कोवीशील्ड को मिल सकता है इमरजेंसी अप्रूवल, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- तैयारी करें राज्य

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) दिसंबर के अंत तक अपनी वैक्सीन कोवीशील्ड के अंतिम फेज के क्लिनिकल ट्रायल्स के डेटा को रेगुलेटर को सौंप देगी. अगर डेटा संतोषजनक रहा तो इसको जनवरी के पहले हफ्ते में इमरजेंसी अप्रूवल मिल सकता है.

covid vaccine Serum Oxford Pfizer Bharat Biotech distribution policy
covid vaccine Serum Oxford Pfizer Bharat Biotech distribution policy

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की ओर से स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने बताया कि भारत उन देशों में है जहां प्रति 10 लाख की आबादी कोरोना के मामलों की संख्या सबसे कम है. भारत में प्रति 10 लाख की आबादी पर कोरोना के मामलों की संख्या 7178 है, वहीं इसका वैश्विक औसत 9000 है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि टीकाकरण के बाद प्रतिकूल प्रभाव की घटनाएं सामने आ सकती हैं, जिसके लिए राज्यों को तैयारी करनी चाहिए.

भारत में बस कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की मंजूरी मिलने का इंतजार है. सरकार लोगों के टीकाकरण के लिए बड़े पैमाने पर तैयारी कर रही है, जो कि आखिरी चरण में है. केंद्र सरकार ने हाल ही में राज्यों को 113 पन्नों की एडवाइजरी जारी की है, जिसमें इस बात का भी जिक्र है कि टीका लगाते समय प्राथमिकता क्या होगी. इसी आधार पर राज्यों को कोविड वैक्सीन के डोज भी दिए जाएंगे.

टीकाकरण के पहले चरण में स्वास्थ्य कार्यकर्ता, दूसरे चरण में अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता तथा तीसरे चरण में 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगाया जाएगा. जिन राज्यों में 50 से अधिक उम्र के डाइबीटीज और हाई ब्लड प्रेशर वाले मरीज हैं, उन्हें कोरोना वैक्सीन के अधिक डोज मिल सकते हैं. देश में कोविड-19 के 15.55 करोड़ से अधिक नमूनों की अब तक जांच की गई है. देश में संक्रमण दर गिरकर 6.37 फीसदी हो गई है. भारत में कोविड-19 के कारण मृत्यु दर 1.45 फीसदी है, जो दुनिया में सबसे कम है.

कोवीशील्ड वैक्सीन को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और ब्रिटिश फर्म एस्ट्राजेनेका ने मिलकर डेवलप किया है. बतादें कि पिछले हफ्ते ही ड्रग रेगुलेटर सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (CDSCO) की सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (SEC) की मीटिंग हुई थी. इसमें कोवीशील्ड के साथ ही भारत बायोटेक की कोवैक्सिन और फाइजर की वैक्सीन के डेटा पर चर्चा हुई थी. इन तीनों वैक्सीन के लिए इमरजेंसी अप्रूवल मांगा गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *