और हम ललकारने वाले को उसके घर में घुसकर सबक सिखाते हैं.

अवधपुरी को पुराने भव्य स्वरूप में लाने की दिशा में सरकार आगे बढ़ रही है. सैकड़ों वर्ष की गुलामी के बाद हमने इन परंपराओं और संस्कृति को भुला दिया था. लेकिन केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद पूरी दुनिया भारत के सांस्कृतिक, आर्थिक, सामाजिक और सामरिक गौरव को महसूस कर रही है. जिसका परिणाम अयोध्या का दीपोत्सव, काशी की देव दीपावली, प्रयागराज का कुंभ और योग को अंतर्राष्ट्रीय मान्यता है.

365 total views, 1 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *