अब बिना वारंट होगी अपराधियों की गिरफ्तारी, स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स का हुआ गठन, मिली ये पॉवर-

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में संगठित अपराध और अपराधी पर शिकंजा कसने के लिए अब उत्तर प्रदेश स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स का गठन किया गया है. ये ऐसी फ़ोर्स होगी जिससे कोई अपराधी बच नहीं सकता है.

criminals arrest without warrant in uttar pradesh
criminals arrest without warrant in uttar pradesh

योगी सरकार ने एक ऐसे पुलिस फोर्स का गठन किया है. जो अभूतपूर्व ताकतों से लैस होगी और इनके खिलाफ कार्रवाई करने से पहले अदालत को भी सरकार की मंजूरी लेनी पड़ेगी. सरकार ने एसएसएफ (विशेष सुरक्षा बल) का गठन की अधिसूचना जारी कर दी है. इसकी सबसे बड़ी ख़ासियत ये है कि एसएसएफ को बिना वारंट गिरफ्तारी का अधिकार होगा. घर की तलाशी की पावर सहित अनेक असीमित अधिकार रहेगा.

योगी आदित्यनाथ कैबिनेट में बीती 26 जून को बाई सर्कुलेशन से पास हुए इस फोर्स के गठन की अधिसूचना गृह विभाग की ओर से जारी कर दी गई है. मुख्यमंत्री ने 26 जून को इस फोर्स के गठन की घोषणा की थी. इस फोर्स का नेतृत्व एडीजी स्तर का अधिकारी करेगा. ये फोर्स महत्वपूर्ण सरकारी इमारतों, दफ्तरों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों की सुरक्षा एसएसएफ करेगी. पेमेंट देकर निजी क्षेत्र भी एसएसएफ की सेवाएं ले सकेंगे.

लखनऊ में जल्द ही एसएसएफ का मुख्यालय बनाया जाएगा. फोर्स को बिना किसी दबाव के काम करने के लिए अनेक असीमित अधिकार प्रदान किए गए हैं. प्रदेश की ये फोर्स अभूतपूर्व ताकतों से लैस होगी. प्रदेश में शुरुआत में यूपीएसएसएफ की पांच बटालियन गठित होंगी और इसके एडीजी अलग होंगे. यूपीएसएसएफ अलग अधिनियम के तहत काम करेगी.

देखा जाए तो योगी सरकार इधर महीने भर से अपराधियों पर शिकंजा कसने में लगी हुई है. एक के बाद एक बाहुबलियों पर कार्यवाही की जा रही है. मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद के अवैध ठिकानों पर छापेमारी और ध्वस्त किया जा रहा है. ऐसा माना जा रहा है कि ये टास्क फ़ोर्स भी इसी काम में लगाई जा सकती है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *