कुख्यात डकैत बबुली कोल और साथी लवलेश पुलिस मुठभेड़ में मारे गए, दोनों पर था 8 लाख का इनामी

बुंदेलखंड में लंबे समय तक पुलिस के साथ जनता को परेशान करने वाले कुख्यात डकैत बबुली कोल के साथ उसके साथी लवलेश कोल को मध्य प्रदेश पुलिस ने रविवार रात एक मुठभेड़ में मार गिराया है.

dacoit babuli kol and lovlesh kol killed in encounter
dacoit babuli kol and lovlesh kol killed in encounter

बबुली पर साढ़े छह लाख और उसके साथी लवलेश पर 1.80 लाख रुपए का इनाम था. दोनों ही डकैत उत्तर प्रदेश के साथ मध्य प्रदेश पुलिस के लिए बड़ा सिरदर्द बने हुए थे. पुलिस को लंबे समय से इनकी तलाश थी; रीवा रेंज के आईजी चंचल शेखर ने बबुली और लवलेश के मारे जाने की पुष्टि की है. मध्य प्रदेश पुलिस इनको मुठभेड़ में मारने का दावा कर रही है जबकि सूत्रों का कहना है कि दोनों गैंगवार में मारे गए हैं.

फिरौती की रकम बंटवारे को लेकर उसके गैंग के ही साथी के उन पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर मार डालने की बात सामने आ रही है. सूत्रों का कहना है कि हाल ही में डकैत बबुली कोल गैंग ने मध्य प्रदेश के हरसेड गांव से अवधेश नाम के किसान का अपहरण किया था. डकैतों ने 50 लाख की फिरौती की रकम मांगी थी. लेकिन, बाद में छह लाख रुपए मिलने के बाद किसान को मुक्त कर दिया था. फिर मिले रुपए के बंटवारे को लेकर बबुली कोल गिरोह में फूट पड़ गई थी. और गैंग में नए शामिल हुए लाली कोल ने इन दोनों को मौत के घाट उतारा था.

हालांकि पुलिस ने इससे इंकार किया है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि रविवार रात एसपी रियाज इकबाल उप्र सीमा से सटे हुए धारकुंडी इलाके में वीरपुर जंगल में कॉबिंग पर थे. तभी पुलिस की डकैत बबुली कोल गैंग से मुठभेड़ हो गई. इस दौरान गोली लगने से बबुली और लवलेश मारे गए. आईजी, डीआईजी और एसपी पिछले कई दिनों से सतना में कैंप किए हुए थे.

जंगल मे सर्चिंग के दौरान कुछ जगह खून के धब्बे मिलने पर पुलिस का हौसला बढ़ा. इसके बाद पुलिस टीमों ने करीब दस घंटे की मशक्कत के बाद दोनों के शव खोज निकाले. एसपी चित्रकूट मनोज कुमार झा ने सोमवार सुबह दोनों डकैतों को मारे जाने की पुष्टि करीब 11:15 बजे कर दी है. वहीं सतना एसपी रियाज इकबाल ने बताया कि गैंग का खात्मा कर दिया गया है. अब कोई सदस्य नहीं बचा है.

442 total views, 2 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *