CM योगी का एक्शन प्लान, 15 अप्रैल से UP को पटरी पर लाने उतरेंगी मंत्रियों की टीम-11, देखें-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कई सरकारी विभागों को धीरे धीरे काम काज शुरू करने की बात कही है. जिसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्शन में आ गए हैं और रविवार देर शाम तक बैठक कर कई फैसले किये हैं.

cm yogi made ministers team-11 action plan
cm yogi made ministers team-11 action plan

पीएम मोदी के दिए मंत्र ‘जान है तो जहान है’ को साथ लेकर योगी सरकार 15 अप्रैल से उत्तर प्रदेश को पटरी पर उतारने में जुटेगी. इसके लिए मंत्री और अफसर शारीरिक दूरी के मानकों का पालन करते हुए कामकाज संभालेंगे. वरिष्ठ मंत्रियों की ग्यारह कमेटियां बनाई गई हैं जो ये कार्ययोजना बनाएंगी कि लॉकडाउन में चरमराई आर्थिक, शैक्षिक, चिकित्सीय और सामाजिक व्यवस्था को कैसे आगे बढ़ाया जाए.

-----

विशेष सचिव और उससे ऊपर के अधिकारी भी अनिवार्य रूप से कार्यालय आएंगे. प्रदेश में विभिन्न विभागों के कामकाज को सामान्य बनाने के लिए दोनों उपमुख्यमंत्रियों समेत 11 मंत्रियों की अध्यक्षता में कमेटियां गठित की गई हैं. मंत्री 15 अप्रैल से अपने दफ्तरों से सरकारी कामकाज शुरू कर देंगे लेकिन लोगों से मिलने-जुलने पर फिलहाल प्रतिबंध रहेगा. जनता दर्शन भी स्थगित रहेगा.

इसी के साथ ऑनलाइन व्यापारिक गतिविधियां भी शुरू की जाएगी. भूमि और संपत्तियों की रजिस्ट्रियों को भी ऑनलाइन शुरू किया जाएगा. रेस्तरां को भी काम शुरू करने की अनुमति देने का फैसला किया गया है लेकिन ये सिर्फ होम डिलीवरी का ऑर्डर ही ले सकेंगे.

ये हैं मंत्रियों की टीम-11
  • टीम-1 : उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की अध्यक्षता में निर्माण कमेटी काम करेगी. ये कमिटी एक्सप्रेसवे, हाईवे और लोक निर्माण विभाग के बड़े कार्य कैसे कराए जा सकते हैं इसपर योजना बनाएगी.
  • टीम-2 : उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा की अध्यक्षता में शिक्षा कमेटी काम करेगी. ये कमेटी शिक्षा और ऑनलाइन पाठ्यक्रम की गतिविधि को आगे बढ़ाने की कार्ययोजना बनाएगी.
  • टीम-3 : वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना की अध्यक्षता में राजस्व की आपूर्ति कैसे निरंतर बनी रहे इसे सुनिश्चित करने के लिए कमेटी बनाई गई है. औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना और एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह इसमें सदस्य होंगे.
  • टीम-4 : कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही की अध्यक्षता में किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए कमेटी बनाई गई है.
  • टीम-5 : चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह की अध्यक्षता में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और मेडिकल स्टाफ को इससे बचाते हुए इमरजेंसी मेडिकल सेवाओं को आगे बढ़ाने के लिए कमेटी बनाई गई है.
  • टीम-6 : श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की अध्यक्षता में गठित कमेटी श्रमिकों के हितों के संबंध में संस्तुतियां करेगी.
  • टीम-7 : समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री की अध्यक्षता में छात्रवृत्ति और पेंशन योजनाओं को आगे बढ़ाने के लिए कमेटी बनाई गई है.
  • टीम-8 : ग्राम्य विकास मंत्री मोती सिंह के नेतृत्व वाली समिति ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता और सेनिटाइजेशन का काम देखेगी.
  • टीम-9 : नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन की अध्यक्षता में बनी कमेटी शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता और सेनिटाइजेशन का जिम्मा संभालेगी.
  • टीम-10 : जलशक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह की अध्यक्षता में बढ़ती गर्मी को देखते हुए प्रदेश में पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कमेटी बनाई है.
  • टीम-11 : दिव्यांगजन सशक्तीकरण मंत्री अनिल राजभर की अध्यक्षता में दिव्यांगजनों के हितों की रक्षा और उनकी मदद के लिए काम करेगी.