LIVE: कुछ ही देर में गुजरात तट को छू कर गुजरेगा चक्रवात ‘वायु’, 3 लाख लोगों को निकाला बाहर

चक्रवाती तूफान ‘वायु’ को लेकर गुजरात पर दो दिन से संकट छाया हुआ था. मगर आज थोड़ा राहत की ख़बर मिल रही है. अब अरब सागर में उठा वायु चक्रवात गुजरात तट से नहीं टकराएगा. ये खबर सुनकर सभी ने राहत की साँस ली है.

cyclonic storm vayu will hit gujarat
cyclonic storm vayu will hit gujarat

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि चक्रवात ‘वायु’ ने अपना रास्ता बदल लिया है. अब इसके गुजरात तट से टकराने की संभावना नहीं है. लेकिन इस राज्य के तटीय क्षेत्रों के लिए तूफान अभी भी एक खतरा बना हुआ है. अधिकारी ने आगे बताया कि तेज हवाओं, धूल भरी आंधी और बारिश का खतरा अभी भी वैसा ही बना हुआ है. तूफान का मध्य भाग गुजरात तट से थोड़ा दूर हो गया है, लेकिन इसका व्यास 900 किलोमीटर से ज्यादा का है.

-----

मौसम विभाग ने बताया है कि फिलहाल चक्रवात ‘वायु’ वेरावल से 130 किमी दक्षिण-पश्चिम और पोरबंदर से 180 किमी दक्षिण में है. चक्रवात वेरावल, पोरबंदर, द्वारका और सौराष्ट्र तट के पास से गुजरेगा. इस दौरान हवाओं की रफ्तार 135-160 किमी/घंटा तक हो सकती है. दीव, गिर, सोमनाथ, जूनागढ़, पोरबंदर और द्वारका में भारी बारिश हो सकती है. इसके चलते इन इलाकों से 500 से ज्यादा गांव खाली करा लिए गए है. बुधवार रात तक तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

गुजरात सरकार ने हालात से निपटने के लिए युद्ध स्तर पर तैयारियां की हैं. इस दौरान एनडीआरएफ की 52 टीमों को तैनात किया गया है, साथ ही सेना के तीनों अंगों और कोस्ट गार्ड को भी अलर्ट पर रखा गया है. चक्रवात वायु के खतरे को देखते हुए प्रशासन ने खाने के पैकेट भी तैयार किए हुए हैं, जिसे जरुरतमंदों को दिया जाएगा. गुजरात सरकार के मंत्री भूपेंद्र सिंह चूड़ासामा ने कहा है कि ये कुदरत की आफत है, हम इसे नहीं रोक सकते, कुदरत ही इसे रोक सकती है.

चक्रवाती तूफान वायु के दौरान लोगों की मदद के लिए प्रशासन ने कई हेल्पलाइन नंबर जारी किए है.

NDRF के कंट्रोल रूम का हेल्पलाइन नंबर- 91-9711077372
कच्छ कंट्रोल रूम का नंबर- 02832-250080
राजकोट कंट्रोल रूम का नंबर- 0281-2471573
जामनगर कंट्रोल रूम का नंबर- 0288-2553404
पोरबंदर कंट्रोल रूम का नंबर- 0286-2220800
दाहोद कंट्रोल रूम का नंबर- 02673-239277 है.