बीजेपी को दूसरा झटका दारा सिंह (Dara Singh) ने भी छोड़ा बीजेपी का साथ..

उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए प्रचार के बीच बीजेपी को एक और झटका लगा है..अब स्वामी प्रसाद मौर्या के बाद अब बीजेपी के मंत्री दारा सिंह (Dara Singh) ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है..दारा सिंह मऊ जिले की मधुबन विधानसभा सीट से विधायक हैं..अपने इस्तीफे को लेकर उन्होंने राज्यपाल को चिट्ठी में योगी सरकार पर दलितों, पिछड़ों और युवाओं की अनदेखी का आरोप लगाया है..

मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद दारा सिंह चौहान (Dara Singh) ने अखिलेश यादव से मुलाकात की..और इस पर अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए कहा कि-‘सामाजिक न्याय’ के संघर्ष के अनवरत सेनानी श्री दारा सिंह चौहान जी का सपा में ससम्मान हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन!

सपा व उसके सहयोगी दल एकजुट होकर समता-समानता के आंदोलन को चरम पर ले जाएँगे… भेदभाव मिटाएँगे! ये हमारा समेकित संकल्प है!

सबको सम्मान ~ सबको स्थान!

दारा सिंह चौहान (Dara Singh) ने राज्यपाल को जो चिट्ठी भेजी उसमें लिखा कहा कि माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के मंत्रीमंडल में वन पर्यावरण और जन्तु उद्यान मंत्री के रुप में मैंने पूरे मनोयोग से अपने विभाग की बेहतरी के लिए काम किया..किन्तु सरकार की पिछड़ों, वंचितों, दलितों, किसानों और बेरोजगार नौजवानों की घोर उपेक्षात्मक रवैये के साथ-साथ पिछड़ों और दलितों के आरक्षण के साथ जो खिलवाड़ हो रहा है..उससे परेशान होकर मैं उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल से इस्तीफा देता हूं..

दारा सिंह चौहान (Dara Singh) के इस्तीफे के बाद यूपी के उपमुख्यमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता केशव प्रसाद मौर्या ने उनके फैसले पर दोबारा सोचने के लिए कहा है..उन्होंने अपने ट्वीट करते हुए कहा कि-परिवार का कोई सदस्य भटक जाये तो दुख होता है जाने वाले आदरणीय महानुभावों को मैं बस यही आग्रह करूँगा कि डूबती हुई नांव पर सवार होनें से नुकसान उनका ही होगा
बड़े भाई श्री दारा सिंह जी आप अपने फैसले पर पुनर्विचार करिये..

दारा सिंह (Dara Singh) बीजेपी से पहले बीएसपी और समाजवादी पार्टी में रह चुके हैं..दारा सिंह सबसे पहले बहुजन समाज पार्टी से एमएलसी रहे..फिर राज्यसभा गए..और उसके बाद उन्होंने बीएसपी छोड़ दी औऱ समाजवादी पार्टी ज्वाइन कर ली..और घोसी सीट से सांसद बन गए..औऱ 2014 में लोकसभा चुनाव हारने के बाद वो 2017 में बीजेपी पार्टी में शामिल हुए और मऊ जिले की मधुबन सीट से विधायक बन मंत्री बने..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *