ताहिर हुसैन के घर पहुंची SIT टीम, छत पर मिले थे पेट्रोल बम, तेजाब और पत्थर, शाहरुख अब भी फरार

चार दिन हिंसा के बाद गुरुवार को उत्तर-पूर्वी दिल्ली में आम जीवन पटरी पर लौटता दिखाई दिया. लोग जरूरत के सामान लेने के लिए घर के बाहर निकले. आप देख सकते हैं कि गलियों, घरों में मुख्य सड़कों पर सबकुछ बिखरा नजर आ रहा है.

crime branch sit team probe tahir hussain place delhi violence
crime branch sit team probe tahir hussain place delhi violence

इस हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 38 हो चुकी है. गृह मंत्रालय ने गुरुवार रात कहा कि 514 संदिग्धों को या तो गिरफ्तार किया गया है या पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. जांच के साथ-साथ और भी गिरफ्तारियां की जा सकती हैं. हालात में सुधार देखते हुए सीआरपीसी की धारा 144 के तहत लागू निषेधाज्ञा में शुक्रवार को कुल दस घंटे की ढील दी जाएगी.

वहीं दिल्ली पुलिस का कहना है कि दंगे के दौरान पुलिसकर्मी पर पिस्टल तानने वाला शाहरुख अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. उसकी तलाश अब भी जारी है. हिंसा में आप पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है. ताहिर हुसैन की फैक्ट्री भी सील कर दी गई है. इसी के साथ ताहिर को आम आदमी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी निलंबित कर दिया गया है.

ताहिर हुसैन की बिल्डिंग से पेट्रोल बम, पत्थर, गुलेल और एसिड मिला था. ताहिर हुसैन पर करावल नगर में हिंसा भड़काने के आरोप लगे हैं. इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के कॉन्स्टेबल अंकित शर्मा के भाई-पिता के अलावा भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने ताहिर पर ही अंकित की हत्या के आरोप लगाए हैं. पुलिस ने अब तक 48 एफआईआर दर्ज की है जबकि 514 लोगों को संदेह के आधार पर हिरासत में लिया है। सभी से पूछताछ की जा रही है

ताहिर हुसैन के घर शुक्रवार सुबह क्राइम ब्रांच की एसआईटी टीम जांच के लिए पहुंची है. सुरक्षा के लिहाज से बिल्डिंग के आसपास के क्षेत्र को पुलिस ने सील कर दिया है. किसी भी व्यक्ति को बिल्डिंग के पास जाने की अनुमति नहीं है. साक्ष्य जुटाने के लिए एफएसएल की टीम भी पहुंच चुकी है.

उपद्रवियों ने ताहिर के मकान की छत से ही पूरे इलाके में हमला किया था. जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है. शुरुआत में ताहिर ने सारे आरोपों को इंकार करता रहा, लेकिन जब बवाल का वीडियो सामने आया तो ताहिर ने मान लिया कि वीडियो उनकी ही छत का है. ताहिर ने बताया था कुछ लोगों ने जबरन छत पर कब्जा कर वारदात को अंजाम दिया है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मृतकों के आश्रितों को दस-दस लाख रुपये और घायलों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का एलान किया है. नाबालिग मृतक के परिजनों को 5 लाख का मुआवजा, टूटे रिक्शों के लिए 25,000 रुपये, कागजी कार्रवाई में वक्त लग रहा है तो जरूरतमंद लोगों को तत्काल 25,000 रुपये की मदद, पूरी तरह से घर जला तो 5 लाख का मुआवजा, दुकान आदि जलने पर 5 लाख का मुआवजा (जिनका बीमा नहीं).

केजरीवाल ने कहा कि दंगे में जो भी व्यक्ति दोषी पाया जाता है उसे कड़ी सजा मिलनी चाहिए. अगर दंगे में आम आदमी पार्टी का कोई व्यक्ति दोषी पाया जाता है तो उसे दोगुनी सजा दीजिये. ये राष्ट्रीय सुरक्षा का मसला है. इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए.

गुरुवार रात अमित शाह की बैठक के बाद हिंसा की जांच के लिए दो एसआइटी गठित कर दी गई हैं, जिनका नेतृत्व दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच करेगी. जांच दल की दोनों टीमों में चार एसीपी सतर के अधिकारी रहेंगे. उनके साथ तीन-तीन इंस्पेक्टर, चार-चार सब इंस्पेक्टर और तीन-तीन हेड कांस्टेबल व कांस्टेबल को रखा गया है. दोनों टीमों में एसीपी सहित कुल 44 अधिकारी फिलहाल हिंसा मामले की जांच करंगे. पूरे जांच दल का नेतृत्व एडिशनल सीपी क्राइम बीके सिंह करेंगे.

दिल्ली के हिंसाग्रस्त जाफराबाद, मौजपुर, चांद बाग, गोकलपुरी और भजनपुरा समेत आसपास के इलाकों में गुरुवार को माहौल शांत है. पुलिस और अर्धसैनिक बलों के जवान गलियों में फ्लैग मार्च कर रहे हैं. ज्यादातर इलाकों में दुकानें बंद हैं और सड़कें सुनसान हैं. ऐसे माहौल में लोग घरों में ही रहना पसंद कर रहे हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *